Tata Sumo to Maruti Gypsy; 4 Classics That Will Soon Go Out of Production in India Tata Sumo से Maruti Gypsy; 4 मशहूर कार्स जो जल्द हट जायेंगी मार्केट से

Tata Sumo से Maruti Gypsy; 4 मशहूर कार्स जो जल्द हट जायेंगी मार्केट से

इस साल हमें भारत के ऑटो जगत में कई बड़े बदलाव देखने को मिलंगे. ऐसा इसलिए क्योंकि नए सुरक्षा नियम (BNSVAP) के साथ BSVI उत्सर्जन नियम भी जल्द ही लागू कर दिए जायेंगे. जहां BSVI को 2020 में लागू किया जाएगा, BNSVAP को लागू कर दिया गया है, जिसका मतलब है की ऐसे निर्माता जो इन नियमों का पालन नहीं करेंगे, इन कार्स को नहीं बेच पायेंगे. इसके लिए, सभी कंपनियों ने अपने लाइनअप को अपग्रेड करना शुरू कर दिया है. लेकिन, ऐसे कई मॉडल्स हैं जिन्हें अपग्रेड करना कंपनियों के लिए काफी महंगा साबित हो सकता है, इसलिए इन्हें बंद कर दिया जाएगा. पेश हैं ऐसी ही 4 गाड़ियाँ जिन्हें हम आने वाले समय में नहीं देखेंगे.

Tata Nano

Tata Nano

Tata ने घोषणा की है कि वो अपने Nano का प्रोडक्शन बंद कर उसे मेड-टू-आर्डर श्रेणी में शामिल करेगी. और चूंकि जून 2018 में Tata ने Nano का बस एक ही यूनिट बनाया था, हम इसे मार्केट में Tata Nano की आखिरी सांस बुला सकते हैं. रतन टाटा का सपना था की वो इंडिया के लिए ऐसी कार बनाएं जिसे इंडिया का आम नागरिक तक खरीद सके. लेकिन, शायद रतन टाटा भूल गए थे की इंडिया में लोग कार को ज़रुरत के तौर पर नहीं बल्कि हैसियत के तौर पर देखा करते हैं.

Nano ने अपने छोटी ज़िन्दगी में कई चुनौतियों का सामना किया. और हर एक चुनौती उसके ताबूत में एक कील के समान साबित हुई. चाहे वो मार्केट में लॉन्च में विलम्ब हो या फिर मॉडल्स में आग लगने की शिकायत, Nano एक दिक्कतों से भरी कार थी. सबसे पहली दिक्कत थी इसकी कीमत, जहां Nano को ‘लखटकिया कार’ के रूप में पेश की जा रही थी, ये कभी भी 1 लाख रूपए की नहीं बिकी. कभी इसे किफायती इंजीनियरिंग का नमूना भी कहा जाता था, लेकिन इसके कीमत को कम रखने के लिए इसमें इतने समझौते किये गए की शायद अंत में ये एक वैल्यू फॉर मनी कार के बजाय लोगों को एक समझौता ही लगने लगी थी. और आप 2.36 लाख रूपए खर्च कर अपनी जिंदगी की पहली 4 व्हीलर पर समझौता करना पसंद तो बिल्कुल ही नहीं करेंगे. यहाँ इस बात को भी ध्यान में रखना होगा की जब Nano लॉन्च हुई थी तब Tata मुख्यतः अपने Indica और Indigo के साथ बिल्ड क्वालिटी में कोई झंडे नहीं गाड़ रही थी. फिर उसके ऊपर से इतनी सस्ती कार पर शायद लोग भरोसा नहीं कर पाए.

