This is India's Fastest Maruti Swift and We Have Brought Proof

ये है इंडिया की सबसे तेज़ Maruti Swift और हम लाये हैं इसका सबूत

सप्ताह भर से ज्यादा से Maruti Swift बनी हुई है चर्चा में. इसका बिलकुल नया वर्ज़न होने वाला है 15 दिन में लॉन्च और उत्साही और परिवार वाले दोनों ही कर रहे हैं इस प्रोडक्ट का इंतज़ार. उत्साहियों की बात करें तो Swift है इंडिया में सबसे ज्यादा मॉडिफाई की जाने वाली hatchback और इसके अनगिनत उदाहरण हमने रेस वीकेंड्स पर देखे हैं. और ये हमें लाता है इस फर्स्ट जेनेरेशन कार के इस खास उदाहरण की तरफ.

नंबर

27-वर्षीय अचिन्त्य मेहरोत्रा की ये Swift बेस्ड है ओरिजिनल 1.3 VXi वर्ज़न पर. चलिए पहले डालते हैं नज़र नंबरों पर. 0 से 60 में लगते हैं 4 सेकंड व्हील-स्पिन की वजह से लेकिन अगले 4 सेकंड में गाड़ी डिस्प्ले पर टच करती है टन फिगर जिसका मतलब, 0-100 kph का वक़्त है 7.9 सेकंड. जो की देवियों और सज्जनों है 2018 ‘स्टॉक’ Swift पेट्रोल से पूरे 5.35 सेकंड जल्दी.

कार सिर्फ एक सीधी लाइन में तेज़ नहीं है बल्कि रेस ट्रैक पर रु. 60 लाख से ज्यादा कीमत की ‘परफॉरमेंस’ कारों को भी मात देती है. शूट के लिए मिलने से कुछ ही दिन पहले, बुद्ध इंटरनेशनल सर्किट में अचिन्त्य ने 2:27.3 का बेस्ट टाइम अचीव किया है.

AutoX मैगज़ीन की ट्रैक शीट के मुताबिक ये बनाता है Swift को Audi TT और BMW Z4 जैसी गाड़ियों से तेज़. टॉप स्पीड? सही रोड कंडीशंस में और सेफ्टी को पूरी प्राथमिकता देते हुए स्पीडोमीटर की सुई जाती है डायल के अंत तक. जेन्युइन 200+ kph की जीपीएस रीडिंग कॉमन है. खुद ही देखिये.

क्या बनाता है इस रोज़मर्रा की फॅमिली hatchback को इतना तेज़?

पहला और सबसे तार्किक कदम था ओरिजिनल 1.3 लीटर 87 बीएचपी मोटर को पुरानी Baleno sedan के 1.6 लीटर यूनिट से रिप्लेस करना. स्विफ्ट और Esteem जैसी कारों के बे में ये G16B मोटर आसानी से फिट हो जाता है और ऊपर से परफॉरमेंस बोल्ट-ऑन पार्ट्स की उपलब्धता भी आसान है. Baleno sedan के इंजन ने तुरंत दिया 7 एक्स्ट्रा हॉर्सेज वाला बड़ा मोटर. दूसरा स्टेप था इंजन में कंप्रेस्ड एयर फ़ोर्सफीड करना और फिर आया Borg Warner sourced टर्बोचार्जर. ये नया सेटअप ही स्टॉक G16B इंजन ने फिगर को 20% तक बढ़ा सकता है.

इस आर्टिकल को ज्यादा टेक्निकल बनाये बिना, इंजन से जुड़े दूसरे बदलावों का यहाँ ज़िक्र करना ज़रूरी है – Race Dynamics 1401 टर्बो कोम्पैटिबल ECU, HKS ब्लो ऑफ वाल्व्स, HPI Megamax एयर फ़िल्टर और एक Fujitsubo एग्जॉस्ट सिस्टम. ये सारी पावर एक नए शोर्ट रेश्यो गियरबॉक्स और Cusco sourced LSD (Limited Slip Differential) के ज़रिये ट्रान्सफर होती है फ्रंट व्हील्स में.

