Royal Enfield Thunderbird के पेट्रोल टैंक को 5 मिनट में मिला नया रंग

कार्स और बाइक्स को अलग लुक्स देने के लिए इन पर अलग-अलग किस्म के आवरण चढ़ाने का प्रचलन यानि “रैप-जॉब” दिन-पर-दिन लोकप्रिय होता जा रहा है. यह सामान्य पेंट-जॉब का विकल्प बन चुका है. यह इस कारण कि गाड़ी पर आवरण चढ़ाने में पूरी गाड़ी के पेंट-जॉब से अपेक्षाकृत कम मेहनत और कम समय लगता है. साथ ही इस आवरण को गाड़ी का मालिक जब चाहे उतार सकता है लेकिन पेंट के मामले में यह मुमकिन नहीं है. आज हम आपके लिए लाए हैं एक वीडियो जो गाड़ी पर आवरण चढ़ाने यानि “रैप-जॉब” की उपयोगिता को दर्शाता है.

Zra Hatke Vlogs द्वारा बनाए गए इस वीडियो में आप एक Royal Enfield बाइक की तेल की टंकी पर एक पारदर्शी प्लास्टिक की झिल्ली को चढ़ाए जाते हुए देख सकते हैं. इस बारे में चर्चा आगे बढाए जाने से पहले आइए इस वीडियो पर नज़र डाल लेते हैं.

जैसा कि आप वीडियो में देख सकते हैं, बाइक की तेल की टंकी पर एक पारदर्शी प्लास्टिक की झिल्ली चढ़ाई जा रही है. इस बाइक पर अन्य अधिकांश “रैप-जॉब” से विपरीत आवरण चढ़ाने का काम इसकी खूबसूरती बढ़ाने के लिए नहीं किया गया है. इस पारदर्शी प्लास्टिक की झिल्ली का काम तेल की टंकी की सतह को ज़ंग से बचाना है. इस पेट्रोल टैंक पर पारदर्शी प्लास्टिक कि झिल्ली के चढ़ाए जाने के बाद बारिश, वायु-प्रदूषण आदि अन्य अनेकों कारणों के चलते धातु पर लगने वाले ज़ंग से अब यह सुरक्षित है. साथ ही यह प्लास्टिक की पारदर्शी झिल्ली इस पेट्रोल टैंक की सतह को खूबसूरत चमक प्रदान कर रही है जो इसका एक अतिरिक्त फायदा है.

इस प्लास्टिक की झिल्ली को पेट्रोल टैंक पर चढ़ाने की प्रक्रिया में पहले तो झल्ली को टैंक पर करीने से रखा जाता है. इसके बाद एक गर्मी पैदा करने वाले यंत्र — जिसे “हीट-गन” कहते हैं — के इस्तेमाल से इस पारदर्शी प्लास्टिक की झिल्ली को पेट्रोल-टैंक की सतह पर सावधानी से चिपका दिया जाता है. इसके बाद टैंक की सतह और प्लास्टिक की झिल्ली के बीच फसे रह गए हवा के बुलबुलों को एक बबल-रिमूवर नाम के यंत्र से बाहर निकाला जाता है. इस प्रक्रिया को अनेकों बार तब तक दोहराया जाता है जब तक सटीक फिनिश हासिल नहीं हो जाती. इसके बाद एक बहुत तेज़ धार वाले ब्लेड की सहायता से ज़रूरी हिस्सों से प्लास्टिक को काट कर अलग किया जाता है खासकर पेट्रोल-टैंक के ढक्कन के ऊपर से.

Royal Enfield Tank

इस वीडियो में उपयोग में लाई गई बाइक Royal Enfield Thunderbird 350X है. Thunderbird 350 X में एक 346-सीसी, कारबोरेटेड, सिंगल-सिलेंडर, एयर-कूल्ड इंजन लगा है जिसका उपयोग सामान्य Thunderbird 350 में भी किया जाता है. यह इंजन 19.8 बीएचपी पॉवर और और 28 एनएम की अधिकतम टॉर्क पैदा करता है. इस इंजन के साथ एक 5-स्पीड गियरबॉक्स लगा आता है और हाल ही में इस बाइक को ABS से भी लैस किया गया है. इस बाइक का ABS से लैस संस्करण इसके बिना ABS वाले संस्करण से लगभग 15,000 रूपए महंगा है. Thunderbird X का एक 500 सीसी संस्करण भी बाज़ार में उपलब्ध है जो 27.2 बीएचपी पॉवर और 41.3 एनएम टॉर्क पैदा करता है. यह वही इंजन है जिसका उपयोग Royal Enfield की अन्य 500 सीसी बाइक्स में होता है.

Royal Enfield की Thunderbird ‘X’ सीरीज़ इसके सामान्य मॉडल से कम ताम-झाम वाली और अधिक स्टाइलिश है. इस बाइक को औसत शहरी यातायात में चलाने के हिसाब से निर्मित किया गया है और साथ ही इस बाइक की सीटिंग पोजीशन और हैंडलबार्स की बनावट आरामदायक राइड प्रदान करने वालीं हैं. कम्पनी X सीरीज़ को नारंगी और लाल जैसे कई अन्य युवा रंगों को उपलब्ध करवा रही है. Thunderbird के सभी संस्करणों में 2020 में Bharat Stage 6 उत्सर्जन नियमों के लागू किए जाने से पहले एक बड़ा बदलाव किये जाने की संभावना है.