आखिर क्यों कस्टमर्स Honda City के पेट्रोल और Hyundai Verna के डीजल वर्शन को ही खरीद रहे हैं?

Honda City और Hyundai Verna मार्केट में दो सबसे पॉपुलर C-सेगमेंट सेडान्स हैं. दोनों ही सेडान्स में काफी कुछ ऑफर होता है और इनकी काफी बड़ी फैन-फॉलोविंग है. लेकिन, लेटेस्ट डाटा के मुताबिक़ एक रोचक ट्रेंड सामने आया है. जहां Honda City के टोटल सेल्स में पेट्रोल की 70% की हिस्सेदारी है, Hyundai Verna के 60% कस्टमर्स डीजल वैरिएंट चुनते हैं. इस पोस्ट में हम आपको इस ट्रेंड के पीछे का कारण बताते हैं–

Honda City

बेहतरीन रिफाइंमेंट – Honda City का 1.5-लीटर iVTEC पेट्रोल इंजन ने अपने हाई रिफाइंमेंट के लिए बहुत सुर्खियाँ बटोरी हैं. ये इस सेगमेंट का सबसे रिफाइंड मोटर है और इसके NVH लेवल काफी कम हैं. वहीँ दूसरी ओर, 1.5-लीटर iDTEC डीजल इंजन को उसके हाई NVH लेवल के लिए काफी आलोचना झेलनी पड़ी है. इसलिए मूलतः पेट्रोल City अपने डीजल इंजन वर्शन से ज़्यादा रिफाइंड कार है.

परफॉरमेंस और माइलेज का अच्छा मिश्रण – City के 1.5-लीटर iVTEC पेट्रोल इंजन में अधिकतम 117 बीएचपी का पॉवर और ARAI के हिसाब से 17.4 किमी/लीटर की माइलेज मिलती है. इसकी तुलना में डीजल City में सिर्फ 99 बीएचपी का पॉवर मिलता है. जहां इसमें आपको 25.6 किमी/लीटर का माइलेज मिलता हाउ दोनों इंजन के अधिकतम पॉवर के बीच बड़ा अंतर आ जाता है. इसलिए ऐसे लोग जो पॉवर की तलाश में हैं वो डीजल की जगह पेट्रोल वैरिएंट चुन लेते हैं. सच बात ये है की इन दोनों की माइलेज के बीच बड़ा अंतर है लेकिन पेट्रोल और डीजल के बीच का अंतर तेज़ी से घाट रहा है और ऐसे लोग जो कार्स को ज़्यादा चलाते हैं वही डीजल कार के लिए ज़्यादा कीमत चुकाने को तैयार हैं.

ऑटोमैटिक की सहूलियत – Honda City के 1.5-लीटर पेट्रोल इंजन में 5-स्पीड मैन्युअल ट्रांसमिशन स्टैण्डर्ड होता है. लेकिन, ऐसे लोग जो ऑटोमैटिक गियरशिफ्ट की सहूलियत चाहते हैं वो CVT वैरिएंट चुन सकते हैं. इसकी तुलना में, डीजल इंजन वैरिएंट सिर्फ मैन्युअल ऑप्शन के साथ उपलब्ध है. ये एक दूसरी बात है जो पेट्रोल इंजन के पक्ष में जाती है.

एंट्री लेवल ट्रिम में उपलब्ध – Honda City के पेट्रोल वैरिएंट की कीमत 8.72 लाख रूपए से शुरू होती है. वहीँ दूसरी ओर, डीजल रेंज 10.99 लाख रूपए से शुरू होती है. कीमत में इतना अंतर इस बात के चलते है की डीजल इंजन एंट्री-लेवल S ट्रिम में उपलब्ध है. इसलिए ऐसे लोग जिनका बजट टाइट है वो इसका बेस मॉडल खरीदना पसंद करते हैं. डीजल इंजन में ये ऑप्शन नहीं मिलता. इसलिए, ये एक दूसरा फैक्टर है जो पेट्रोल वर्शन के पक्ष में काम करता है.

Hyundai Verna

बढ़िया परफॉरमेंस – Hyundai Verna डीजल में 126 बीएचपी और 260 एनएम उत्पन्न होता है जो इस सेगमेंट में सबसे ज्यादा है. इसलिए ऐसे लोग जो सीधा परफॉरमेंस चुनना चाहते हैं वो डीजल Verna चुनते हैं.

ज़्यादा माइलेज – Verna डीजल में ARAI के मुताबिक़ 24.75 किमी/लीटर की माइलेज मिलती है और ये Verna पेट्रोल के 17.7 किमी/लीटर से ज़्यादा है. इसलिए, आप ज़्यादा परफॉरमेंस के साथ लो रनिंग कॉस्ट का फायदा भी उठा सकते हैं.

ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन – Verna डीजल इस सेगमेंट की गिनी-चुनी कार्स में से है जिसमें ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन मिलता है. पेट्रोल Verna में भी ऑटोमैटिक का ऑप्शन उपलब्ध है. लेकिन, ऐसे लोग जो एक पावरफुल कार और उसकी कम रनिंग कॉस्ट के पीछे हैं वो आँख मूँद कर Verna डीजल ऑटोमैटिक खरीद सकते हैं.

हाई रिफाइंमेंट – Honda City के 1.5 iDTEC डीजल इंजन के उलट Verna का 1.6-लीटर CRDi डीजल इंजन ज़्यादा रिफाइंड है. ये एक बेहद स्मूथ इंजन है और इसके NVH लेवल भी काफी लो हैं. इसलिए, कस्टमर्स Verna के पेट्रोल वर्शन की जगह डीजल वर्शन लेना ज़्यादा पसंद करते हैं.

सोर्स — ET Auto