अधूरे फ्लाईओवर से 30 फ़ीट नीचे गिरी Toyota Innova! 3 की मौत

एक खौफनाक फिल्म के सीन की तरह एक Toyota Innova अधूरे फ्लाईओवर से 30 फ़ीट नीचे गिर गयी. Innova के ड्राईवर ने सीधा अधूरे फ्लाईओवर पर गाड़ी चढ़ा दी जो जाकर नीचे गिरी एक बारिश के पानी से भरे गड्ढे में. Innova में सवार 3 लोगों की इस हादसे में मौत हो गयी.

क्या! कैसे?

श्रीपेरुमबुदुर के कोलाथुर से 4 लोगों के एक परिवार ने मिन्जुर में एक रिश्तेदार की सगाई में जाने के लिए Toyota Innova हायर की थी. 9:30 बजे के करीब ड्राईवर ने – जिसे बिलकुल भी अंदाज़ा नहीं था की फ्लाईओवर पूरा बना नहीं है – गाड़ी फ्लाईओवर पर चढ़ा दी और ये हादसा हो गया.

MPV फ्लाईओवर से 30 फ़ीट नीचे गिरी एक बारिश के पानी से भरे गड्ढे में. श्री. पलानी (65), उनकी पत्नी श्रीमती नवनीथम (55), और उनकी बेटी पवित्रा (26) की इस हादसे में मौत हो गयी. Innova का ड्राईवर, कन्दावेल, आश्चर्यजनक रूप से बच गया और श्री अय्यप्पन, जो की श्री पलानी के दामाद हैं, की भी जान बच गयी.

कहा जा रहा है की Innova के पीछे एक और गाड़ी में आ रहे रिश्तेदारों ने MPV को फ्लाईओवर से नीचे गिरते देख गाड़ी रोक ली. हो सकता है की हादसा अँधेरे की वजह से हुआ हो क्योंकि ड्राईवर को आगे मौजूद खतरे का बिलकुल भी अंदाज़ा नहीं रहा होगा. पुलिस के सूत्रों ने बताया,

ड्राईवर को नहीं पता था की फ्लाईओवर अधूरा था और स्थानीय लोगों ने बताया की कोई भी बैरिकेड्स नहीं लगे हुए थे.

पुलिस सूत्रों के बयान से स्पष्ट है की इस हादसे से बचना संभव था. अधूरे फ्लाईओवर में बैरिकेड का न होना आपराधिक लापरवाही है और इसके लिए ज़िम्मेदार लोगों के खिलाफ क़ानूनी कार्रवाई होनी ही चाहिए.

प्रशासनिक उदासीनता से भारत में सैंकड़ों मौतें होती हैं लेकिन ये हादसा फिर भी इतना चौंकाने वाला होने की वजह से अलग दिखता है. ऐसे हालात में बेसिक सेफ्टी प्रिकॉशन जैसे की सीट बेल्ट पहनने और स्पीड लिमिट के अन्दर ड्राइव करने का भी कोई फायदा नहीं है क्योंकि बिना रौशनी वाले फ्लाईओवर पर बिलकुल घुप्प अँधेरा होता है और ड्राईवर के लिए ऐसी खाई देख पाना बहुत मुश्किल है.