Advertisement

Tata Harrier & Safari ने MG Hector और Hector Plus को एक बार फिर हराया

Tata ने इस साल Safari को वापस लाया और कुछ आलोचनाओं के बावजूद भारतीय बाजार में इसकी अच्छी बिक्री हो रही है। डीलरशिप पर डिस्पैच के मामले में Safari और Harrier ने MG Hector और Hector Plus को पछाड़ दिया है। भारतीय बाजार में एक नया प्रतियोगी भी है जिसे Hyundai Alcazar के नाम से जाना जाता है जिसने MG Hector और Hector Plus को भी पछाड़ दिया और दूसरा स्थान प्राप्त किया जबकि तीसरे स्थान पर Tata Harrier थी।

Tata Motors ने मई’21 में Safari की 1,536 इकाइयां बेचीं, जबकि अप्रैल’21 में प्रेषण की मात्रा 1,514 थी। यानी 1.45 फीसदी की वृद्धि। Safari की बाजार हिस्सेदारी अप्रैल’21 में 21.83 प्रतिशत से बढ़कर मई’21 में 24.86 प्रतिशत हो गई। बाजार हिस्सेदारी में 3.03 प्रतिशत की वृद्धि हुई।

हैरानी की बात यह है कि मई 21 में 1,360 इकाइयों के साथ हुंडई अलकज़ार दूसरे स्थान पर थी। इससे उसे 22.01 प्रतिशत बाजार हिस्सेदारी हासिल करने में मदद मिली। यह एक आने वाली एसयूवी के लिए एक बहुत अच्छी शुरुआत की तरह लगता है जो अभी तक बाजार में लॉन्च नहीं हुई है।

Tata Motors ने मई’21 में Harrier की 1,360 इकाइयाँ भी बेचीं जो कि अप्रैल’21 की बिक्री संख्या से 352 इकाई कम है जहाँ निर्माता ने 1,712 इकाइयाँ बेचीं। इसमें 20.56 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। Harrier की बाजार हिस्सेदारी में भी 2.67 फीसदी की गिरावट आई है। बाजार हिस्सेदारी 24.68 फीसदी से गिरकर 22.01 फीसदी पर आ गई। इसके बावजूद Harrier तीसरे स्थान पर रही।

चौथे स्थान पर MG Hector और Hector Plus हैं। अप्रैल ’21 में, MG ने 2,147 इकाइयाँ बेचीं, जबकि मई’21 में, उन्होंने 1,2331 इकाइयाँ बेचीं। यह 42.66 प्रतिशत की कमी दर्शाता है। इससे MG Hector दोनों की मार्केट शेयर भी गिर गई। अप्रैल’21 में Hector दोनों की बाजार हिस्सेदारी 30.95 प्रतिशत थी जो अब मई’21 में गिरकर 19.92 प्रतिशत हो गई है।

Jeep ने Compass का फेसलिफ्ट भी लॉन्च किया। हालांकि डिस्पैच के आंकड़े में 43.85 फीसदी की गिरावट आई है। अप्रैल’21 में, 846 इकाइयां भेजी गईं जबकि मई’21 में केवल 475 इकाइयां भेजी गईं। की बाजार हिस्सेदारी में भी 4.51 प्रतिशत की कमी आई। बाजार हिस्सेदारी 12.20 प्रतिशत हुआ करती थी जो मई,21 में 7.69 प्रतिशत है। Compass अपने प्रतिद्वंद्वियों की तुलना में सबसे प्रीमियम एसयूवी है। जिसके कारण बहुत से लोग इसे नहीं चुनते हैं।

छठे स्थान पर Mahindra XUV 500 है। XUV 500 के लिए प्रेषण के आंकड़े अप्रैल में 717 इकाइयों से गिरकर मई 21 में सिर्फ 217 इकाई रह गए हैं। XUV 500 की बाजार हिस्सेदारी में भी 6.83 फीसदी की गिरावट आई है। बाजार में हिस्सेदारी 10.34 फीसदी हुआ करती थी जो अब महज 3.51 फीसदी है। ऐसा इसलिए है क्योंकि XUV 500 इस सेगमेंट में सबसे पुरानी है. Mahindra ने पहले ही घोषणा कर दी है कि वे XUV 500 को बंद कर देंगे और उन्होंने XUV 500 की एक नई पीढ़ी पर काम करना शुरू कर दिया है। यह एक सही कदम है क्योंकि XUV 500 का डिजाइन बूढ़ा हो रहा है और एसयूवी अपने जीवनचक्र के अंत के करीब है। .

XUV 700 नाम की एक और प्रीमियम SUV अगस्त-अक्टूबर की समय सीमा में लॉन्च होने वाली है। XUV 700 का मुकाबला Tata Safari, Hyundai Alcazar और MG Hector Plus से होगा। इसे 2.0-लीटर पेट्रोल और 2.2-लीटर डीजल इंजन के साथ पेश किया जाएगा। दोनों इंजनों को 6-स्पीड मैनुअल गियरबॉक्स या 6-स्पीड टॉर्क कन्वर्टर ऑटोमैटिक गियरबॉक्स के साथ पेश किया जाएगा। प्रतिस्पर्धा की तुलना में XUV 700 की कीमतें थोड़ी अधिक होंगी।

Via रशलेन