देखिये कैसे Mahindra Thar ऑफ-रोडिंग में महंगी Ford Endeavour से बेहतर प्रदर्शन करती है

तगड़े ऑफ-रोडिंग शौकीनों के लिए गाड़ी का चुनाव करना सबसे कठिन बात होती है. कुछ गाड़ियां ऑफ-रोडिंग के लिए ढेर सारे फीचर्स के साथ आती हैं लेकिन हो सकता है उनमें बेहतरीन ऑफ-रोडिंग के लिए ज्यादा मॉडिफिकेशन नहीं किये जा सकें. जहां अधिकाँश ऑफ-रोडिंग परस्त गाड़ियां ठीक-ठाक ऑफ-रोडिंग के लिए सही होती हैं, कठिन ऑफ-रोडिंग में उनकी असली परीक्षा होती है. पेश है एक पुराने जनरेशन वाली Ford Endeavour, पुराने जनरेशन वाली Toyota Fortuner, Tata Safari Storme और Mahindra Thar का एक विडियो जिसमें एक खड़े चढ़ान पर चढ़ते हैं. Versatile KH AN के इस विडियो में सभी गाड़ियां ऊपर चढ़ कर नीचे आने की कोशिश करती हैं.

सबसे पहले Ford Endeavour नीचे उतरने का प्रयास करती है. लेकिन लम्बे व्हीलबेस के चलते गाड़ी का निचला हिस्सा ज़मीन पर सट जाता है और गाड़ी हिल नहीं पाती है. फिर Toyota Fortuner इस गाड़ी को आगे से खींच कर नीचे उतारती है. जब Endeavour के चारों चक्के जमीन पर आ जाते हैं वो अपने आप नीचे उतर जाती है. यही पुराने जनरेशन वाली Endeavour फिर ऊपर चढ़ने की कोशिश करती है और इसके रियर व्हील कवर निकल आता है. कई प्रयासों के बाद, Endeavour लम्बे व्हीलबेस के चलते ऊपर नहीं चढ़ पाती है.

फिर Tata Safari Storme ऊपर चढ़ने का प्रयास करती है और ऊपर पहुँच भी जाती है लेकिन इस दौरान उसका पिछला बम्पर निकल आता है. गाड़ियों के स्टॉक बम्पर अक्सर डिपार्चर एंगल कम करते हैं और मुश्किल ऑफ-रोडिंग में निकल आते हैं. ऑफ-रोड स्पेक बम्पर्स को इस तरह से डिजाईन किया जाता है की वो गाड़ी का डिपार्चर एंगल बढाकर उसे ज्यादा काबिल बनाते हैं.

Safari के बाद, Toyota Fortuner यही चुनौती लेती है लेकिन उसमें मौजूद ऑफ-रोड स्पेक बम्पर्स के चलते वो आसानी से बाधा पार कर जाती है. साथ ही पुरानी Fortuner का व्हीलबेस 2,750 एमएम था जो पुराने Endeavour के 2,860 एमएम से कम था. लम्बे व्हीलबेस के चलते गाड़ी का ब्रेकओवर एंगल कम हो जाता है जिससे वो ऑफ-रोडिंग में ज्यादा काबिल बन जाती है.

अंत में Mahindra Thar यही चुनौती लेती है. भले ही Mahindra Thar को मॉडिफाई करना बेहद आसान है, ये गाड़ी लगभग स्टॉक नज़र आ रही है. Thar आसानी से ऊपर चढ़ कर नीचे भी उतर जाती है. इस गाड़ी का छोटा व्हीलबेस एवं इसके बम्पर के चलते इसे इस चुनौती से पार पाने में कोई दिक्कत नहीं आती है.