Peugeot की Citroen DS7 Crossback प्रीमियम SUV एक बार फिर भारतीय सडकों पर टेस्टिंग के दौरान नज़र आई

भारतीय कार परिदृश्य इन दिनों विश्व के लगभग सभी बड़े ब्रांड्स की मौजूदगी पर इतरा रहा है. और जो इक्के-दुक्के ब्रांड्स भारत में पदार्पण करने से रह गए हैं वे इसकी तैयारी में लगे हैं. इसका नवीनतम उदहारण है Groupe PSA जो जल्द ही भारत में कदम रखने जा रहा है. हाल ही में इस कंपनी के एक उप-ब्रैंड DS की एक कार को भारतीय सड़कों पर टेस्टिंग के दौरान देखा गया है. नीचे तस्वीर में दिख रही DS7 Crossback नाम की यह कार कम्पनी की ओर से एक प्रीमियम पेशकश है जिसे आगे चलकर भारत में लॉन्च किया जाना है.

Citoren Ds 7

जैसा की हमने पहले भी बताया, DS असल में Citroen का एक उप-ब्रैंड है जिसका निर्माण यूरोपीय बाज़ार में जर्मन तिकड़ी के एकाधिकार को तोड़ने के लिए किया गया था. यह Audi, BMW, और Mercedes Benz की जर्मन तिकड़ी विश्वभर में लग्ज़री सेगमेंट के ऊपर राज करती है. इस कार के बारे में बात करें तो DS7 Crossback एक प्रीमियम SUV/क्रॉसओवर है जिसकी टक्कर BMW X1 और Audi Q3 जैसी अन्य कार्स से है. यह कार देखने में काफी स्टाइलिश है जिस पर आपको ढेर सारा क्रोम और घुमावदार बॉडी डिज़ाइन देखने को मिलता है.

Citroen Ds7

इस कार के साथ वैश्विक बाज़ार में इंजन के अनेकों विकल्प उपलब्ध हैं. DS7 Crossback में एक 1.5-लीटर डीज़ल इंजन लगा है जो 130 बीएचपी की अधिकतम पॉवर पैदा करता है. इस कार के एक अन्य संस्करण में लगा 2.0-लीटर डीज़ल इंजन 180 बीएचपी की अधिकतम पॉवर पैदा करता है. DS7 के तीसरे और अंतिम संस्करण में एक 1.6-लीटर टर्बोचार्ज्ड पेट्रोल इंजन मौजूद है जो 222 बीएचपी पावर उत्पन्न करता है. यह कार मैन्युअल और ऑटोमैटिक दोनों ही गियरबॉक्स विकल्पों में उपलब्ध है. हालाकि इसके डीज़ल इंजन के साथ केवल मैन्युअल ट्रांसमिशन ही आता है वहीँ इसके पेट्रोल इंजन के साथ ऑटोमैटिक गियरबॉक्स का विकल्प भी मौजूद है.

इस कार के भारत में उतारे जाने वाले संस्करण में 1.6-लीटर और 2.0-लीटर इंजन के विकल्पों को दिए जाने की सम्भावना है. DS7 Crossback को Groupe PSA के EMP2 प्लैटफॉर्म पर बनाया गया है जो इस समूह की अनेकों अन्य गाड़ियों में भी मौजूद है. हालांकि अभी इस बात की कोई जानकारी नहीं है कि कंपनी इस कार को भारत में किस नाम के साथ उतारेगी. क्योंकि DS भारतीय लोगों में एक जाना-पहचाना नाम है इसलिए अभी यह बात देखने  वाली है कि कंपनी इस कार को DS बैज के अंतर्गत उतारती है या फिर इसे बदल कर Citroen या Peugeot बैज का उपयोग करती है.

Citoren Ds7 2

PSA ने कुछ समय पहले भारत में Ambassador ब्रैंड के अधिकार खरीदे हैं और इस ही ब्रैंड के नाम पर कंपनी एक नए वाहन को विकसित करेगी. कंपनी तमिलनाडू के हसुर में एक फैक्ट्री की स्थापना कर चुकी है जिसका उद्घाटन पिछले साल नवम्बर में किया गया था और इसे CK Birla Group के साथ भागीदारी में संचालित भी किया जा रहा है. फिलहाल इस फैक्ट्री में कंपनी के लिए इंजन और गियरबॉक्स का उत्पादन किया जा रहा है और एक असेंबली लाइन को विकसित करने का काम भी जारी है.

कार की बात करें तो DS7 Crossback की टक्कर BMW X1 और Audi Q3 जैसी कार्स से होगी. यह कार अपनी इन दोनों प्रतिद्वंद्वियों से आकार में बड़ी होने के साथ-साथ हर लिहाज़ से इनसे बेहतर है. इस कार के इंटीरियर्स शाही है और इसमें अनेकों ऐसे फीचर्स मौजूद हैं जिन्हें आज तक इस सेगमेंट की किसी भी गाड़ी में नहीं देखा गया. उम्मीद है कि यह ब्रैंड भारत में अपनी आधिकारिक उपस्थिति 2020 में दर्ज़ करा देगा और तब इसकी पोटली में भारत के लिए कई अन्य मॉडल्स भी होंगे.