टायर फटने से हुआ भयंकर हादसा, ऐसे बचें टायर बर्स्ट से…

एक बेहद दुर्भाग्यपूर्ण एवं भयावह घटना में Nizamabad (Dichpally) जिले के एक परिवार के 4 लोगों ने अपनी जान तब गँवा दी जब उनकी Ecosport एक ट्रक से जा टकराई. मृत लोगों में एक आदमी, उसकी बीवी और दो बच्चे शामिल हैं.

Team BHP पर अंतरिम रिपोर्ट एवं The Hindu के न्यूज़ रिपोर्ट जिसमें चश्मदीदों के बयान हैं, के मुताबिक़ उनकी नयी Ford EcoSport Titanium का टायर फट गया जिससे ड्राईवर का संतुलन बिगड़ गया और उसके बाद वो सामने से आ रही ट्रक में जा टकराए. लेकिन इसकी पुष्टि अभी तक नहीं हो पायी है. एक Ford Figo ग्रुप के Facebook पोस्ट के मुताबिक़ एक अज्ञात व्यक्ति ने दावा किया की टायर तब फटा जब ड्राईवर का एक ध्यान उसके बिज़नेस के बारे में बुरी खबर वाले एक फ़ोन  कॉल से भटक गया था. ये संभव है की टायर तब फटा हो जब EcoSport असंतुलित होकर टकरा गयी हो.

कहा जा रहा है की 4 लोगों का ये परिवार Hyderabad से एक शादी से लौट रहा था. जहां टकराने के कुछ देर पहले EcoSport की स्पीड क्या थी इसका पता नहीं लगाया जा सकता, इस बात पर ज़रूर गौर करना चाहिए की एक्सीडेंट Nizamabad के पास वहाँ हुआ जहाँ लोग कम ट्रैफिक रहने की वजह से आमतौर पर तेज़ रफ़्तार पर चलते हैं. हाईवे की रफ़्तार पर टायर फटना जानलेवा साबित होता है. यहाँ मौजूद फोटोज़ से हम ये जान पा रहे हैं की EcoSport को ट्रक ने T-bone रूप से टक्कर मारी है. EcoSport ट्रक से साइड से टकराई होगी और उसके अन्दर चली गयी होगी. इतने भयानक एक्सीडेंट में कार के एयरबैग और क्रम्पल जोन पैसेंजर्स के लिए कुछ ख़ास नहीं कर पाते.

टायर बर्स्ट के खतरे

टायर का फटना रोड एक्सीडेंट का सबसे बड़ा कारण होता है. वो एक्सप्रेसवे पर तेज़ रफ़्तार से चलने के सबसे बड़े रिस्क में से भी एक है. गर्मी के मौसम में ऐसी घटनाएँ बढ़ जाती हैं. उच्च तापमान और तेज़ रफ़्तार पर घर्षण के चलते टायर के बढ़ते तापमान से टायर प्रेशर बढ़ने लगता है. अन्दर की गर्म हवा बढ़ने लगती है और फिर टायर के अन्दर से निकलने के क्रम में टायर फट जाता है.

पेश हैं टायर बर्स्ट से बचने के कुछ टिप्स —

1. थोड़े देर पर टायर्स को आराम दें

गर्म दिनों में टायर को ठंडा करने का सबसे अच्छा उपाय होता है उन्हें थोड़ी देर आराम देना. जैसे जी कार रूकती है टायर्स के अन्दर की हवा ठंडी होने लगती है. इसलिए बार-बार रुकने ने टायर के अन्दर की हवा कभी भी ज्यादा गर्म नहीं होती.

2. 100 किमी/घंटे से ज़्यादा के रफ़्तार पर ना चलें

याद रखें, जितनी तेज़ आपकी कार चलेगी रोड और टायर्स के बीच घर्षण उतना ही बढेगा. तेज़ घर्षण से टायर के अन्दर का तापमान भी बढ़ने लगेगा. इसलिए गर्मियों में ज्यादा तेज़ रफ़्तार पर चलने से बचना चाहिए. टायर्स को ठंडा रखने के लिए कार की स्पीड को 100 किमी/घंटे से नीचे रखें.

3. टायर प्रेशर बरकरार रखें और ठन्डे टायर्स में हवा ध्यान से भरें

इस बात को सुनिश्चित करें की टायर्स में हवा अच्छे से भरी हुई है. टायर फटने से बचने के लिए सही एयर प्रेशर बनाए रखना बेहद ज़रूरी है. ड्राइविंग शुरू करने के तुरंत बाद ही टायर प्रेशर चेक करवाएं.

4. अच्छे से मैन्तियन किये हुए टायर्स को ही इस्तेमाल करें

पुराने टायर्स की साइडवाल कमज़ोर हो जाती है जिससे वो आसानी से फट सकते हैं. इसलिए आपको पुराने टायर्स इस्तेमाल करने से बचना चाहिए. टायर पर बचे ट्रैड को नज़रन्दाज़ करते हुए उन्हें हर 6 साल पर हमेशा बदलें.

5. ओवरलोडिंग नहीं करें

याद रखें, आपके कार में रोड से हमेशा संपर्क में रहने वाला इकलौता पार्ट टायर ही है. ओवरलोडिंग से उनपर सीधा भार पड़ता है और इससे टायर के फटने के चांस बढ़ जाते हैं. इसलिए अपनी कार को कभी ओवरलोड नहीं करें.

वाया — Team-BHP