देखिये Hero Passion, Honda Dream जैसी बाइक्स आसानी से बालू पर चल रही हैं, पर Royal Enfield, Bajaj Dominar को क्यों आ रही दिक्कत

हमने ऐसे कई विडियो देखें हैं जहां अरब देशों में बड़ी SUVs बालू के टीलों में ऑफ-रोडिंग करती हैं. भारत में राजस्थान का थार रेगिस्तान भी ऑफ-रोडिंग प्रेमियों की पसंदीदा जगह बनता जा रहा है. कई शौक़ीन यहाँ अपनी कार्स और SUVs ले जाते हैं लेकिन भारत में बाइक्स ज्यादा चलती हैं और इसीलिए कई 2-व्हीलर शौक़ीन भी अब बालू में ऑफ-रोडिंग का मज़ा ले रहे हैं. पेश है Xtreme Moto Adventure के Deepak Gupta का एक ऐसा ही विडियो.

इस विडियो में हम राजस्थान के Sam Dunes में आयोजित एक कार्यक्रम को देख सकते हैं जहां बाइकर्स बालू के टीलों पर खूब मस्ती कर रहे हैं. इस विडियो में कई तरह ही बाइक्स को देखा जा सटक है. विडियो में सारी मोटरसाइकिल्स के बीच हम Honda CB Shine, Honda Hornet 160, Hero CBZ Xtreme, Hero Passion एवं इसके जैसी ही कम्यूटर बाइक्स को देख सकते हैं. विडियो में Honda CBR 250R जैसी परफॉरमेंस बाइक्स भी हैं. बाद में, विडियो में हम Royal Enfield Classic 500, Royal Enfield Himalayan और Bajaj Dominar 400 जैसी बाइक्स भी देख सकते हैं.

इन सब बाइक्स में से कम पॉवर वाली कम्यूटर बाइक्स सबसे ज्यादा मस्ती करती हुई नज़र आ रही हैं. हम देख सकते हैं हैं की ये छोटी बाइक्स बिना ज्यादा दिक्कत के बालू के टीलों पर चढ़-उतर रही हैं. इन सारी छोटी बाइक्स को एक बार भी फंसते हुए नहीं देख जाता वहीँ Royal Enfield Himalayan, Royal Enfield Classic 500 और Bajaj Dominar 400 समेत कई परफॉरमेंस बाइक्स फंसती हुई नज़र आती हैं. यहाँ तक की हम एक-दो बार Honda CBR 250 को भी गिरते हुए देख सकते हैं.

यहाँ क्या हो रहा है?

बालू के टीलों पर चलने के लिए ख़ास अनुभव की ज़रुरत होती है. बलुआही सतहों पर चलना ज्यादा मुश्किल होता है क्योंकि बाइक्स को यहाँ ग्रिप नहीं मिलती. जैसा की विडियो के शुरुआत में ही बताया गया है, ज्यादा ग्रिप के लिए बाइक्स के टायर प्रेशर को कम कर दिया गया है. लेकिन अचानक ब्रेक लेना या तेज़ी से दिशा बदलने से भी बाइक्स संतुलन से बाहर होकर गिर सकती हैं.

कम्यूटर बाइक्स के ज़्यादा मस्ती करने के पीछे एक मुख्य कारण है की इनका वज़न कम है. हल्के वज़न के चलते ये बाइक्स बालू में इतनी आसानी से फंसती नहीं. दूसरा कारण है इनका वेग. भारी बाइक्स का वेग ज्यादा होता है जिससे दिशा बदलना ज्यादा मुश्किल हो जाता है. वहीँ कम्यूटर बाइक्स कम वेग के चलते आसानी से दिशा बदल लेती हैं. साथ ही लोकल बाइकर्स को ऐसे हालत में चलने की आदत है वहीँ नए राइडर्स को दिक्कत आ रही है.

लेकिन, अगर सही से किया गया तो बालू पर चलना काफी मजेदार हो सकता है. हालांकि कुछ लोग अपनी बाइक्स से गिर भी जाते हैं, वो बिना चोट के झटपट उठकर वापस राइडिंग करने लगते हैं. लेकिन, 2-व्हीलर चलाते हुए हेल्मेट ज़रूर पहनना चाहिए. ये एक बेहद ज़रूरी सुरक्षा कदम है और हर किसी को इसका पालन करना चाहिए.