Royal Enfield Bullet ‘Patakha’ आपको जेल पहुंचा सकता है, पढ़ें क्यों

गुड़गाँव पुलिस ने Royal Enfield Bullet मोटरसाइकिल पर सवार तीन नौजवानों को अपने मोटरसाइकिल के साइलेंसर से “पटाखे” की आवाज़ निकालने के लिए गिरफ्तार कर लिया है. ये तीनों नौजवान शुक्रवार को सोहना में साइलेंसर से ‘ब्लास्ट’ करने की वजह से गिरफ्तार किये गए थे. ये पहली बार हुआ है की इस असानी से नज़रंदाज़ कर दिए जा रहे अपराध पर किसी को गिरफ्तार किया गया हो.

पुलिस के मुताबिक़ इन गिरफ्तारियों से उन सभी बाइकर्स को संदेश जाएगा जो ध्यान आकर्षित करने के लिए तेज़ आवाज़ वाले साइलेंर्स का इस्तेमाल करते हैं और पब्लिक रोडस पर स्टंट्स करते हैं. गुडगाँव के पास के विभिन्न गाँवों के रहने वाले इन तीनों युवकों के खिलाफ IPC के Section 160 के तहत Sohna City पुलिस स्टेशन में FIR दर्ज हो चुकी है. पुलिस ने Gajender की उस Royal Enfield Bullet मोटरसाइकिल को भी ज़ब्त कर लिया है. मालूम पड़ता है कि Gajender ने ये बाइक अपने किसी दोस्त से उधार ली थी. इन तीनों लड़कों को शनिवार के दिन बेल पर छोड़ दिया गया.

पुलिस के अनुसार इन तीनों लड़कों को शुक्रवार लगभग दोपहर 3:15 पर हिरासत में लिया गया था. ये तीनों दूसरे रोड यूज़र्स को परेशान कर रहे थे. ASI Om Prakash ने कहा, “ये खतरनाक तरीके से बाइक चला रहे थे और बम जैसी आवाजों से औरों को परेशान करने के साथ अशांति फैला रहे थे. हम बाइकर्स का जूनून अच्छी तरह समझते है पर सड़कों पर किसी भी प्रकार का हंगामा कतई बर्दाश्त नहीं किया जायेगा. इसलिए हमें एक्शन लेना पड़ा. हमने इनकी बाइक्स भी ज़ब्त की हैं जो कोर्ट के आर्डर पर ही रिहा की जाएँगी.”

सेक्टर 5 के निवासी और वकील Sanjay Nasa ने कहा, “ऐसी आवाजें दूसरे कम्यूटर्स को चौंका देती हैं और ये किसी दुर्घटना का कारण भी बन सकती हैं. युवाओं को ऐसी हरकतें करने से रोकना चाहिए. तेज़ रफ़्तार से चलती और पटाखे की आवाज़ निकालती बाइकस का शहर की सड़कों और NH-8 पर दिख जाना आम बात है. पुलिस को ऐसा करने वालों के खिलाफ सख्त कदम लेना चाहिए.” ट्रैफिक पुलिस के एक कर्मी ने कहा “साइलेंसर से शोर मचाना Motor Vehicle Act के अनुसार दंडनीय अपराध है, पर प्रॉब्लम तब आती है जब हम अपराधी को ऐसा करने पर हिरासत में लेते हैं. हमारी अपर्याप्त टेक्निकल समझ और सबूत की कमी के कारण उनका अपराध साबित नहीं हो पाता. अपराधी इस कानूनी खामी का फायदा उठाते हैं.”

इस मुद्दे पर बोलते हुए, DCP (ट्रैफिक) Deepak Gahlawat ने बताया कि तेज़ आवाज़ वाले साइलेंर्स एक बड़ी समस्या हैं और पुलिस इस समस्या को समाप्त करने की कोशिश में अपराधियों के चालान कर रही है. उन्होंने ये भी कहा, “हम इसके पीछे के मैकेनिज्म को समझने के लिए मैकेनिक्स की मदद लेने की सोच रहे हैं. पर आज से अगर राइडर्स ने किसी तरह का ध्वनि प्रदूषण किया तो हम बाइक्स को ज़ब्त कर लेंगे.”

वाया TOI