Tata अपनी Harrier का Jeep Compass से अधिक शक्तिशाली संस्करण उतारने की तैयारी में है!

अभी-अभी लॉन्च हुई Tata Harrier ने अपने प्रतिद्वंदियों को किनारे पर खड़े हो लहरें गिनने पर मजबूर कर दिया है. Tata ने एक ऐसी लाजवाब गाड़ी पेश करने में सफलता हासिल की है जिसमें एक बेहतरीन इंजन के साथ-साथ खुले-खुले आरामदायक इंटीरियर्स और अपनी श्रेणी के अग्रणी फीचर्स एक रोचक बॉडी-डिज़ाइन में लपेट कर रख दिए गए हैं. अब हमको मिली एक नवीनतम जानकारी के अनुसार Tata अपनी Harrier के एक अधिक शक्तिशाली संस्करण पर काम कर रही है. इस गाड़ी की पॉवर के आंकड़े Jeep Compass से ऊंचे स्तर के होंगे. Tata द्वारा अपनी Harrier में इस्तेमाल किया गया KRYOTEC इंजन Fiat के 2.0-लीटर Multijet इंजन पर आधारित है जो Compass में भी अपनी सेवाएँ दे रहा है. हालांकि Tata ने इस इंजन से अधिक माइलेज लेने के लिए इसमें बदलाव किए हैं.

Harrier Front

Harrier के नए अधिक शक्तिशाली संस्करण के इसके मौजूदा संस्करण से लगभग 32.5 बीएचपी अधिक पॉवर पैदा करने की उम्मीद है. इस गाड़ी के मौजूदा संस्करण में लगे इंजन की 138 बीएचपी पॉवर उत्पन्न करने की क्षमता को लगभग 170 बीएचपी से 180 बीएचपी तक बढ़ाए जाने की सम्भावना है. आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि Compass में लगा सबसे अधिक शक्तिशाली इंजन 170 बीएचपी पॉवर और 350 एनएम टॉर्क पैदा करता है. यह इसे फिलहाल अपने सेगमेंट की सबसे अधिक शक्तिशाली SUV बनाता है. हालांकि अब जब Tata Harrier के पॉवर के आंकड़े को 180 बीएचपी पर लेकर जाया जा रहा है, ऐसे में सबसे अधिक शक्तिशाली SUV होने का सहरा निश्चित तौर पर Harrier के सर बंधेगा.

और इस ही वजह से अधिक शक्तिशाली Harrier अपनी प्रतिद्वंदी Jeep Compass से अधिक स्फूर्त SUV बन कर उभरेगी. इसके पीछे की एक वजह Compass का वज़न में Harrier से 91 किलोग्राम कम होना भी है. अगर सटीक आंकड़ों की बात हो तो Jeep Compass का वज़न 1,584 किलोग्राम है वहीँ Harrier 1675 किलोग्राम वज़नी है. अपने इंजन की मौजूदा ट्यूनिंग में Harrier ड्राइव के मामले में एक बढ़िया गाड़ी है और इसकी अधिक शक्ति तभी देखने को मिलेगी जब इसका नया संस्करण सड़कों पर दौड़ेगा. Harrier में लगे KRYOTEC इंजन की ट्यूनिंग इस किस्म से की गई है कि इसको शहरी यातायात में चला पाना सुविधाजनक हो.

Compass Black

Tata Harrier के मौजूदा मॉडल में 2.0-लीटर KRYOTEC इंजन लगा है जो 140 बीएचपी पॉवर और 350 एनएम की उच्चतम टॉर्क पैदा करता है. इस इंजन को एक 6-स्पीड मैन्युअल ट्रांसमिशन से जोड़ा गया है जो इस फ्रंट-व्हील ड्राइव कार में पॉवर आपूर्ति करता है. फिलहाल Tata ने इस गाड़ी में एक ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन नहीं दिए जाने का फैसला लिया है लेकिन आगे चलकर कंपनी द्वारा इसका ऑटोमैटिक संस्करण लॉन्च किए जाने की उम्मीद बरक़रार है. इस इंजन के साथ विभन्न मोड दिए गए हैं जो अच्छी माइलेज और परफॉरमेंस के लिए इसके शक्ति उत्पादन की क्षमता को ऊपर-नीचे करते हैं.

उम्मीद है की Tata भविष्य में अपनी Harrier का एक ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन वाला संस्करण भी उतारेगी. पिछले कुछ समय से भारतीय बाज़ार में ऑटोमैटिक गाड़ियों की मांग बढ़ी है और ऐसे में Tata का अपनी नई Harrier को बिना ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन के उतारने का फैसला इस गाड़ी के बिक्री के आंकड़ों पर प्रतिकूल प्रभाव डाल सकता है. अभी नहीं पर आने वाले समय में Tata इस गाड़ी के एक पेट्रोल इंजन वाले संस्करण पर भी विचार कर सकती है. Tata से लोगों की एक और मांग यह है कि कंपनी इस SUV का एक 4X4 या कम से कम आल-व्हील ड्राइव संस्करण ज़रूर लॉन्च करे क्योकि इस गाड़ी में तमाम ऑफ-रोड उपकरण मौजूद हैं.