Tesla Model X, भारत की पहली Tesla!

भारत की पहली Tesla!

Tesla की पहली इलेक्ट्रिक कार भारत में आ चुकी है. हम बात कर रहे हैं Tesla Model X SUV जो आती है अपने कैरेक्टरिस्टिक गल-विंग्स के साथ. इसे देश में एक अज्ञात खरीदार द्वारा आयात किया गया है और ये अभी अभी लैंड हुई है मुंबई पोर्ट पर. यहाँ से कस्टम फॉर्मेलिटी के बाद जल्द ही ये अपने मालिक के पास पहुँच जाएगी.

Model X SUV Tesla द्वारा बनाई गयी सबसे तेज़ गाड़ियों में से एक है. ये 7-सीट SUV इस्तेमाल करती है दो इलेक्ट्रिक मोटर जिसमें से एक फ्रंट एक्सल को ड्राइव करता है और दूसरा रियर को. फ्रंट का इलेक्ट्रिक मोटर प्रोड्यूस करता है 259 पीएस जबकि रियर का आउटपुट है 503 पीएस. साथ में दोनों मोटर्स का आउटपुट बेस P90 वेरिएंट में दिमाग भन्ना देने लायक है. दोनों मोटर्स साथ प्रोड्यूस करती हैं 967 एनएम् पीक टार्क. ये Model X को स्थिर अवस्था से 100 Kph तक पहुंचा सकता है मात्र 4.8 सेकंड में. जी हाँ! सही सुना आपने. इतना आउटपुट ज़्यादातर स्पोर्ट्स कार्स को शर्मिंदा कर सकता है. टॉप स्पीड है 250 Kph. और आप जानते हैं की ये भी काफी हद तक स्पोर्ट्स कार्स वाला ही है.

Tesla एक और तेज़ P90D वेरिएंट भी करती है ऑफर जो की स्थिर अवस्था से 100 Kph तक जा सकती है सिर्फ और सिर्फ 3.8 सेकंड में. Ludicrous मोड के रूप में इस गाड़ी में एक पार्टी ट्रिक भी है. इसे प्रेस करें और Model X P90D मात्र 3.2 सेकंड्स में 100 Kph की स्पीड छूकर पलक झपकते धुंआ बन जाएगी.

परफॉरमेंस के अलावा, Tesla Model X तीन रो में 7 लोगों को बैठा सकती है. इसे मिले हैं कई दिलचस्प फ़ीचर्स जिनमें शामिल हैं एक सेमी ऑटोनोमस ड्राइविंग सिस्टम जिसे Tesla बिलकुल सही नाम से AutoPilot बुलाती है, एडजस्टेबल राइड हाइट, और एक फ्युच्युरिस्टिक टचस्क्रीन टैबलेट-बेस्ड इन्फोटेनमेंट सिस्टम.

फ़िलहाल ये Tesla की कैलिफ़ोर्निया में फ्रेमोंट स्थित इकलौती फैक्टरी में बनायी जाती है. और अमेरिकी मार्केट में इसकी कीमत करीब $128,000 है. ऐसी एक गाड़ी को भारत आयत करने में करीब रु. 2 करोड़ लगते हैं. हाँ, ये थोड़ी महँगी है लेकिन ज़्यादातर सुपरकार्स से काफी सस्ती है. और हाँ, भूलिए मत! इसे चलाना है ज्यादा सस्ता क्योंकि ये इलेक्ट्रिक पावर पर चलती है.

कार और बाइक्स की Latest वीडियोज़ देखने के लिए सब्स्क्राइब करेंCarToq Hindi

×

Subscibe our Newsletter