Tata Safari Storme to Toyota Etios: 10 Slow Looking But Fast Accelerating Cars Tata Safari Storme से Toyota Etios: फर्राटे से दौड़ने वाली 10 कार्स  

Tata Safari Storme से Toyota Etios: फर्राटे से दौड़ने वाली 10 कार्स  

तेज़..और तेज़…रफ़्तार…परफॉरमेंस… सामान्यतया भारतीय कार परिदृश्य में इन शब्दों का इस्तेमाल गाहे-बगाहे ही किया जाता है. इसका पहला कारण है कि हम देसी लोग एक किफ़ायती और आरामदायक कार की चाहत रखते हैं जो हमें बढ़िया माइलेज भी दे. इसलिए ताकत और क्षमता-प्रदर्शन जैसे शब्द भारतीय कारों के शब्दकोश में हैं ही नहीं. और दूसरा कारण है देश में सडकों और यातायात सुविधाओं का खस्ता हाल जो ड्राइविंग के प्रेमियों को सांस लेने की भी जगह नहीं देते.

इन सब प्रतिकूल परिस्थितियों के बावजूद वाहन निर्माता कार प्रेमियों के लिए  कुछ बहुत ही जानदार “स्लीपर” कार्स लेकर आने के लिए भरतीय कार परिदृश्य में जूझते रहते हैं. वैसे ऐसी गाड़ियों की तादाद काफी कम है लेकिन आज हम आपके लिए ऐसी ही गाड़ियों के कुछ उदाहरण लेकर हाज़िर हुए हैं. इन पर एक नज़र डाल कर देखिये कि क्या आपने कभी इन में से किसी गाड़ी की सवारी की है. और इस बात का ख्याल रखें कि ये स्लीपर कार्स की सूचि है न कि परफॉरमेंस कार्स की. इसलिए आप इस इस सूचि में Polo GT या Abarth Punto जैसी कार्स को नहीं पाएंगे.

Toyota Etios 1.5

Etios

जब हम रफ़्तार की बात करते हैं तो Etios का नाम हमारे ज़हन में शयद ही कभी आता है. हालांकि आपने कभी इस बात की कल्पना भी नहीं की होगी कि Toyota Etios में एक 1.5-लीटर पेट्रोल इंजन लगा है जो 89 बीएचपी पॉवर और 132 एनएम टॉर्क पैदा करता है. इस गाड़ी का एक आकर्षक पहलु यह भी है कि यह 0 से 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार केवल 11.4 सेकंडों में पकड़ लेती है. यह गाड़ी जिस श्रेणी से आती है और इसके मुस्कुराते हुए चेहरे को देख कोई नहीं कह सकता कि यह रफ़्तार के इस किस्म के आंकड़े देने में सक्षम होगी. इस कार का हल्का वज़न ही इस बात का सबसे बड़ा कारक है क्योंकि Etios का वज़न सिर्फ 960 किलोग्राम ही है. Etios का हल्का वज़न और एक शक्तिशाली 1.5-लीटर इंजन इस कार को 178 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार पकड़ने में सक्षम बनाते हैं.

Toyota Etios Cross Sportivo

Etios Cross

Toyota Etios Cross Sportivo कार सामान्य Etios Liva hatchback का क्रॉसओवर संस्करण है. वैसे ये नन्ही सी क्रॉसओवर भारत में मौजूद hatchback कार्स के बीच एक छुपा रुस्तम या कह लें कोहीनूर है. इस गाड़ी में Etios sedan वाला वही 1.5-लीटर पेट्रोल इंजन लगा है जो 89 बीएचपी पॉवर और 132 एनएम टॉर्क पैदा करता है. और Sportivo वज़न के मामले में Etios से भी हलकी है जो इसे रफ़्तार के मामले में ज़्यादा तेज़ बनाता है. सही आंकड़े की बात करें तो Etios Cross Sportivo 0 से 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार केवल 11 सेकंडों में छू लेती है. ये किसी भी लिहाज़ से तेज़ है.

