Advertisement

नयी Hyundai Santro को लॉन्च से पहले नीले रंग में देखा गया

नयी Hyundai Santro भारत में आधिकारिक रूप से लॉन्च होने से केवल कुछ ही दिन दूर है. इस कार को देश में 23 अक्टूबर को लॉन्च किया जायेगा और इसकी डिलीवरी भी उसी समय से शुरू होंगी. Santro देशभर के डीलरशिप्स पर पहले ही पहुँचने लगी है. पेश है इस नयी-नवेली कार का ब्लू रंग.

नयी Hyundai Santro को लॉन्च से पहले नीले रंग में देखा गया

ये कार नीले रंग में काफी फंकी दिखती है और उम्मीद है अधिकाँश कस्टमर इसी रंग को प्राथमिकता देंगे. नयी Santro 6 दूसरे रंगों में उपलब्ध होगी: Star Dust, Marina Blue, Fiery Red, Polar White, Typhoon Silver, Imperial Beige और Diana Green.

नयी Hyundai Santro को लॉन्च से पहले नीले रंग में देखा गया

जहां नयी Hyundai Santro की आधिकारिक कीमतें अभी तक सामने नहीं आई हैं, इन्टरनेट पर जो बातें चल रही हैं वो इस कार की शुरूआती कीमत 3.87 लाख रूपए बता रही हैं, जो इसे बेस्ट सेलिंग Maruti WagonR से काफी सस्ता बनाता है. Maruti WagonR की कीमत लगभग 4.2 लाख रूपए से शुरू होती है.

नयी Hyundai Santro को लॉन्च से पहले नीले रंग में देखा गया

Santro में WagonR के मुकाबले ज्यादा पॉवर भी होगा. इसमें एक 4 सिलिंडर इंजन होगा जो पेट्रोल में 68 बीएचपी-99 एनएम उत्पन्न करेगा वहीँ CNG-पेट्रोल ड्यूल फ्यूल वाले का आउटपुट 57 बीएचपी-77 एनएम होगा. इस कार में एक 5 स्पीड मैन्युअल गियरबॉक्स स्टैण्डर्ड होगा वहीँ 5 स्पीड AMT ऑप्शनल होगा.

नयी Hyundai Santro को लॉन्च से पहले नीले रंग में देखा गया

नयी Santro में और भी कई क्लास लीडिंग फीचर्स होंगे. इस कार के AMT यूनिट में इलेक्ट्रिक अक्चूयेटर्स होंगे जिनकी लाइफ मैकेनिकल अक्चूयेटर्स से ज्यादा होती है. जहां तक अन्दर में क्लास लीडिंग फीचर्स की बात है तो इस कार में रियर एसी वेंट और Apple CarPlay एवं Android Auto सपोर्ट वाला टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम होगा.

नयी Hyundai Santro को लॉन्च से पहले नीले रंग में देखा गया

Santro में ड्राईवर एयरबैग, ABS+EBD, रिवर्स पार्किंग सेंसर्स, स्पीड अलर्ट, और सीटबेल्ट रिमाइंडर पूरे रेंज में स्टैण्डर्ड होंगे. इसके महंगे ट्रिम्स में पैसेंजर एयरबैग, और रिवर्स पार्किंग कैमरा भी लगा होगा. इस कार को Hyundai के Chennai में Sriperumbudur फैक्ट्री में बनाया जाएगा और इसे वहाँ से दुनियाभर के उभरते हुए बाज़ारों में निर्यात किया जाएगा.