देखिये कैसे पुलिस ने फ़िल्मी तरीके से किया Bolero में अपराधियों का पीछा

भारत में पुलिस का अपराधियों का पीछे करते हुए विडियो फुटेज काफी दुर्लभ है. लेकिन पेश है राजस्थान के झुंझुनू का एक विडियो जिसमें पुलिस नामी अपराधियों का पीछा कर उन्हें पकड़ लेती है. इस विडियो को पास के एक घर के छत से एक मोबाइल के ज़रिये VIDBABA ने फिल्माया है.

Bolero ने पीछा किया Bolero का

https://youtu.be/_OpTc6CzB-g

रोचक रूप से विडियो में दोनों गाड़ियां Mahindra Bolero हैं. पुलिस अफसर एक आम Bolero पर हैं वहीँ अपराधी Bolero का पिक-अप ट्रक वर्शन इस्तेमाल कर रहे हैं साथ ही दोनों ही Bolero सफ़ेद रंग की हैं.

इस वारदात के डिटेल्स तो नहीं पता लेकिन विडियो देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है की पुलिस अफसरों ने पहले से मिली सूचना के आधारर पर अपराधियों के लिए जाल बिछाया है. उन्होंने Bolero Pick-Up में सवार अपराधियों को रोकने के लिए बैरिकेड लगाए हैं. चूंकि पुलिस इन अपराधियों का पीछा तेज़ रफ़्तार पर कर रही थी अपराधी भी बैरिकेड पर धीमे नहीं होते हैं. वो एक बैरिकेड को तेज़ी से टक्कर मारते हैं और बैरिकेड किसी नाजुक वस्तु की तरह टूट जाता है. हलांकि पुलिस ने प्लास्टिक बैरिकेड का इस्तेमाल किया था, वो भी काफी मज़बूत होते हैं.

Bolero Cop Chase

जैसा की हमने पहले बत्याया की लगता है पुलिस को पहले से इस बात की जानकारी थी इसलिए उन्होंने आगे चलकर रास्ता भी बंद कर रखा था. जब Bolero Pick-up को मजबूर होकर उस तरफ जाना पड़ा जहां पुलिस पहले से छिपी हुई थी, दोनों तरफ से गोलियां चलने लगीं. बेहद खतरनाक एवं जानलेवा झड़प के बाद पुलिस ने आखिरकार Bolero pick-up को रोक ही लिया और उसमें बैठे अपराधियों को धर दबोचा.

Mahindra Bolero काफी लम्बे समय तक मार्केट में सबसे ज्यादा बिकने वाली UV थी लेकिन Maruti Suzuki Vitara Brezza के आने के साथ Bolero पहले स्थान से पदस्थ हो गयी लेकिन अभी भी काफी ज्यादा संख्या में बिकती है. Bolero छोटे शहरों एवं कस्बों में लोगों की पहली पसंद है चूंकि ये ना केवल बेहतरीन वैल्यू फॉर मनी गाड़ी है बल्कि ये बेहद रफ और टफ गाड़ी भी है जिससे इसे बेधड़क किसी भी तरह के रास्ते पर लेकर निकला जा सकता है.

Bolero को रिपेयर करना बेहद आसान है और इसके आम सा DI इंजन सड़क किनारे कोई भी मैकेनिक आसानी से रिपेयर कर सकता है. Mahindra फिलहाल Bolero को अपडेट करने पर काम कर रही है जो BNVSAP सुरक्षा नियमों का पालन करेगी. अगले साल Mahindra अपने Bolero में BS-VI इंजन देने लगेगी जिससे Bolero का उत्सर्जन बेहद कम हो जाएगा.