This Rusting Mercury Coupe is Actually a Tesla From Inside बाहर से जर्जर जंग लगी इस Mercury Coupe के अंदर है Tesla का दिल!

बाहर से जर्जर जंग लगी इस Mercury Coupe के अंदर है Tesla का दिल!

यह कौन सोच सकता था कि रेस्टो-मॉडिफिकेशन कंपनी Icon 4X4 – जो पुरानी खटारा Toyota Land Cruisers 4X4 को मॉडिफाई करने के लिए मशहूर है — एक जंग लगी जर्जर Mercury Coupe को इलेक्ट्रिक कार में बदलने का काम अपने हाथ में लेगी. लेकिन Jonathan Ward द्वारा संचालित Icon 4X4 ने यह कारनामा कर दिखाया है. और जो नतीजा सामने आया है उसे केवल एक ही शब्द में ब्यान किया जा सकता है और वो है “इलेक्ट्रिक”.

Mercury Tesla 1

जिस गाड़ी को आप यहाँ देख रहे हैं वो एक 1949 Mercury Coupe है जिसके V8 इंजन की जगह दो इलेक्ट्रिक इंजन और एक Tesla का भारी-भरकम लिथियम-आयन बैटरी पैक लगाया गया है. और अब आपको इस बात का अंदाज़ा लग गया होगा की हम क्यों इस जंग लगी जर्जर Mercury Coupe को एक Tesla बुला रहे हैं. और अधिकांश Tesla कार्स की तरह ये भी ऑल-व्हील ड्राइव कार है.

Icon 4X4 और Stealth EV — जो इलेक्ट्रिक वाहनों के विशेषग्य है — ने मिल कर इस कारनामे को अंजाम दिया है. जहाँ एक ओर Icon 4X4  ने कार के बॉडी वर्क, इंटीरियर्स, शक्लो-सूरत, और एहसास के पहलु को संभाला वहीँ Stealth EV ने इसके इलेक्ट्रिक पॉवरट्रेन और बैटरी सेट-अप को इंजिनियर किया. अब आप पूछेंगे कि ये बला कितनी पॉवर और टॉर्क उत्पन्न करती है?

अगर हम कहें कि यह कार एक भारी-भरकम पेड़ को उखाड़ सकने वाली 627 एनएम की अधिकतम टॉर्क और 400 बीएचपी की अधिकतम पॉवर पैदा करती है तो क्या आप मानेंगे? मान जाइए क्योंकि यह सच है. यह 1949 Mercury Coupe 200 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार छूने की क्षमता रखती है. इस कार ने अपने मूल रूप में V8 पेट्रोल इंजन के साथ सपने में भी इस आकंडे को कभी नहीं छुआ होगा. इन दिनों इलेक्ट्रिक कार्स रफ़्तार के मामले में सही में फुर्तीली होती जा रहीं हैं और कैसे.

Mercury Tesla 3

इस कार को ठेठ Icon 4X4 वाले अंदाज़ दिए गए हैं जैसे डैशबोर्ड पर समयानुसार उपकरण और रेट्रो थीम पर आधारित सीट फैब्रिक. इसके हुड को खोलने पर आप पायेंगे V8 अंदाज़ में बेहद करीने से लगीं बैटरी! इस कार में एक क्रियात्मक इलेक्ट्रिक एयर कंडीशनर भी लगा है. इसका मतलब ये कार अजायब घर की शोभा बढ़ाने के लिए नहीं बनी है.

Mercury Tesla 4

एक चार्ज में आप इस कार में कितनी दूरी तय कर सकते हैं? लगभग 200-300 किलोमीटर जो आपके ड्राइव करने के अंदाज़ पर भी निर्भर करता है. इस कार की रीचार्जिंग भी बेहद तेज़ होती है क्योंकि फ़ास्ट चार्जर पर लगाने पर इसका बैटरी पैक 1.5 घंटे में अपने पूरे शबाब पर आ जाता है.

अब मुद्दे की बात ये है कि एक विंटेज कार को लेकर इसके पेट्रोल इंजन को इलेक्ट्रिक मोटर में बदलने के इस कारनामे के पीछे असल सोच क्या थी?

Mercury Tesla 2

देखा जाए तो यह ही कारों का भविष्य है. दुनिया भर में उत्सर्जन के पैमानों को लेकर बरती जा रही बेदर्द कड़ाई के चलते डीज़ल कार्स विलुप्त होने की कगार पर हैं और पेट्रोल कार्स की भी साँसे थमने को हैं. तो ऐसे में आने वाला कल इलेक्ट्रिक कारों का ही है और Icon 4X4 जैसी खेल के नियम बदलने वाली कस्टम कार कंपनियां की ऐसी इलेक्ट्रिक पहल के चलते वह दिन दूर नहीं जब हम ऐसी कस्टम कार्स को सड़कों पर आम होते देख पाएंगे. आने वाले सालों में अगर हम ढेरों विंटेज और यहां तक रेट्रो-मॉडर्न कार्स को इलेक्ट्रिक पॉवर में पुनर्जीवित होते देखें तो इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं होगी.

Via DriveMag

×

Subscibe our Newsletter