Royal Enfield Continental GT 650 dyno test: Does the Bike's Numbers Hold True? Royal Enfield Continental GT 650 का डाईनो टेस्ट: क्या बाइक्स आंकड़ों पर खरी उतरती है?

Royal Enfield Continental GT 650 का डाईनो टेस्ट: क्या बाइक्स आंकड़ों पर खरी उतरती है?

भारतीय मोटरसाइकल निर्माता Royal Enfield ने इस महीने की शुरुआत में अपनी बिल्कुल नई 650 ट्विन्स को भारत में लॉन्च किया था. Continental GT 650 और Interceptor 650 दोनों ही मोटरसाइकिल्स में एक समान 648 सीसी पैरेलल ट्विन इंजन लगा है. अब जब  Royal Enfield ने इन मोटरसाइकलों के आधिकारिक पॉवर और टॉर्क के आंकड़े सामने रख दिए हैं, Cycle World ने Continental GT 650 को एक डाईनो टेस्ट से गुज़ार इन आंकड़ों की परीक्षा लेने का निर्णय किया है.

Cycle World के इस वीडियो में मोटरसाइकल को डाईनो पर चढ़ाया जाता है. डाईनो पर चढ़ा इस बाइक को राइड कर रहा राइडर बाइक का एक्सीलीरेटर घुमाता है और Continental GT 650 रोलिंग रॉड पर पूरे रेव पर चलने लगती है और ऐसे शुरू होती है इस बाइक के सबसे ज़रूरी प्रासंगिक ब्यौरों को जांचने की प्रक्रिया. Continental GT 650 के व्हील पर जो अंतिम आंकड़े सामने आए वो हैं 6,840 आरपीएम पर 44.36 बीएचपी और 5,100 आरपीएम पर 51.91 एनएम टॉर्क. ये दोनों आंकड़े व्हील पर हैं.

Royal Enfield के अनुसार Continental GT 650 में एक आयल और एयर कूल्ड फ्यूल इन्जेक्टेड इंजन लगा है. इसके पैरेलल ट्विन इंजन को एक 6-स्पीड गियरबॉक्स से जोड़ा गया है. Royal Enfield के आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार Continental GT 650 का SOHC पैरेलल ट्विन इंजन 7,250 आरपीएम पर 47 बीएचपी पॉवर और 5,250 आरपीएम पर 52 एनएम टॉर्क पैदा करता है. Royal Enfield का यह भी दावा है कि इस इंजन द्वारा उत्पन्न होने वाला 80 प्रतिशत टॉर्क बहुत ही निचले स्तर के 2500 आरपीएम पर उत्पन्न होता है.

इस इंजन में एक सिंगल पीस, भारी बैलेंसर शाफ़्ट लगा है जो 270-डिग्री फायरिंग एंगल पर फायर कर बाइक में पैदा होने वाली अधिकतर कम्पन को कम कर देता है. ये एक ऐसी समस्या थी जिससे इस ब्रैंड की सिंगल सिलेंडर मोटरसाइकलें त्रस्त थीं.

Re Cgt 650 Dyno Featured

भले ही इस बाइक के डाईनो टेस्ट के नतीजे Royal Enfield द्वारा घोषित किए गए आंकड़ों से भिन्न हैं लेकीन यह इस बाइक के संभावित ग्राहकों के लिए कोई घबराने वाली बात नहीं है. Cycle World के डाईनो टेस्टिंग के बाद दिए गए आंकड़ों को व्हील्स पर मापा गया था वहीं Royal Enfield के द्वारा घोषित किये गए पॉवर और टॉर्क के आंकड़ों को क्रैंक पर मापा गया है.

चूंकि क्रैंक से व्हील पर आते-आते पॉवर में 10 प्रतिशत की कमी आ जाती है, Cycle World और Royal Enfield के द्वारा दिए गए आंकड़े मेल खाते हैं. लेकिन हमारे लिए यह तथ्य एक पहेली सा है कि टेस्टिंग के दौरान Continental GT 650 की अधिकतम पॉवर कंपनी द्वारा दिए गए आंकड़े से 500 कम आरपीएम पर पैदा हो रही थी. ऐसे में या तो यह एक गड़बड़ी है या विसंगति या फिर Continental GT 650 अपने मालिक को उपलब्ध पॉवर का त्वरित संचार मुहैय्या कराना चाहती है.

कुल मिला कर Royal Enfield Continental GT 650 के डाईनो टेस्ट में सामने आये आंकड़े बेहद प्रभावशाली हैं. पहले Royal Enfields द्वारा अपने द्वारा उत्पन्न होने वाली कुल पॉवर को क्रैंक से व्हील तक पहुँचाने में 30 प्रतिशत की क्षति आम बात थी. लेकिन अब कंपनी ने ताकत के इस क्षय को 10 प्रतिशत तक सीमित कर दिया है जो एक बहुत बड़ा सुधार कहा जा सकता है. ये बात दर्शाती है की ये बाइक्स इतनी तेज़ कैसे हैं.

जिन भी लोगों ने Royal Enfield Interceptor 650 और Continental GT 650 मोटरसाइकलों की राइड ली है उनमें से लगभग सभी के मुंह पर इनकी तारीफ़ के सिवाय कुछ भी नहीं है. इन नई बाइक्स में मौजूदा Royal Enfield मोटरसाइकल के मुकाबले में किए गए बड़े सुधारों के चलते उम्मीद है कि ये बाइक्स ज्यादा से ज्यादा कस्टमर्स को आकर्षित करेंगी. इन बाइक्स की बेहद प्रतियोगी कीमतें भी ये काम करने में सहायता करेंगी. इनकी बुकिंग्स शुरू हैं लेकिन इन्हें पाने के लिए आपको अगले साल की शुरुआत का इंतज़ार करना पड़ेगा.

×

Subscibe our Newsletter