नॉएडा में लग गए ‘टायर किलर्स’, देखिये कैसे काम करते हैं ये यंत्र!

सड़क के गलत तरफ चलना भारत की सड़कों पर एक बड़ी दिक्कत है. इससे लम्बे ट्रैफिक जाम लगते हैं. पिछले साल पुणे में टायर किलर्स लगाए गए थे और बाद में उन्हें हटा लिया गया था, और अब नॉएडा वो दूसरा शहर बन गया है जहां टायर किलर्स लगाए गए हैं. पेश है नॉएडा में लगे पहले टायर किलर का विडियो.

इस पहले टायर किलर को नॉएडा पुलिस ने एक पायलट प्रोजेक्ट के तहत लगाया है. इसे शहर में सेक्टर 76 में लगाया गया है और पहले टायर किलर के टेस्ट के खत्म होने के बाद ऐसे ही यंत्रों को पूरे शहर में लगाया जाएगा. रिपोर्ट के मुताबिक़, अगर ये प्रयोग सफल हुआ, उत्तर प्रदेश के दूसरे शहरों में भी ऐसे टायर किलर्स को लगाया जाएगा.

टायर किलर्स को गलत तरफ ड्राइविंग को रोकने के लिए लगाया जाता है. उनमें एक स्प्रिंग पर निकीली कील लगी होती है और अगर गाड़ी सही तरफ से आती है तो स्प्रिंग दब जाता है. लेकिन अगर गाड़ी गलत तरफ से आती है तो ये नुकीली कील नीचे नहीं जाती और गाड़ी का टायर बर्बाद हो जाता है. धीमे रफ़्तार पर इससे टायर तुरंत फट जाता है लेकिन अगर गाड़ी तेज़ रफ़्तार से आ रही हो तो इससे एक बड़ा हादसा भी हो सकता है.

नॉएडा पुलिस ने एक ख़ास मुहीम के तहत पूरे शहर में हेवी ड्यूटी टायर किलर्स लगा रही है. उन्होंने इसकी सूचना देने के लिए बड़े-बड़े साइन भी लगाए हैं ताकि गलत तरफ से आ रहे लोग इससे अवगत हो जाएँ. लेकिन एक बार अगर गलत तरफ से आ रही गाड़ी टायर किलर पर चढ़ जाए तो टायर बदलना पड़ेगा, क्योंकि इनके नुकीले कीलों का साइज़ काफी बड़ा है.

इसके पहले पुलिस ने 5 जगहों को चिन्हित किया था जहां नॉएडा में गलत तरफ ड्राइविंग की दिक्कत सबसे बड़ी है. जल्द ही इन पाँचों जगहों पर टायर किलर्स को लगा दिया जाएगा. सेक्टर 76 में इसे लगाने के बाद ऐसे ही टायर किलर्स को सेक्टर 77 North Eye जंक्शन, Hoshiarpur U-टर्न, सेक्टर 61 में साईं मंदिर U-टर्न के पास, और सेक्टर 75 मेट्रो स्टेशन के पास लगाया जाएगा.

Tyre Killer

अगर नॉएडा में टायर किलर्स सफल हुए तो बाकी राज्यों की पुलिस भी ऐसे कदम उठा सकती है. लोगों के बार-बार नियम तोड़ने के बाद सरकार ने ये कदम उठाने का फैसला किया है. लेकिन, पुणे के पुलिस ने टायर किलर्स को खतरनाक करार दिया था और उन्हें बाद में सड़क पर से हटा दिया गया था.

पुणे में एक प्राइवेट आवासीय काम्प्लेक्स बिना सरकार के अनुमति के टायर किलर्स को लगाया था लेकिन नॉएडा में पुलिस ने खुद इसे लगाया है. कई देशों में पुलिस ऐसे टायर किलर्स को गाड़ियों को ज़बरदस्ती रोकने के लिए अस्थायी रूप से इस्तेमाल करती है लेकिन नॉएडा में अगर ये मुहीम सफल हुई तो ये टायर किलर्स स्थाई रूप से लगा दिए जायेंगे.