Jeep Compass Trailhawk की खासियतें दिखाता है ये ऑफ-रोडिंग विडियो

Jeep Compass Trailhawk जल्द ही इंडिया में लॉन्च होने वाली है. Trailhawk इंडिया के मार्केट में उपलब्ध Compass के आम वैरिएंट से ज़्यादा काबिल होगी. अमेरिकन ब्रांड Jeep ने इस अपकमिंग SUV की काबिलियत को Utah के Moab में प्रदर्शित किया और पेश है एक विडियो जो दिखाता है की ये SUV क्या कर सकती है.

Jeep Compass Trailhawk

https://youtu.be/buTnqLWBukM

Trailhawk रेटिंग वाली Jeep SUVs काफी काबिल होती हैं और वो कुछ अचंभित करने वाले कार्य भी कर सकती हैं. इस विडियो में Compass Trailhawk के चीफ इंजिनियर Audrey Moore और प्रिसिशन ड्राईवर Nena Barlow हमें इसके बारे में बताते हैं.

आखिर क्या Compass TrailHawk को आम Jeep Compass SUV के मुकाबले ज़्यादा काबिल बनाता है?

Jeep Compass Trailhawk में कई सारे मोड्स होते हैं जो ऑफ-रोडिंग को काफी आसान बनाते हैं. Trailhawk में Auto, Snow, Sand, Mud और Rock मोड होते हैं. आम वर्शन में Rock मोड नहीं होता.

इस विडियो में ड्राईवर गाड़ी को सैंड मोड में डाल बालू के टीलों के टक्कर लेते हुए देखा जा सकता है. सैंड मोड में डालने से गाड़ी परमानेंट 4X4 मोड में आ जाती है और ट्रांसमिशन रेव को ज्यादा आरपीएम तक होल्ड करता है ताकि इंजन ज़्यादा पॉवर और टॉर्क उत्पन्न करे और गाड़ी बालू जैसे सतह पर भी चल सके.

Compass Trailhawk में लो-रेश्यो ट्रान्सफर केस भी है और इसे अलग मोड में डालने से फाइनल ड्राइव रेश्यो 4.334 पर पहुँच जाता है. ये टॉर्क आउटपुट को 4.334 गुना बढ़ा देता है जो इसे और काबिल बनाता है.

Compass Trailhawk में ग्राउंड क्लीयरेंस 20 एमएम बढ़ कर 225 एमएम हो जाता है. रीडिजाईन किये गए बम्पर्स के साथ ऊंचे ग्राउंड क्लीयरेंस का मतलब है की ये SUV बिना किसी अंडरबॉडी दिक्कत के उबड़-खाबड़ रास्तों पर चल सकेगी. रीडिजाईन बम्पर से एप्रोच एंगल भी बेहतर हो जाता है और ब्रेक-ओवर एंगल 24.4 डिग्री का हो जाता है. रीडिजाईन किया हुआ बम्पर गाड़ी के एंगल को बढ़ाकर 33.6 डिग्री तक ले जाता है.

Jeep अपने Trailhawk रेटिंग वाली गाड़ियों में अलग टायर्स भी देती है. ये ड्यूल पर्पस टायर्स बर्फ और बालू जैसे ढीले सतहों पर अच्छा ग्रिप देते हैं जो इसे ऑफ-रोडिंग के लिए और बेहतर बनाता है. विडियो में Compass Trailhawk को रॉक क्लाइम्बिंग करते हुए भी दिखाया जाता है जो इस गाड़ी की परफॉरमेंस को दर्शाता है. Trailhawk का सिस्टम सतह को लगातार सेंस करता है ताकि हर चक्के को पर्याप्त टॉर्क और पॉवर उपलब्ध कराया जा सके.

इसमें हिल-डिसेंट फीचर भी है. इससे गाड़ी के आगे के ब्रेक्स लग जाते हैं और ड्राईवर को बस स्टीयरिंग पर ध्यान देना होता है. कार में अंडरबॉडी स्किड प्लेट भी हैं जो इसे ऑफ-रोडिंग के दौरान आये खरोचों के बचाते हैं.

इंडिया में Compass Trailhawk सिर्फ डीजल इंजन के साथ आएगी. ये वही 2.0-लीटर Multijet डीजल इंजन होगा जो अधिकतम 173 बीएचपी और 350 एनएम का आउटपुट देगा. इस कार में 9-स्पीड ड्यूल-क्लच ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन है जो सिर्फ एक ही वैरिएंट में मिलेगा. अगले दो महीनों में लॉन्च होने वाली इस गाड़ी की एक्स शोरूम कीमत 32 लाख रूपए के आसपास होनी चाहिए.

सोर्स