इस Bajaj Pulsar 180 को एक खूबसूरत कैफ़े रेसर में मॉडिफाई किया गया है…

Bajaj Pulsar लाइनअप देश में टॉप सेलिंग बाइक्स में से एक रही है. 2001 में मार्केट में लाये जाने के बाद से, इस बाइक ने कंपनी के लिए हमेशा से ही अच्छे सेल्स लाये हैं और उनलोगों की मानसिकता बदली जिन्हें 100-125 सीसी बाइक्स सबसे अच्छी लगती थीं. आज हम आपके लिए वही आइकोनिक Pulsar लेकर आये हैं लेकिन एक रोचक बदलाव के साथ. इस बाइक को Surat के ट्यूनिंग हाउस Element8 Machines द्वारा मॉडिफाई किया गया है. आगे बढ़ने से पहले इस खूबसूरत बाइक पर एक नज़र डालिए.

Pulsar Cafe Racer 1

जैसा की तस्वीरों से साफ़ होता है, इस बाइक को एक कैफ़े रेसर की स्टाइलिंग दी गयी है. ये स्टॉक बाइक Bajaj Pulsar अ 180 सीसी मॉडल हुआ करती थी.

इस कस्टम Pulsar में लगभग हर चीज़ नयी है. स्विंगआर्म से लेकर ब्रेक्स और लाइट्स तक, हर चीज़ इस बाइक में किये गए बारीक काम को दर्शाती है.

Pulsar Cafe Racer 2

आगे से शुरुआत करते हैं तो इसमें एक अपसाइड डाउन सस्पेंशन है जिसके बिलेट एल्युमीनियम ट्रीज़ को एक KTM 200 Duke से लिया गया है, कस्टम क्लिप-ऑन हैंडलबार्स एयर LED सराउंड DRLs वाले मोनो पॉड हेडलैम्प्स हैं. इसके हैंडलबार्स में इनवर्टेड मिरर्स और ब्रश एल्युमीनियम वाले ब्रेक/क्लच लीवर हैं.

इसमें एक 3D प्रिंट वाला टर्न सिग्नल पायलट स्विच और क्विक एक्शन थ्रोटल है. बाइक के छोटे एम्बर रंग वाले टर्न सिग्नल इसके लुक को और भी बेहतर करते हैं. इसमें एक कस्टम टैंक लगा है जिसमें क्रोम रंग का एयरक्राफ्ट जैसा फिलर-कैप है और टैंक को पर्ल ब्लू रंग के पेंट की मैटेलिक फिनिश दी गई है.

Pulsar Cafe Racer 3

रियर में हम एक सिंगल साइड स्विंगआर्म देख सकते हैं जिसे इसी बाइक के लिए बनाया गया है. इसे उच्च घनत्व वाले LM25 पोर में डिजाईन, मोल्ड, और कास्ट किया गया है और माउंट के लिए मशीन किया गया है. इस बाइक पर लगे जो भारी चक्के आप देख रहे हैं वो असल में Ducati Monster 796 रिम्स हैं जिनमें Michelin Sport 110/190 टायर्स लगे हैं. इसके ब्रेक कॉम्पोनेन्ट में आपको Pulsar 200NS, Royal Enfield Continental GT, Yamaha R15 और RX100 का मिश्रण मिलेगा.

इसमें Honda Unicorn का रियर मोनोशॉकर लगा हुआ है और इसे राइडिंग पोजीशन को सही करने के लिए कस्टम स्प्रिंग और स्पेसर के साथ फिट किया गया है. इस बाइक को कस्टमाईज़ करने वालों के हिसाब से सबसे बड़ी चुनौती थी चेन को सही जगह रखते हुए इसके चौड़े टायर को अलाइन करना. फिर है एक कस्टम SS एग्जॉस्ट जो इस आम इंजन के एग्जॉस्ट आवाज़ को और बेहतर बनाता है. आप इसके डिटेल्स पर दिए गए ध्यान का अंदाजा इस बात से लगा सकते हैं की इसके इंजन के पास इसके एग्जॉस्ट पर एक बारकोड प्रिंट किया हुआ है जिसपर ओनर का नाम है.

तो आपका इस कस्टमाईजेशन के बारे में क्या ख्याल है?

सोर्स