देखिये कैसे ये फेमस व्लॉगर एक Suzuki Hayabusa को Ladakh तक लेकर गए

Suzuki Hayabusa इंडिया की सबसे प्रसिद्ध स्पोर्ट्स बाइक्स में से एक है. Hayabusa एक स्पोर्ट्स टूरर है जिसे लम्बी दूरी तक के क्रूजिंग के लिए डिजाईन किया गया है. ये मार्केट में मौजूद सबसे आरामदायक स्पोर्ट्स बाइक भी है. YouTube व्लॉगर Jaspreet Singh अपनी Suzuki Hayabusa GSX-R1300 को Ladakh क्षेत्र में ले गए थे. पेश है ये मनमोहक विडियो.

Hayabusa से Ladakh तक

जहां Hayabusa को लम्बी दूरी के क्रूजिंग के लिए डिजाईन किया गया है, ये उबड़-खाबड़ रास्तों के लिए नहीं बनी है. Hayabusa बेहद भारी है और इस क्षेत्र के पहाड़ी दर्रों में अगर इसपर ज़रा सा भी संतुलन बिगड़ा तो ये बेहद खतरनाक हो सकता है. ऐसी ताकतवर मशीन को संभालना बेहद चुनौतीपूर्ण होता है और खासकर तब जब आपको बेहद उबड़-खाबड़ रास्तों, पानी के क्रॉसिंग, या काले बर्फ से गुज़रना हो.

ये विडियो Hayabusa के मैदानों से लेकर Ladakh के पहाड़ी इलाकों तक के सफ़र को दिखाता है. ये विडियो दिखाता है की बाइक ने कैसे इतने सारे पानी के क्रॉसिंग को पार कर पायी. यहाँ पर एक छोटी सी भी गलती बड़ी चूक साबित हो सकती है. लेकिन इस ट्रिप के दौरान ऐसी कोई भी घटना नहीं हुई.

ये विडियो ये भी दिखाता है की Hayabusa, Ladakh के कई क्षेत्रों में गयी जिसमें Nubra Valley, Pangong Tso lake और एक समय पर सबसे ऊंचा मोटरेबल रोड Khardung La Pass शामिल है. इन सभी जगहों की रोड बिल्कुल भी चिकनी नहीं है और कहीं-कहीं तो रोड के नाम पर बस बजरी है. Khardung La चढ़ना भी दिक्कत भरा हो सकता है क्योंकि दर्रे के पास की बर्फ रोड को फिसलन भरा बनाती है.

Hayabusa में एक 1,340-सीसी, इनलाइन 4 सिलिंडर इंजन है जो अधिकतम 197 बीएचपी और 155 एनएम उत्पन्न करता है. इस बाइक में पॉवर मोड सेलेक्टर भी है जो पॉवर को ज़रुरत और हालात के हिसाब से एडजस्ट करता है. फिर भी सबसे लो पॉवर वाले मोड में भी बाइक 100 बीएचपी उत्पन्न करती है जो काफी ज़्यादा पॉवर है. साथ ही 250 किलो का भारी वज़न के साथ राइडर धीमी स्पीड पर आसानी से संतुलन खो सकता है. Ladakh में ऐसे कई तीखे मोड़ है जहां ऐसी भारी बाइक्स के साथ ख़ास ध्यान देने की ज़रुरत पड़ती है.

ऐसी कुछ पावरफुल कार्स हुई हैं जिन्होंने Ladakh क्षेत्र में यात्रा की है. RedBull Formula 1 टीम कुछ साल पहले अपनी गाड़ी को Khardung La तक लेकर गयी थी. लेकिन वो अपने पूरे सपोर्ट क्रू को साथ लेकर चल रहे थे और गाड़ी को अक्सर ट्रक पर लाद दिया जाता था. इस Hayabusa को ऐसी कोई मदद नहीं मिली थी.

सोर्स