Hyundai Getz 1.5 CRDi

Hyundai Getz

Hyundai Getz 1.5 कार प्रेमियों के दिलों में एक खास स्थान रखती है जो इस गाड़ी की क्षमताओं से भली-भाँती परिचित हैं. इस गाड़ी में एक 1.5-लीटर डीज़ल इंजन लगाया गया था जिसका इस्तेमाल उस ज़माने में Verna में भी होता था. यह इंजन 110 बीएचपी पॉवर और 240 एनएम टॉर्क पैदा करता था जो आज के स्टैंडर्ड से भी बहुत बड़ा आंकड़ा है. Getz 1.5 कार 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार को छूने का कारनामा मात्र 11.4 सेकंड में कर लेती थी. इस गाड़ी का एक बहुत ही रोमांचकारी पहलु इसके इंजन द्वारा ताकत का संचार करने का ऐसा अंदाज़ था कि आप जब भी इस गाड़ी के एक्सेलरेटर को दबाते तो यह गाड़ी आपको ड्राइविंग सीट पर ज़ोर से धंसाते हुए आपकी धमनियों में दौड़ रहे खून की रफ्तार को और तेज़ किए देती थी.

Maruti Suzuki S-Cross 1.6

Maruti Suzuki S Cross

Maruti Suzuki S-Cross के रूप में जापानी कार निर्माता ने एक किफायती फैमिली क्रॉसओवर बनाने की कोशिश की थी. इस गाड़ी को एक hatchback और एक MPV का मिला जुला रूप कहा जा सकता है. S-Cross 1.6 को Fiat से लिए गए एक 1.6-लीटर टर्बो डीज़ल Multijet इंजन से लैस किया गया था. यह इंजन 118 बीएचपी की शानदार पॉवर और 320 एनएम टॉर्क पैदा करता है. S-Cross 1.6 अपने सामान्य मॉडल से बिल्कुल अलहदा नहीं थी लेकिन मगर सवारी करते वक़्त यह फर्क साफ़ था. S-Cross 1.6 कार को 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार पकड़ने में केवल 11.3 सेकंडों का समय लगता था जो इसके भार के मद्देनज़र बेहद बढ़िया आंकड़ा है.

Honda Mobilio 1.5 Petrol

Honda Mobilio Modified 8

Honda Mobilio को एक बहुत बढ़िया कार माना जा सकता है लेकिन बिक्री के मामले में इसका प्रदर्शन बहुत औसत दर्ज़े का रहा. अब बाज़ार से हटाई जा चुकी Honda की इस MPV में एक 1.5 लीटर i-VTEC पेट्रोल इंजन लगा था जिसे City sedan से लिया गया था. यह गाड़ी  100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार केवल 11 सेकंडों में पकड़ लेती थी जो इस गाड़ी के एक 7-सीटर होने के लिहाज़ से काफी विस्मयकारी बात है. और साथ ही Honda की विश्वसनीयता इस कार के साथ एक अतिरिक्त बोनस था.

Hyundai Verna 1.5 CRDi

Hyundai Verna 1.5 Crdi1

Hyundai Verna डीज़ल 1.5 एक औसत फैमिली sedan थी. इस गाड़ी का 1.5 लीटर CRDi इंजन 110 बीएचपी पॉवर और 240 एनएम की टॉर्क पैदा करता था. इस शक्तिशाली इंजन के बूते यह कार 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार 11 सेकंड से कुछ ऊपर समय में पकड़ लिया करती थी. इस भारी sedan के लिए यह आंकड़ा काफी प्रभावशाली है. इस गाड़ी कि निम्न स्तर की हैंडलिंग इसको एक स्लीपर कार बनने के खिताब से वंचित करती है.

