Royal Enfield Motorcycles: 10 Facts About Bike's Legacy! Royal Enfield Motorcycles: 10 बातें जो आप नहीं जानते!

Royal Enfield Motorcycles: 10 बातें जो आप नहीं जानते!

दुनिया की सबसे पुरानी प्रोडक्शन बाइक

जैसा की आप में से कई लोगों ने अंदाजा लगा लिया होगा ये Bullet 350 है. ये मोटरसाइकिल पहली बार 1931 में लॉन्च की गयी थी और तब से लेकर अब तक 87 साल बीत गए हैं. ये बाइक पहली बार UK के बाज़ार में 1931 में लॉन्च की गयी थी. 1951 में Bullet इंडिया आई और यहाँ से शुरू हुआ Royal Enfield का सफ़र. दुनिया में कोई और मोटरसाइकिल इतना नहीं चली है. ये बात आज के दुनिया में भी इस बाइक की फैन फ़ॉलोविंग को दर्शाती है.

लेकिन Royal Enfield सिर्फ मोटरसाइकिल्स के बारे में नहीं है

मोटरसाइकिल बिज़नस में आने से पहले Royal Enfield लॉन मोवर बनाया करती थी. हाँ, आपने सही सुना. और Royal Enfield आर्म्स बिज़नस में भी था बाद में उसी से प्रेरित होकर “Made like a gun” टैगलाइन का इस्तेमाल किया गया था. कंपनी ने आर्मी को राइफल्स और स्पोर्टिंग गन्स सप्लाई किये थे. वो स्टिल इंजन बिज़नेस में भी थी.

नहीं, वो हाथ से नहीं बनते

भले ही वो विंटेज दिखें, Royal Enfields को आधुनिक असेंबली लाइन्स पर रोबोट के इस्तेमाल से बनाया जाता है. 2014 के पहले कुछ Royal Enfield मोटरसाइकिल्स को हाथों से अस्सेम्ब्ल किया जाता था लेकिन 2014 के बाद से पेंटिंग से लेकर असेंबली तक, सब कुछ मशीन से की जाती है. लेकिन, Bullet के टैंक पर पिनस्ट्राइप हाथों से पेंट की जाती है. इंडिया में Royal Enfield के शुरुआत के समय से ही ये काम एक पेंटर्स के परिवार द्वारा किया जाता है.

Interceptor 650 उनकी सबसे बड़ी बाइक नहीं है

इस कंपनी ने पहले बाज़ार में बड़ी बाइक्स लॉन्च की थीं. और भी कई इंजन ऑप्शन्स के साथ ही Royal Enfield इंटरनेशनल मार्केट में 1,000 सीसी V-Twin इंजन बेचती थी. इंडिया में ये ब्रांड 1970 के दशक में एक 650 सीसी V-Twin और एक 700 सीसी V-Twin बेचा करती थी, लेकिन उनके पॉपुलैरिटी में कमी के चलते उनका उत्पाद बंद हो गया.

उनके पास Splendor से ज्यादा माइलेज देने वाली बाइक थी!

हाँ ये बात सच है और ये डीजल से चलने वाली Taurus नाम की बाइक थी. इसका 325 सीसी, सिंगल-सिलिंडर डीजल इंजन 6.5 बीएचपी और 15 एनएम उत्पन्न करता था. इसका लो-रेव इंजन मार्केट में 12 लम्बे सालों तक था लेकिन अब ये रोड्स पर ज्यादा दिखाई नहीं देते. इस बाइक की असल माइलेज 70 किमी/लीटर से ज्यादा थी!

Royal Enfield अब UK में भी एक्सपोर्ट करती है

Royal Enfield UK की एक कंपनी थी जिसे दिवालिया होने के बाद बंद कर दिया गया. इसके इंडियन डिवीज़न ने Royal Enfield का नाम 1999 में खरीद लिया और इसे इस्तेमाल करने लगी. कई कानूनी लडाइयां लड़ी गयीं उसके बाद Royal Enfield को नाम का अधिकार मिल गया. अब ब्रांड ने अपना बाज़ार फैला लिया है और ये UK के साथ ही दुनिया भर में बाइक्स एक्सपोर्ट करती है.

आर्मी का सप्लायर!

Royal Enfield तीन अलग देशों के आर्मी को मोटरसाइकिल सप्लाई किया करती थी. British Army को सप्लाई करने से पहले Royal Enfield रूस के आर्मी को मोटरसाइकिल्स सप्लाई किया करती थी. इसने इंडियन आर्मी को 1950 के दशक में मोटरसाइकिल्स सप्लाई करना शुरू किया और अब इंडिया में ऐसी हज़ारों बाइक्स हैं. कई आर्मी के जवान अभी भी इस मोटरसाइकिल को इस्तेमाल करते हैं.

Royal Enfield सबसे पुरानी निर्माता है

Harley-Davidson से भी ज्यादा पुरानी. Enfield ने अपना मोटरसाइकिल कारोबार 1901 में शुरू किया वहीँ Harley-Davidson ने अपना पहला प्रोडक्ट 1905 में लॉन्च किया था. Royal Enfield के इंडिया के सेल्स Harley-Davidson के ग्लोबल सेल्स को पीछे छोड़ देते हैं. दोनों ब्रांड को देखते हुए, ऐसा नहीं लगता है की इनमें से कोई भी बंद होने वाला है.

India की पहली कमीशंड मोटरसाइकिल

Royal Enfield को इंडियन आर्मी में 1955 में कमीशन किया गया था. भारत सरकार ने Royal Enfield के बाइक्स के 800 यूनिट आर्डर किये थे और फिर इस ब्रिटिश कंपनी ने Madras Motors of India के साथ पार्टनरशिप में इंडिया में एक असेंबली प्लांट सेटअप किया था. Redditch कंपनी के लाइसेंस के तहत उन्होंने पहले Bullet 350 अस्सेम्ब्ल की थी और बाद में उन्होंने Bullet 500 भी अस्सेम्ब्ल की.

4-स्ट्रोक में लीडर

Royal Enfield पहले नयी तकनीक की खोज में काफी आगे हुआ करती थी. 1924 में कंपनी ने पहला 4-स्ट्रोक 350 सीसी सिंगल सिलिंडर इंजन लॉन्च किया था. इंडिया को Royal Enfield Bullet 350 के रूप में अपनी पहली 4-स्ट्रोक बाइक मिली थी.

×

Subscibe our Newsletter