Tata Motors ने बंद किया Indica eV2 और Indigo eCS का प्रोडक्शन, एक युग का अंत!

Tata Motors ने आखिरकार अपनी दो सबसे किफायती मास मार्केट कार्स को बनाना बंद कर दिया है — Indica eV2 हैचबैक और Indigo eCS कॉम्पैक्ट सेडान. दोनों ही कार्स का प्रोडक्शन बंद हो चुका है. डीलर्स इन दोनों कार्स के स्टॉक क्लियर कर रहे हैं. Tata Motors ने इन कार्स के नए ऑर्डर्स लेना बंद कर दिया है.

इस बात की पुष्टि करते हुए Tata Motors के प्रवक्ता ने कहा,

मार्केट के बदलते रूप और Tata Motors की डिजाईन लैंग्वेज को इम्पैक्टफुल डिजाईन की ओर बढ़ता देख हमने Indica और Indigo eCS के प्रोडक्शन को बंद करने का फैसला किया है, और ये एक कार की लाइफ साइकिल में काफी आम बात होती है. हम Indica और Indigo के कस्टमर्स को ज़रूरी सर्विस सपोर्ट के साथ सपोर्ट करना जारी रखेंगे.

रोड पर Indica eV2 और Indigo eCS की बड़ी तादात को देखते हुए आने वाले कई सालों तक स्पेयर पार्ट्स खरीदने में कोई दिक्कत नहीं आने वाली. और तो और, दोनों कार्स मुख्य रूप से कैब चालकों को बेचीं जाती हैं और उनके पास कार्स की मेंटेनेंस का अपना लोकल सिस्टम होता है. Indica को 1998 में लॉन्च किया गया था, वहीँ Indigo CS ब्रांड को 2002 में लाया गया था.

जगहदार, किफायती और कम रनिंग कीमत वाली ये गाड़ियाँ कैब फ्लीट्स की पहली पसंद रही हैं. लेकिन पर्सनल इस्तेमाल के लिए कार लेने वाले लोग Indica और Indigo eCS से दूर रहे हैं और उन्हें Tata Motors या दूसरे निर्माताओं के बेहतर मॉडल्स ज़्यादा पसंद आये हैं. Indica eV2 और Indigo eCS दोनों में 1.4-लीटर, CR4 टर्बोचार्ज्ड डीजल इंजन है जिसमें कॉमन रेल डीजल इंजेक्शन उपलब्ध है. ये इंजन लगभग 70 बीएचपी-140 एनएम का आउटपुट देता था. साथ ही एक 5-स्पीड मैन्युअल गियरबॉक्स स्टैण्डर्ड था. Tata Motors इंडिया के कुछ मार्केट्स के लिए इन कार्स को 1.2-लीटर पेट्रोल इंजन के साथ बेचती थी जिनमें CNG किट्स लगे होते थे.

दोनों कार्स को इंडिया में ही डेवेलोप किया गया था जिसके बाद Tata Motors और एडवांस्ड कार्स लेकर आई. अप्रैल 2018 में इन दो कार्स के प्रोडक्शन के बंद होने के साथ, ये सच में एक युग का अंत है.

वाया — ETAuto