इतनी एक्स्ट्रा पावर और टार्क को हैंडल करने के लिए, कार रन करती है ऑस्ट्रेलिया-sourced Exedy ‘sports tuff’ क्लच पर. जैसा आप अब तक अनुमान लगा ही चुके होंगे, ज़्यादातर बोल्ट-ऑन पार्ट्स आये हैं जापान से और ये सब सोर्स किया गया था AM Racing द्वारा और बनाया गया FRK Racing द्वारा.

कार रन करती है अल्ट्रा लाइटवेट ENKEI RPF1 15x7j रिम्स पर 205/50 R15 Yokohama S Drive टायर्स के साथ. ब्रेकिंग की ज़िम्मेदारी है Dixcel Brakes की. बस अब बहुत हुई टेक्निकल बातें. तो ये गाड़ी ड्राइव कैसा करती है?

ड्राइव एक्सपीरियंस

ज़ाहिर कारणों से अचिन्त्य ने को-ड्राईवर सीट और रियर बेंच दोनों ही हटा दिए हैं वो कीमती किलो बचाने के लिए. अपना विशाल शरीर ले कर बोल्ट-ऑन कस्टम मेड FRP सीट में बैठने में मुझे मेहनत तो काफी लगी लेकिन एक बार बैठ जाने के बाद सबकुछ काफी जाना पहचाना सा लगा. फ्रंट fascia को आल्टर नहीं किया गया है और रोज़मर्रा के इस्तेमाल के लिए ऑडियो सिस्टम भी बढ़िया काम करता है. एयर कंडीशनर लेकिन हटा दिया गया है, गाड़ी को हल्का करने के लिए. इस गाड़ी को आराम से ड्राइव करें तो दूसरे मोटोरिस्ट को इसकी क्षमताओं के बारे में कभी पता नहीं चलेगा.

और ये ले के आता है हमें रोमांचक हिस्से की तरफ. हमने ढूंढी नोएडा के बाहर एक बिलकुल सुनसान सड़क और फिर शुरू हुआ मज़ा. अचिन्त्य ने जब हमारे टेस्ट बॉक्स के लिए टेस्ट रूल्स पूरे कर लिए, तब मैंने ली स्टीयरिंग व्हील अपने हाथ में और क्या ही मज़ा आया! इस कार की जगह है एक रेस ट्रैक में और 2,200 आरपीएम के नीचे प्रोमिनेंट टर्बो लैग है.

उसके आगे जायें और वो स्टिकी Yokohamas भी ट्रैक्शन ब्रेक करके स्पिन करना शुरू हो जायेंगे. आप होंगे सीट से चिपके और आपके चेहरे पर होगी एक शानदार मुस्कान. इससे याद आया, पहले तीन गियर में व्हील्स को स्पिन करना आसान है. और फिर ब्लो ऑफ़ वाल्व (BOV) से आने वाली आवाज़ – उसका नशा ही कुछ और है. एक्सेलरेटर पेडल छोडिये और आपको सुनाई देगी सबसे मीठी BOV की आवाज़.

ये सब होता है एग्जॉस्ट के बहुत लाउड हुए बगैर जो की अचिन्त्य की तरफ से एक समझदार कदम है ताकि सड़क पर चलने वाले और लोग परेशान न हों. आपको स्पीड ब्रेकर्स से सावधान रहना होगा क्योंकि गाड़ी स्टॉक Swift से करीब 40 mm नीची है.

तो जहाँ इस Swift के साथ हमारी ड्राइव कुछ छोटी रही, मन तो इस पावरफुल और फ़ास्ट कार से हमारा नहीं ही भरा. नंबर सबूत हैं और हम ये स्टोरी एन्ड करते हैं हमारे Racelogic Performance बॉक्स डिस्प्ले के क्लोज अप के साथ.

×

Subscibe our Newsletter