Tata Harrier बनाम Mahindra XUV500: एक आम कार प्रेमी को कौन सी कार खरीदनी चाहिए 

अब जबकि Tata Motors की बहुप्रतीक्षित Harrier SUV के लॉन्च के समय में सिर्फ एक ही महीने का वक़्त बचा है तो हर कार प्रेमी जानना चाहता है कि 12 लाख-16 लाख की श्रेणी में सबसे बेहतरीन कार कौन सी है. यह एक कठिन फैसला है क्योंकि इस सेगमेंट में लोकप्रिय Mahindra XUV500 जैसी कार भी मौजूद है जो बरसों बाद आज भी बिक्री के मामले में अच्छा प्रदर्शन लार रही है. तो इन दो शानदार SUVs में से कौन सी होनी चाहिए आपकी पहली पसंद?

Harrier vs XUV500: आकार

वैसे तो XUV500 एक बड़ी SUV है पर लम्बाई और चौड़ाई के मामले में Harrier इसे बुरी तरह पटखनी दे देती है — फिर चाहें मुकाबला कांटे का ही क्यों ना रहा हो. मगर हमारी भी रूचि सिर्फ Harrier के आकार में ही नहीं है बल्कि इसका आकरामक स्टांस और स्टाइलिश फ्रंट भी XUV500 की चमक को फीका कर देता है. इसका यह मतलब नहीं कि XUV अब सड़क पर आकर्षण का केंद्र नहीं रही मगर Harrier इससे अधिक आकर्षक है. अगर इन कार्स के पिछले हिस्से की तुलना करें तो वहां भी यह बात सत्य साबित होती है. इन दोनों ही SUVs के साथ ड्यूल-एग्जॉस्ट नही उपलब्ध है.

Tata Harrier 19

हाँ, मगर Mahindra XUV में अपनी इस नयी प्रतिद्वंद्वी की तुलना में कही अधिक खूबसूरत अल्लो व्हील ज़रूर मौजूद हैं. तो अगर बात सिर्फ लुक्स और डिजाईन तक ही सीमित राखी जाए तो मुकाबला काफी टक्कर का है. हमारी मानें तो दोनों ही विकल्प बेहतरीन हैं पर Harrier आपकी शान में थोड़ा अधिक इजाफा अवश्य करेगी.

Harrier vs XUV500: इंटीरियर्स की बात

Tata ने अपनी नयी Harrier पेशकश के साथ केबिन डिजाईन के मामले में नया कीर्तिमान स्थापित किया है. यह इस कंपनी द्वारा अब तक की सभी पेशकशों में सबसे बेहतरीन है. इंटीरियर्स बनाने के लिए Tata ने प्रीमियम और लक्ज़री वस्तुओं का इस्तेमाल किया है और साथ में सेगमेंट में अब तक की सबसे बड़ा इंफोटेनमेंट सिस्टम भी उपलव्ध कराया है. इस कार में मौजूद सीट भी काफी आरामदायक हैं और साथ ही आपको इस कार में श्रेणी का सबसे बेहतरीन “टेरेन रेस्पोंस सिस्टम” फीचर भी मिलता है.

2018 New Mahindra Xuv500

मगर इस मामले में XUV500 भी किसी लिहाज़ से कम नहीं है. जहाँ इस कार की डिजाईन अब पुरानी हो चली है वहीँ इसमें मौजूद फीचर्स किसी भी कार प्रेमी का दिल जीत लेने के लिए पर्याप्त हैं. उदाहरण के लिए एक अंडर-आर्म कूल बॉक्स, सनरूफ, अनूठे टायर्स और मिरर. दोनों ही SUVs में जगह भी लगभग बराबर ही है मगर XUV में यात्रियों के लिए मौजूद तीसरी पंक्ति एक बड़ा अंतर है.

तो जहाँ Harrier नयी और मॉडर्न हैं वहीँ XUV के पास यात्रियों के लिए एक तीसरी पंक्ति है. अगर आपको ज़रा पुराने केबिन और औसत ऑडियो से कोई दिक्कत नहीं तो XUV आपको प्रसन्न रखेगी. और तो और, इसमें “एम्बिएंट लाइटिंग” फीचर भी है जिसकी Harrier में भारी कमी खलेगी और जो लम्बे सफ़र के लिए आवश्यक है.