Skoda Yeti

Skoda Yeti Road Test 110

Skoda Yeti अपने समय से पहले लॉन्च कर दी गई शानदार SUV थी. Skoda के लिए इस गाड़ी को बिक्री के मामले में असफल गाड़ी ही कहा जा सकता है लेकिन फिर भी कंपनी ने इसको एक लम्बे अरसे तक अपने ग्राहकों को उपलब्ध कराए रखा. Skoda Yeti में एक 2.0 लीटर TDI टर्बो डीज़ल इंजन लगा था जो 140 बीएचपी पॉवर और 320 एनएम टॉर्क पैदा करता था. 0 से 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार यह गाड़ी मात्र 9.9 सेकंडों में छू लेती थी जो एक प्रभावशाली आंकड़ा है. इस गाड़ी में एक ऑल-व्हील ड्राइव सिस्टम लगा था जिसके कारण थोड़ी बहुत ऑफ़-रोडिंग के लिए यह गाड़ी हमेशा तैयार रहती थी.

Isuzu D-Max V-Cross

Isuzu D Max V Cross

D-Max ने असल में हमको उल्लू बनया. इस गाड़ी के लगभग 1.9 टन के वज़न और ईंट-नुमा आकार का किसी को अंदाज़ा तक नहीं हो पाया था. लेकिन यह भारी-भरकम गाड़ी 0 से 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार केवल 12 सेकंड के अंदर पकड़ लेने की क्षमता रखती है. इस गाड़ी के एक्सेलरेटर पर अपना पाँव रखिये और यह आपको 175 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार पर पहुंचा देगी. इस कार में एक 2.5 लीटर टर्बो डीज़ल इंजन लगा है जो 134 बीएचपी पॉवर और 320 एनएम टॉर्क पैदा करता है. लेकिन जिस अंदाज़ सड़क पर यह गाड़ी अपनी शक्ति का प्रदर्शन करती है वो लाजवाब है.

Tata Safari Storme 400

Safari Storme

ऐसा लगता है कि पुरानी Safari पाषाण युग से चली आ रही है और रुकने के लिए किसी कयामत का इंतज़ार कर रही है. मौजूदा पीढ़ी की Safari Storme अपने एक्सेलरेशन के मामले में एक अलग ही धाक रखती है. Storme का 2.2 लीटर Varicor टर्बो डीज़ल इंजन 154 बीएचपी पॉवर और 400 एनएम टॉर्क पैदा करता है और इसे एक 6-स्पीड मैन्युअल गियरबॉक्स से जोड़ा गया है जो इस बात को सुनिश्चित करता है यह SUV 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार केवल 12.8 सेकंडों में छू ले. भले ही यह आंकड़ा आपको ज़्यादा प्रभावित न करता हो लेकिन अगर आप इसकी तुलना Safari की प्रतिद्वंदी Scorpio, XUV500, और यहां तक कि Fortuner से करेंगे तो आपके सामने सारी तस्वीर साफ़ हो जाएगी.

Chevrolet Trailblazer

Chevrolet Trailblazer

Chevrolet Trailblazer एक ज़माने में अमेरिकी कंपनी की फ्लैगशिप गाड़ी हुआ करती थी. इस विशालकाय SUV में एक 2.8 लीटर टर्बो डीज़ल इंजन लगा था जो 197 बीएचपी की पॉवर और 500 एनएम टॉर्क पैदा करता था. ये आंकड़ा इस गाड़ी को बहुत आसानी से हमारी इस सूचि में सबसे ताकतवर गाड़ी बना रहा है. Trailblazer में एक 6-स्पीड ऑटोमैटिक गियरबॉक्स लगा था. इस गाड़ी के एक्सेलरेशन के सम्मानजनक आंकड़े बताते हैं कि यह गाड़ी 0 से 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार केवल 9.95 सेकंड में छू लेती थी. आपकी जानकारी के लिए बाताते चलें कि Trailblazer एक विशुद्ध 7-सीटर SUV थी जिसका वज़न 2 टन से ऊपर था. भारत में इस गाड़ी का अपने समय में मुकाबला Toyota Fortuner और Ford Endeavour जैसी गाड़ियों से रहता था.

 

×

Subscibe our Newsletter