इस मीटिंग के बाद Harley-Davidson बाइक्स की कीमत इंडिया में हो सकती है कम!

इंडिया में ऑटोमोबाइल्स के इम्पोर्ट पर काफी ज़्यादा टैक्स लगता है. अगर अमेरिकी सरकार इंडिया की Generalized System of Preferences (GSP) के लिए योग्यता को रीन्यू करने को राज़ी हो जाती है तो मशहूर मोटरसाइकिल निर्माता Harley-Davidson इंडिया में अपनी बाइक की कीमतें कम कर सकती है. GSP की मदद से अमेरिकन मार्केट में इंडिया के 3,500 प्रोडक्ट्स को कम ड्यूटी या शून्य टैक्स पर बेचा जा सकता है. इसके बदले में भारत सरकार हाई एंड बाइक्स पर ड्यूटी कम कर सकती है.

साल के शुरुआत में फ़रवरी में भारत सरकार ने सभी इंजन क्षमता के Completely Built Units (CBU) पर कस्टम ड्यूटी को 50% तक कम कर दिया है. ये एक सराहनीय कदम था क्योंकि सरकार 800 सीसी की बाइक्स पर 60% ड्यूटी और उससे ऊपर की बाइक्स पर 75% ड्यूटी लगाती थी. ये अब 50% पर फिक्स कर दी गयी है. लेकिन, इंडिया में लोकल अस्सेम्ब्लिंग के लिए Completely Knocked Down (CKD) यूनिट्स के रूप में इम्पोर्ट होने वाली किट्स पर ड्यूटी 10% से बढ़ाकर 15% कर दी गयी है.

कस्टम ड्यूटी में की गयी पूरी कटौती पर अभी साफ़ जानकारी नहीं है. ये मामला वाणिज्य मंत्री Suresh Prabhu की दो दिवसीय अमेरिका यात्रा के दौरान डिस्कस किया जाएगा. एक बयान में उन्होंने कहा:

“हम Harley-Davidson जैसी हाई-एंड बाइक्स पर इम्पोर्ट ड्यूटी की कटौती के लिए तैयार हैं. लेकिन हमें इस बात का आश्वाशन चाहिए की GSP के तहत अमेरिकन मार्केट तक इंडिया की पहुँच पर कोई आंच ना आये.”

इस साल के शुरुआत में US President Donald Trump ने कहा की इंडिया Harley-Davidson बाइक्स जैसी हाई-एंड मोटरसाइकिल्स पर काफी ज़्यादा इम्पोर्ट ड्यूटी लगाती है और ये गलत है क्योंकि अमेरिका इंडिया से इम्पोर्ट किये गए बाइक्स पर ऐसा कोई टैक्स नहीं लगाती. अमेरिकन राष्ट्रपति ने इसके बदले इंडिया से इम्पोर्ट होने वाले बाइक्स पर ज़्यादा इम्पोर्ट ड्यूटी लगाने की धमकी भी दी थी. लेकिन, इस मीटिंग के बाद हम कीमतों में कमी देख सकते हैं.

Harley-Davidson India फिलहाल अपने इंडियन प्लांट में Street 750 और Street 500 बनाती है और ये अमेरिका के बाहर Harley-Davidson का पहला प्लांट है. लेकिन, Street 500 को सिर्फ एक्सपोर्ट मार्केट के लिए बनाया जाता है. और इंडिया में लगभग बाकी साड़ी Harley-Davidson बाइक्स को यहाँ CBUs के रूप में इम्पोर्ट किया जाता है.

सोर्स