UP Police दे रही स्पीड लिमिट तोड़ने का ‘Certificate,’ जानिये कैसे पा सकते हैं आप एक!

ट्रैफिक नियम तोड़ने वालों को सोशल मीडिया पर शर्मसार करने में सिर्फ Mumbai पुलिस ही आगे नहीं है. हाल ही में हमने UP पुलिस का एक ट्वीट देखा जिसमें उन्होंने Yamuna Expressway पर ओवर-स्पीडिंग के लिए सबसे पहले E-challan पाने वाले का मज़ाक उड़ाया.

जैसा की आप ट्वीट में देख सकते हैं, चालान की राशि Hyundai Verna के ड्राईवर से Jewar टोल प्लाजा से ली गयी. Jewar टोल प्लाजा Yamuna Expressway के Greater Noida-Agra वाले हिस्से पर है. चालान के कॉपी के अनुसार नियम तोड़ने वाले ने 120 किमी/घंटे की स्पीड लिमिट तोड़ी और उसे लगभग 134 किमी/घंटे पर जाते हुए पकड़ा गया. चलान की राशि बस 400 रूपए है लेकिन नियम तोड़ने के और भी घटनाओं के साथ ये और भी बढ़ती जायेगी.

जहां फाइन टोल प्लाजा पर पहले ही ले लिया गया था चालान की एक फोटो ट्वीट की गयी है और उसके साथ एक मेसेज है “मुबारक हो! आप Yamuna Expressway पर 120 किमी/घंटे की स्पीड लिमिट का उल्लंघन करने के लिए हमारे E-Chalaan के पहले बदकिस्मत प्राप्तकर्ता हैं. आपका रिकॉर्ड हमारे डाटाबेस में है और इसे ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट को भी भेज दिया जाएगा. आगे उल्लंघन करने पर और भी ज्यादा जुर्माना लगाया जाएगा और लाइसेंस भी रद्द किया जा सकता है.”

पिछले महीने, Yamuna Expressway Industrial Development Authority (YEIDA) ने एक्सप्रेसवे के संचालक को निर्देश दिया था की ट्रैफिक नियम तोड़ने वाले चालान सिस्टम और टोल जमा सिस्टम को एकीकृत किया जाए. उसके बाद से टोल प्लाजा ने चालान काटने का सिस्टम अपना लिया है और अत्यधिक स्पीड के लिए चालान काटना शुरू कर दिया है. कहा जाता है की Yamuna Expressway पर रोजाना ऐसे 4,500 उल्लंघन होते हैं और इनमें से अधिकांश चलाना ओवरस्पीडिंग के लिए होते हैं.

Yamuna Expressway का ये हिस्सा 6-लेन वाला (कुछ जगहों पर इसे 8 लेन भी बनाया गया है) 205 किमी लम्बा, सीमित पहुँच वाला एक्सप्रेसवे है जो Uttar Pradesh में Greater Noida को Agra से जोड़ता है. ये रोड इस देश की सबसे लम्बी 6-लेन सीमित पहुँच वाली एक्सप्रेसवेज़ में से एक है. इसे बनाने में लगभग 128.39 अरब रूपए का खर्च आया था.