Nissan Kicks का उत्पादन हुआ शुरू: जनवरी 2019 से बुकिंग होगी आरम्भ

Nissan India ने अपनी Kicks compact SUV का उत्पादन चेन्नई स्थित Renault-Nissan की संयुक्त फैक्ट्री में शरू कर दिया है. याद रहे कि Kicks एक compact SUV है जिसे कंपनी लैटिन अमरीका में भी बेच रही है. इस गाड़ी का भारत के लिए तैयार किया गया संस्करण थोड़ा अधिक लम्बा है और यह B-Zero प्लैटफॉर्म पर आधारित है. Nissan Kicks में इस्तेमाल किया गया प्लैटफॉर्म Renault Duster और Captur जैसी गाड़ियों में भी उपयोग में लाया जा रहा है.

New Nissan Kicks Production

Nissan India की कार्स के बेड़े में Kicks आने वाले कम से कम एक दो साल में सबसे महंगी गाड़ी होगी जो इस ब्रैंड की Terrano मॉडल की जगह लेगी. अगर हम Nissan Kicks की प्रतिस्पर्धा की बात करें तो इसका मुकाबला Hyundai Creta और Renault  Duster/Captur जैसी गाड़ियों से रहेगा. उम्मीद है कि यह गाड़ी Duster और जल्द ही बाज़ार से हटने वाली Terrano से अधिक प्रीमियम होगी. हम इस महीने के अंत में ही इस गाड़ी के बारे में अपनी पहली प्रतिक्रिया देने की स्थिति होंगे.

भारत में बेचीं जाने वाली Kicks इसके दक्षिण अमरीकी संस्करण की तुलना में आकार में बड़ी होगी. ऐसा इस गाड़ी के अन्दर ज़्यादा जगह मुहैय्या कराने के लिहाज़ से किया गया है. इस गाड़ी के साथ इंजन के दो विकल्प दिए जाएंगे – एक 1.6 लीटर पट्रोल इंजन जो 105 बीएचपी पॉवर और 140 एनएम टॉर्क उत्पन्न करेगा और दूसरा 1.5 लीटर K9K टर्बोचार्ज डीज़ल इंजन जो 108 बीएचपी पॉवर और 240 एनएम टॉर्क उत्पन्न करेगा. इस गाड़ी के पेट्रोल इंजन के साथ 5-स्पीड मैन्युअल और CVT ऑटोमैटिक गियरबॉक्स के विकल्प दिए जाएंगे और इस गाड़ी के डीज़ल इंजन के साथ एक 6-स्पीड मैन्युअल गियरबॉक्स स्टैण्डर्ड दिए जाने की उम्मीद है.

Kicks

Kicks एक पांच सीटों वाली मोनोकॉक SUV होगी जिसके साथ फ्रंट व्हील ड्राइव सिस्टम आएगा. इस बात की उम्मीद न के बराबर ही है कि इस नई SUV में Nissan ऑल-व्हील ड्राइव सिस्टम का विकल्प दे. जबकि यह गाड़ी जिस प्लैटफॉर्म पर आधारित है वो इस गाड़ी पर ऑल-व्हील ड्राइव सिस्टम को संभाल पाने के लिए पूर्णतः सक्षम है. भारत में ऑल-व्हील ड्राइव लेआउट जैसे फीचर की मांग बेहद कम हैं और और यह 100 में केवल पांच ग्राहकों तक ही सीमित है. शायद यही कारण है कि अधिकतर वाहन निर्माता अपने उत्पादों में ऐसा सिस्टम देने से बचते हैं.

फीचर्स के मामले में Kicks में कोई कंजूसी नहीं बरती जाएगी. एक टचस्क्रीन इन्फोटेनमेंट सिस्टम के साथ Android  Auto और Apple CarPlay और ट्विन एयरबैग्स से लेकर ABS (एंटी-लॉक ब्रेकिंग सिस्टम) तक — इस SUV में इतने फीचर्स दिए जाएंगे कि यह फीचर्स के मामले में इस श्रेणी की अग्रणी कार Hyundai Creta से कहीं भी उन्नीस न लगे. इस गाड़ी के सबसे उच्च-स्तरीय मॉडल में इस श्रेणी में पहली बार 360 डिग्री पार्किंग कैमरा, ऑटोमैटिक हैडलैम्प, रेन सेंसिंग वाइपर्स, स्टीयरिंग पर लगे ऑडियो कंट्रोल, पुश बटन स्टार्ट, बिन चाबी एंट्री, और कूल्ड ग्लोवबोक्स जैसे तमाम और फीचर्स दिए जाएंगे. इस SUV के साथ एक सनरूफ दिए जाने की अभी कोई तैयारी नहीं है.

Kicks 2

Nissan Kicks में इस्तेमाल हुए प्लैटफॉर्म जैसे ही प्लैटफॉर्म पर आधारित दोनों Renault Duster और Captur की राइड की गुणवत्ता इनकी विशेषता है. यहां तक कि Nissan Terrano को भी उसकी बढ़िया राइड के लिए जाना जाता था. यह अच्छी ड्राइव का अनुभव Nissan Kicks में भी जारी रहेगा. एक अच्छे स्तर की आरामदायक राइड किसी भी SUV के बिकने के पीछे का महत्वपूर्ण कारण होता है और हमारी इस गाड़ी की गुजरात के कच्छ में पहली ड्राइव के बाद ही हम इसके बारे में आपको ज़्यादा विस्तार से जानकारी दे पाएंगे.

कीमतों की बात करें तो Nissan Kicks के सबसे शुरुआती-स्तर के मॉडल की कीमत 10 लाख रूपए से नीचे ही होने की सम्भावना है. इस गाड़ी के डीज़ल इंजन वाले सबसे ऊंचे स्तर के मॉडल की कीमत 14 लाख रूपए हो सकती है. एक तरह से देखें तो Nissan Kicks के ज़रिए यह इस जापानी कार निर्माता की भारत में वापसी ही है जिसने भारतीय बाज़ार में बिक्री के मामले में कोई खास प्रदर्शन नहीं किया है. Kicks की प्रतियोगी कीमत इस गाड़ी की सफलता की कुंजी साबित होगी.