सड़क के गलत तरफ ना चलें नॉएडा-वासी, वरना पुलिस के इस यन्त्र से फट जाएगा टायर

नॉएडा (नवीन ओखला औद्योगिक विकास प्राधिकरण) की पुलिस सड़क के गलत तरफ गाड़ी चलाने के खिलाफ अपनी मुहीम तेज़ करने जा रही है. कुख्यात ‘टायर किलर्स’ जिन्हें पुणे में पहले इस्तेमाल करने के बाद हटा लिया गया था, अब नॉएडा में पायलट प्रोजेक्ट के तहत 5 जगहों पर लगाये जायेंगे. पुलिस ने ये भी बताया है की नॉएडा में पहला टायर किलर नए साल के पहले लग जाएगा.

Tyre Killer 1

क्या होते हैं टायर किलर?

टायर किलर धातु की नुकीली पट्टियां होती हैं जिन्हें रोड पर लगाया जा सकता है. एक दिशा में मुड़ी हुई ये नुकीली पट्टियां गलत दिशा से आ रही गाड़ियों के टायर्स में घुसकर उन्हें पंक्चर करने के लिए लगाई जाती हैं.

ऐसे टायर किलर्स के ज़रिये पुलिस सड़क पर गलत तरफ ड्राइव करने वालों सबक सिखाने एवं उन्हें रोकने की कोशिश करती है. विदेश में कानून-व्यवस्था के विभाग अक्सर ऐसे टायर किलर्स की मदद से भाग रहे बदमाशों को रोकने की कोशिश करते हैं.

Tyre Killer India 2

पुलिस अधिकारियों ने बताया है की नॉएडा में 5 जगह जहां लोग सबसे ज़्यादा गलत तरफ चलते हैं उन्हें चिन्हित कर लिया गया है. इन सभी 5 जगहों पर टायर किलर्स लगाए जायेंगे. ये 5 जगहें हैं: सेक्टर 76-74 चौराहा, सेक्टर 77 नॉर्थ आई जंक्शन, Hoshiarpur U-टर्न, सेक्टर 61वाला साईं मंदिर U-टर्न, और Sector 75 मेट्रो स्टेशन के पास.

नॉएडा के जनरल मैनेजर Rajeev Tyagi ने HindustanTimes से ये कहा,

इस यन्त्र के बारे में सूचना देने वाले बोर्ड 28 दिसंबर को लग जायेंगे और इस काम को तीन दिनों में एक ही बार में पूरा कर लिया जाएगा. सड़क के गलत तरफ चलना शहर में बड़ी दिक्कत बन गया है और ऐसे नियम तोड़ने वालों को अक्सर दंडित किया जाता है. लेकिन, ये दिक्कत काफी ज़्यादा बढ़ गयी है और इन नियम तोड़ने वालों से निवासियों और प्राधिकरण दोनों को दिक्कत होती है.

ट्रैफिक पुलिस अधीक्षक Anil Kumar Jha ने कहा,

ये अजीब है की NCR के बाकी शहरों के विपरीत, नॉएडा के लोग आदतन सड़क के गलत तरफ चलते हैं. कुछ मामलों में, भले ही दाहिना मॉड कुछ 500 मीटर से कम दूर हो, लोग सड़क के गलत तरफ चलने लगते है, खासकर दो पहिया वाहन. चूंकि जुर्माने से कोई ख़ास बदलाव नहीं हुआ है, हमें आशा है की टायर किलर्स मदद करेंगे.

नॉएडा प्रयोग के नतीजे

अगर नॉएडा में टायर किलर्स गलत तरफ चलने वालों को रोक पाते हैं, तो इसे देशभर में आज़मा कर देखा जा सकता है. भारत में सड़क के गलत तरफ चलना एक बेहद बड़ी समस्या है और ट्रैफिक जुर्माने उतने कारगार साबित होते नज़र नहीं आ रहे हैं. सड़क के गलत तरफ चलने के लिए टायर किलर्स चरम कदम साबित होंगे. अब जब सरकारी एजेंसियों ने इसका इस्तेमाल शुरू कर दिया है, ये बाकी जगह भी ज़रूर नज़ आने लगेंगे.

टायर किलर्स को लेकर चिंता

पुणे में, पुलिस ऑफिसर्स ने एक आम सड़क से एक बड़े मॉल को टायर किलर्स हटाने का आदेश दिया था, और कारण ये दिया था की मॉल के लोगों को सड़क पर ऐसे यन्त्र लगाने की अनुमति नहीं है और ये ख़तरनाक भी है.

ऐसे टायर किलर्स से टायर फट जाते हैं, एवं इनसे एक्सीडेंट भी होते हैं, और यही कारण है की इन्हें आम सड़क पर ज़्यादा समय के लिए लगाकर नहीं छोड़ा जाता. ऐसे मामलों में जहां किसी फरार इंसान को पकड़ना होता है वहाँ भी ये यन्त्र काम होने के बाद हटा लिए जाते हैं.