Tata Nexon, Hexa और Toyota Fortuner से समझिये FWD, AWD और 4×4 में अंतर

हर किसी को अपनी SUVs को ऐसी जगहों पर ले जाना पसंद होता है जहां आम गाड़ियां पहुँच नहीं सकती हैं. लेकिन, आपको हमेशा अपने SUV की क्षमता और उसके सेटअप पर ध्यान रखना चाहिए. ऐसे कई तरीके हैं जिसके ज़रिये एक SUV में पॉवर चक्कों तक ट्रान्सफर होता है और इससे उसकी ऑफ़-रोडिंग क्षमता पर प्रभाव पड़ता है. इसे आप नीचे दिए गए विडियो में साफतौर पर देख सकते हैं.

इस विडियो को गोवा में Apollo Tyres के #BadRoadBuddies इवेंट के दौरान बनाया गया था. इस विडियो में देखी गयीं तीनों SUVs में Apollo Apterra टायर्स लगे हैं और ये समान ऑफ-रोड सेक्शन पर चल रही हैं. इन गाड़ियों को एक्सपर्ट नहीं बल्कि ऑफ-रोड शौक़ीन चला रहे हैं.

SUVs के प्रकार

SUV में पॉवर को चक्कों तक 4 अलग-अलग तरीके से भेजा जा सकता है. इनमें RWD या रियर व्हील ड्राइव, FWD या फ्रंट व्हील ड्राइव, AWD या ऑल-व्हील ड्राइव, और खालिस 4×4 सेटअप शामिल है. इस विडियो में आप जिन कार्स को देख रहे हैं उसमें Nexon (FWD), Hexa (AWD), और Fortuner (खालिस 4×4) शामिल हैं. ध्यान दीजिये की Hexa AWD में 19-इंच अलॉय व्हील्स मिलते हैं, यहाँ मौजूद मॉडल में 16 इंच के रिम्स थे ताकि साइड्स में लम्बी वॉल और ज्यादा आराम मिले. विडियो की बात करें तो जैसा की आप देख सकते हैं Nexon ऊपर चढ़ते हुए काफी मशक्कत करती है क्योंकि यहाँ पर काफी ज्यादा बालू है जिससे ग्रिप नहीं मिलती. ड्राईवर अंत में हार मानकर पीछे हट जाता है.

इसके बाद आता है Hexa का नम्बर. ये कार ‘Rough Road’ मोड में है जो ऑफ-रोडिंग के लिए बेहतरीन है. ये एक भारी गाड़ी है और इसे ग्रिप पाने में थोड़ी देर लगती है. यहाँ लो रेश्यो गियरबॉक्स की कमी खलती है लेकिन ये एक क्रॉस-UV भी है और लो-रेश्यो की कमी कोई ज्यादा बड़ी बात नहीं है. अंत में आती है Fortuner. इसे 4×4 लो-रेश्यो में डाला गया है जिससे इसे लो रेव पर ही काफी ज्यादा टॉर्क मिलता है. Fortuner को देखकर ये काम बेहद आसान लगता है. हमें लगता है की ये गाड़ी दूसरे गियर में रही होगी और थोड़े से एक्सीलीरेटर इनपुट के साथ ये इस जगह चढ़ गयी होगी.

Nexon Off

ये बातें याद रखिये

भारतीयों को SUVs बेहद पसंद हैं और Breeza, XUV300 और Harrier के अच्छे सेल्स इस बात को साबित करते हैं. लेकिन मालिकों को अपने दिमाग में ये बात रखनी चाहिए की ये ‘असली’ SUVs नहीं हैं और ऑफ-रोडिंग में इनकी अपनी सीमाएं हैं. साथ ही, अगर आपके पास ये कार्स हैं, इन्हें लेकर अनजान जगहों पर अकेले कभी ना जाएँ क्योंकि अगर आपकी गाड़ी फँस जाती है तो दुर्गम जगहों पर मदद आने में देरी लगती है. बदकिस्मती है की भारत में कॉम्पैक्ट SUVs में ऑप्शनल AWD या 4×4 नहीं मिलता है और सबसे किफायती मॉडल Renault ऑफर करती है वो भी Duster AWD के रूप में. Thar में खालिस 4×4 मिलता है, लेकिन ये गाड़ी ज्यादा आरामदायक नहीं है.