Maruti Suzuki Omni

Maruti Suzuki Omni

भारत की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी Maruti Suzuki के अध्यक्ष ने खुलासा किया है कि Maruti Omni के यात्री और माल-वाहक संस्करण का उत्पादन जल्द ही बंद कर दिया जायेगा और इसकी जगह बाज़ार में Eeco लेगी. Eeco पहले से ही Maruti के लिए एक अच्छी बिक्री वाली कार रही है और इसे भारत सरकार द्वारा जल्द लागू किये जा रहे नए सुरक्षा नियमों के अनुसार बनाया गया है. बताते चलें कि 35 से अधिक वर्षों के निरंतर उत्पादन के बाद Omni को इस साल के मध्य तक बंद कर दिया जायेगा.

Omni को स्कूली बच्चों द्वारा उनकी स्कूल वैन के रूप में और कई अन्य लोगों द्वारा पहली कार के रूप में याद किया जाएगा. हर महीने अच्छी संख्या — 5,000 इकाइयाँ — में बिकने वाली Maruti Omni को देखते हुए यह भारतीय सड़कों से जल्द गायब होने संभावना नहीं है. उम्मीद है कि अगले 10 वर्षों में Omni धीरे-धीरे भारतीय सड़कों से गायब हो जाएगी. इस शानदार कार को हमेशा याद किया जाएगा और हम कुछ कार प्रेमियों से उम्मीद करते हैं कि आने वाले कई वर्षों तक वे इसका एक आधुनिक विंटेज वाहन के रूप में इस्तेमाल जारी रखेंगे.

Tata Sumo

Tata Sumo Gold

Tata Sumo MUV जल्द ही बाज़ार से हटा लिया जाएगा और इसका कोई विकल्प भी नहीं दिया जाएगा. ये गाड़ी सालों से ज्यादा लोगों को लेकर चलने की अपनी क्षमता के चलते लोकप्रिय रही है लेकिन अब इसने बाज़ार में अपनी चमक खो दी है. भारत में 2020 से लागू होने जाने वाले कठोर सुरक्षा नियमों के चलते रफ एंड टफ Sumo का बाज़ार में अंत हो जाएगा.

Tata Sumo एक ऐसी गाड़ी है जिसे लगभग हर भारतीय ने कभी ना कभी इस्तेमाल किया हुआ है. आप इस गाड़ी को कई उद्योगों में कई किरदारों में देख सकते हैं. हम Sumo को एम्बुलेंस, आर्मी, निजी इस्तेमाल, आवभगत, सरकारी कामों, वगैरह कई जगह इस्तेमाल होते हुए देख सकते हैं. ये गाड़ी कई सालों से सड़क पर एक जीती-जागती मिसाल रही है. छोटे शहर और गाँव के कस्टमर लैडर ऑन फ्रेम वाले Sumo को उसकी विश्वश्नियता के चलते चुनते हैं..

Maruti Suzuki Gypsy

Maruti Gypsy

Maruti Suzuki Gypsy भारत में बनाई जाने वाली सबसे पुरानी कार है. इसको 1985 में लॉन्च किया गया था और उसी वक्त से ये देश की पैरामिलिट्री और आर्मी का अभिन्न हिस्सा रही है. ऐसी भी अफवाहें थीं कि एक बिल्कुल नई Jimny लॉन्च की जाएगी जो Gypsy कि जगह लेगी लेकिन Maruti Suzuki का इस बाबत कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है और Gypsy का उत्पादन बंद होना एक तरह से निश्चित है. अभी भी Gypsy को आर्डर पर बनाया जाता है और आम जनता के बीच इसकी मांग बहुत कम रहती है.

Gypsy उर्फ़ माउंटेन गोट (Mountain Goat) दरअसल Suzuki Jimny SJ40/410 series पर आधारित थी. इसे MG410 कहा जाता था, जिसका मतलब “Maruti Gypsy 4-cylinder 1.0-litre engine” था. Gypsy के आखिरी मॉडल में 1.3 लीटर 16 वाल्व इंजन था जो 80 बीएचपी की पॉवर और 103 एनएम की टॉर्क उत्पन्न करता है.

×

Subscibe our Newsletter