Harrier vs XUV500: ड्राइव

आजकल हर कार प्रेमी अपनी सवारी को ऐसी जगह लेकर जाने की इच्छा रखता है जहाँ कोई दूजा गया ही ना हो. इसके साथ ही लगभग सभी ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन की सुविधा की भी तलाश में रहते हैं. यह एक क्षेत्र हैं जहाँ Harrier कमज़ोर पड़ती दिखाई देती है. XUV के बरक्स इस कार में विकल्प के तौर पर भी ऑटोमैटिक गियरबॉक्स या आल-व्हील ड्राइव मोड नहीं मिलता. फ़िलहाल तो इस कार से पेट्रोल इंजन भी नदारद ही है. वहीँ XUV में मौजूद 2.2-लीटर इंजन में समय के साथ-साथ अनेकों बदलाव किये गए हैं और यह Harrier की तुलना में कहीं ज्यादा पॉवर और टॉर्क पैदा करता है. इसके साथ ही इसमें आल-व्हील ड्राइव की मौजूदगी इसे ऑफ-रोडिंग के लिए भी बेहतरीन बनाती है.

Tata Harrier 26

मगर यदि आप मैन्युअल गियरबॉक्स के शौक़ीन हैं तो Harrier में मौजूद 2-लीटर डीजल इंजन आपके लिए सुखदायी होगा. बताते चलें कि Jeep Compass में भी इसी इंजन का इस्तेमाल किया गया है पर वहां यह थोड़ी अधिक पॉवर पैदा करता है. Harrier असल में राजमार्गों पर सरपट दौड़ने के लिए बनी है. मगर यह उतनी ही कुशलता से शहरों में ट्रैफिक का भी सामना कर सकती है. मगर जैसा की हमने कहाँ, इस कार का अभी बाज़ार में अपनी विश्वसनीयता स्थापित करना बाकी है. मेरी खुद की XUV फ़िलहाल 1.1 लाख किलोमीटर से ज्यादा चल चुकी है और अभी तक इसमें किसी भी प्रकार की कोई दिक्कत पेश नहीं आई है. इसके साह ही XUV में ईधन ले जाने की क्षमता ज्यादा है. तो इस तीसर चरण में भी XUV ही सिकंदर बनकर उभरी.

Harrier vs XUV500: राइड और हैंडलिंग

New Mahindra Xuv500 Vs Jeep Compass Images 3

यह एक महत्वपूर्ण हिस्सा है क्योंकि हम जानते हैं कि हर कार प्रेमी चाहेगा कि कम-से-कम इस मामले में तो उसकी कार में किसी प्रकार का समझौता ना ही किया गया हो. यह एक ऐसा क्षेत्र हैं जहाँ XUV जल्द लॉन्च होने जा रही Harrier की परछाईं भी नहीं है. इस कार को Tata ने D8 Land Rover प्लेटफार्म से प्रेरणा लेकर बनाया है और यह कार हैंडलिंग के मामले में अभूतपूर्व है. देखने में यह अधिक वज़नदार ज़रूर प्रतीत हो सकती है पर मोड़ पर काफी तेज़ गति से अपनी दिशा बदल सकती है और साथ ही चालक का भी आत्मविश्वास बढ़ाती है. इसी तरह उच्च-गति पर भी इस कार को चलाना एक आरामदायक अनुभव है और इसे सड़क पर मौजूद अड़चनों से कुछ ख़ास तकलीफ नहीं होती.

2018 Mahindra Xuv500 Facelift Photos 1

दूसरी तरफ XUV भी इस मामले में ख़राब नहीं है पर Harrier की तो बात ही कुछ और है. अगर आप इन दोनों मॉडल के 4×2 संस्करणों पर नज़र डालेंगे तो पाएंगे कि Harrier यहाँ पर भी अपने “टेरेन रेस्पोंस सिस्टम” के ज़रिये बाज़ी मार लेती है. मैंने इस कार को “रफ़ मोड” में चलाया और पाया कि इसमें “पॉवर ट्रान्सफर” काफी बेहतरीन है. तो हमारे विचार में आल-व्हील ड्राइव सिस्टम के साथ भी Harrier ऑफ-रोडिंग के लिए एक बेहतरीन विकल्प है. तो इस चरण में भी Harrier ही विजेता के तौर पर उभरती है.

Harrier vs XUV500: निर्णय

Harrier 3

यहाँ यह बात ध्यान में रखिये कि हम केवल साधाराण कार प्रेमी के नज़रिए से यहाँ इन SUVs को अंक रहे हैं. जहाँ अभी Harrier की कीमत के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है, हमें उम्मीद हैं कि यह कार भारतीय बाज़ार में 12 लाख रूपए की कीमत से शुरू होगी. यह अपनी बेहतरीन DRLs के साथ सड़क पर किसी परी की तरह लगती है और हैंडलिंग के मामले में भी बेहतरीन है. कोई भी कार प्रेमी सर्वप्रथम इन्ही फीचर्स को किसी भी नयी गाड़ी में तलाशता है. अगर ऑटोमैटिक गियरबॉक्स या आल-व्हील ड्राइव मोड से आपको कोई ख़ास प्यार नहीं तो Harrier आपके लिए ही बनी है. यहीं हमारा अंतिम फैसला है.