नयी WagonR होगी Swift और Baleno के प्लेटफार्म पर आधारित: जानिये इसके फायदे

भारतीय बाज़ार में नयी Maruti Suzuki WagonR का बेसब्री से इंतज़ार हो रहा है और यह कार इस महीने की 23 तारीख को बाज़ार में उतारी जाएगी. Maruti ने आधिकारिक रूप से इस बात की घोषणा कर दी है कि नयी WagonR कंपनी के उन्नत HEARTECT प्लेटफार्म पर आधारित होगी जिसे Maruti Suzuki Swift, Maruti Suzuki Baleno, Maruti Suzuki Ertiga, और Maruti Suzuki Ignis में भी इस्तेमाल किया गया है. तो क्या है इस नए प्लेटफार्म का मतलब और इससे क्या कुछ बदलेगा WagonR में? आइये देखते हैं.

पहले से काफी हल्की

 

इस पांचवी-पीड़ी के HEARTECT प्लेटफार्म का वज़न काफी हल्का है. जब पिछले साल नयी Swift को इस प्लेटफार्म पर लॉन्च किया गया था तो इस कार का वज़न तकरीबन 100 किलोग्राम तक कम हो गया था. HEARTECT प्लेटफार्म में एक उन्नत किस्म की स्टील का इस्तेमाल हुआ है जिससे कार का वज़न कम हो जाता है और इसी कारण कार के इंजन का प्रदर्शन काफी सुधर जाता है.

पहले से ज्यादा सुरक्षित

 

भारतीय बाज़ार में फ़िलहाल उपलब्ध WagonR देश में जल्द लागू होने वाले नए सुरक्षा नियमों पर नहीं खरी उतर पायेगी. यही नयी Swift के लॉन्च के पीछे भी सबसे बड़ा कारण है. HEARTECT प्लेटफार्म में इस्तेमाल हुई उन्नत किस्म की स्टील इस कार को बहुत अधिक मज़बूत बनाती है और इसे नए सुरक्षा नियमों के भी अनुकूल बनाती है. Maruti Suzuki इस कार के सभी संस्करणों में ड्राईवर के लिए एयरबैग, सीटबेल्ट अलर्ट, रियर-पार्किंग सेंसर, स्पीड वार्निंग अलर्ट, ABS (एंटी-लॉक ब्रेकिंग सिस्टम)+EBD (इलेक्ट्रॉनिक ब्रेकफ़ोर्स डिस्ट्रीब्यूशन) जैसे फीचर्स उपलब्ध करा रही है. बताते चलें कि 1 अप्रैल 2019 से यह फीचर्स सभी कार्स के लिए अनिवार्य हो जायेंगे.

पहले से अधिक माइलेज

 

HEARTECT प्लेटफार्म के इस्तेमाल से Maruti Suzuki WagonR का वज़न तकरीबन 50 से 60 किलोग्राम कम होने की उम्मीद है. इसका मतलब हुआ कि यह hatchback पहले से कहीं ज्यादा माइलेज देगी. मौजूदा Maruti Suzuki WagonR में आपको एक 1.0-लीटर, 3-सिलिंडर पेट्रोल इंजन मिलता है. दूसरी और नयी WagonR में आपको 1.0-लीटर और 1.2-लीटर दो पेट्रोल इंजन विकल्प मिलेंगे. हम नए 1.2-लीटर इंजन की तुलना तो नहीं कर सकते पर 1.0-लीटर इंजन कार के कम वज़न के कारण 5-10 प्रतिशत तक कम माइलेज देगा.

बेहतर प्रदर्शन

 

वज़न में कमी के कारण कार की परफॉरमेंस में काफी सुधार हुआ है. रेस में भाग लेने वाले ड्राईवर कार का वज़न कम करके ही इसकी गति में इजाफा कर पाते हैं. नए प्लेटफार्म के कारण जल्द लॉन्च होने वाली WagonR के प्रदर्शन में भारी सुधार की उम्मीद है. यह पहले से तेज़ और लचीली होगी.

बेहतर हैंडलिंग

 

नए बेहतर प्लेटफार्म के इस्तेमाल के कारण अब WagonR में हैंडलिंग अनुभव बेहतरीन होगा. HEARTECT प्लेटफार्म यह सुनिश्चित करता है कि कार चलाना एक मज़ेदार अनुभव हो और इस बात का प्रमाण नयी Swift और Dzire जैसी कार्स हैं. तो तैयार हो जाइये एक ऐसी सवारी के लिए जिसके आज से पहले केवल आप सपने ही देखा करते थे.