पेश है भारत की सबसे पावरफुल Jeep Compass…

Jeep Compass भारत में Jeep ब्रैंड का सफलतम मॉडल है. Jeep ब्रैंड की सबसे किफायती SUV को भारत में आए एक लम्बा समय हो गया है और इसने बाज़ार में अच्छी खासी लोकप्रियता अर्जित कर ली है. आपको भारतीय बाज़ार में Jeep Compass के अनेकों मॉडिफाइड उदाहरण देखने को मिलेंगे लेकिन यहां प्रस्तुत किया जा रहा ये उदाहरण बाकी सब के पसीने छुड़ाने के लिए काफ़ी है.

सबसे पावरफुल Jeep Compass

Compass Power

पेट्रोल कार्स कि तुलना में Diesel कार्स की री-ट्यूनिंग बेहद आसान होती है. प्लग-इन ट्यूनिंग बॉक्स और ECU रीमैप्स जैसे उपकरणों कि मदद से डीज़ल इंजन कि पॉवर को बिना किसी समस्या के बढ़ाया जा सकता है. यहां पेश है एक ऐसी ही मॉडिफाइड Jeep Compass जिसके ECU को रीमैप किया गया है जिस वजह से इस गाड़ी कि पॉवर में अच्छा खासा इज़ाफा हुआ है.

पोस्ट के अनुसार इस तस्वीर में दिख रही Jeep Compass 210 बीएचपी की अधिकतम पॉवर और 425 एनएम का अधिकतम टॉर्क पैदा करती है. स्टॉक Jeep Compass के डीज़ल वर्शन में एक 2.0-लीटर मल्टिजेट II इंजन लगा है जो 173 बीएचपी की अधिकतम ताकत और 350 Nm की अधिकतम टॉर्क पैदा करता है.

इस Compass के ECU को ऊंचे स्तर की परफॉरमेंस के लिए रीमैप किया गया है जिसके चलते इस गाड़ी की पॉवर और टॉर्क में 21% का इज़ाफा हुआ है. ऐसे ECU रीमैप्स से गाड़ी कि पॉवर में तो इज़ाफा हो जाता है लेकिन गाड़ी की माइलेज गिर जाती है. इस गाड़ी की ट्यूनिंग का काम Wolf Moto ने किया है और इसके रीमैप और स्टॉक मैप में अदला-बदली सम्भव नहीं है. जिसका मतलब ये हुआ कि अगर इसके इंजन को अपनी स्टॉक अवस्था पर वापस ले जाना हो तो इसे फिर ट्यून करना होगा.

जहाँ एक ओर इस किस्म के रीमैप्स गाड़ी की पॉवर को तो अच्छा ख़ासा बढ़ा देते हैं लेकिन ये गैरकानूनी होते हैं. भारतीय पुलिस उपकरणों के अभाव के चलते गाड़ियों में कीं गयीं इस किस्म की मॉडिफिकेशन को नहीं पकड़ सकती लेकिन सर्विस सेंटर सर्विस के लिए आई हुई इस किस्म की गाड़ी को आसानी से भांप लेते हैं. अगर सर्विस सेंटर ऐसी किसी गाड़ी जिसके ECU की रीमैपिंग हुई है को पकड़ ले तो वो इस गाड़ी कि वारंटी रद्द कर सकते हैं.

इस पॉवर बढ़ी हुई Compass को लुक्स वाले मॉडिफिकेशन भी दिए गए हैं. इसमें बॉडी किट के साथ आफ्टरमार्किट बम्पर, रूफ़ माउंटेड कैरियर और आफ्टरमार्केट अलॉय व्हील्स लगाए गए हैं. इफ Jeep Compass के फॉग लैम्प्स को रात के वक्त बेहतर रौशनी के लिए LED लैम्प्स से बदला गया है. इस पूरे सेट-अप की कीमत का तो कोई ज़िक्र नहीं है लेकिन परफॉरमेंस ट्यूनिंग की कीमतें, ट्यूनर और पॉवर में की गयी बढ़ोतरी के अनुसार, इसकी कीमत 30,000 से 60,000 रूपए के बीच होती है.

कंपनी के लिए Compass भारत में एक हिट गाड़ी साबित हुई है जिसकी सेल्स शुरूआती चंद महीनों में ही आसमान छू रहे थे. और ये चलन अभी भी जारी है क्योंकि सितम्बर 2018 में ही इस गाड़ी की 1200 इकाइयां बिक चुकी हैं. Mahindra XUV500 2018 एडिशन के हाल ही में बाज़ार में आने को इसके पीछे कि वजह बताया जा रहा है. आने वाले महीनों में Tata Harrier लॉन्च और आने वाली Mahindra XUV700 (जिसका नाम शायद Inferno हो) के चलते Compass की दिक्कतें और बढ़ सकती हैं. ऐसे संकेत मिल रहे हैं कि Jeep लड़ाई में बने रहने के लिए ख़ास किस्म के ग्राहकों के लिए और कुछ अतिरिक्त फीचर्स के साथ कुछ और वेरिएन्ट्स लेकर बाज़ार में आए.

सोर्स