डिजिटल इंडिया के डिजिटल कार चोर: कैसे आपकी कार चुटकियों में चोरी हो सकती है!

जैसे-जैसे कार्स की सिक्योरिटी की टेक्नोलॉजी दिन प्रतिदिन जटिल होती जा रही है चोरों के उपकरण भी बेहतर होते जा रहे हैं. आजकल चोर नए उच्च तकनीक उपकरणों का उपयोग कर रहे हैं जो रिमोट कुंजी और कार की इन्फ्रारेड रेडियो फ्रीक्वेंसी को रोकते हैं. इन Youtubers ने इस वीडियो में ऐसे ही एक उपकरण के इस्तेमाल से कार और रिमोट के बीच के सिग्नल्स में बाधा डालकर एक कार मालिक को मज़ाकिया ढंग से परेशान कर इसके बारे में समझाते हैं.

ये उपकरण किस प्रकार काम करता है ?

मॉडर्न कार रिमोट रेडियो फ्रीक्वेंसी के माध्यम से कार्स के साथ संवाद करता है. ये वही तरंग हैं जो FM रेडियोज़ में इस्तेमाल की जाती हैं. कार सिक्योरिटी सिस्टम में कार की FOB ट्रांसमीटर और कार रिसीवर होती है. अब अगर किसी के पास एक्सटर्नल रिसीवर हो जो रिमोट और वाहन के बीच की फ्रीक्वेंसी को पढ़कर उसके सिक्योरिटी कोड्स की नक़ल कर बड़ी आसानी से किसी भी वाहन के सेंट्रल लॉकिंग सिस्टम को काबू कर सकता है.

इस प्रकार के यंत्र मार्केट में आसानी से उप्लब्ध नहीं हैं पर हाल ही में कई चोरों ने इनका इस्तेमाल शुरू कर दिया है. इस यंत्र को चुराए जाने वाली कार के पास रखा जाता है. जैसे ही रिमोट पर मौजूद लॉक या अनलॉक का बटन दबाया जाता है, ये यंत्र हर दिशा में रेडियो वेव्स भेजता है. इसके बाद इंटरसेप्टर सिग्नल रीसीव करके उसे सिस्टम में कॉपी करता है और फिर वही कोड्स कार की ओर भेजता है जिससे कार का लॉक खोला जा सकता है.

जिन कार्स में कीलेस एंट्री मौजूद हैं वह लगातार शार्ट-रेंज फ्रीक्वेंसी उत्पन्न करती है ताकि जब कभी भी कार की चाबियां कार के नज़दीक़ हों तो उसे खोला जा सके. कई चोर, पीड़ितों के घरों से ऐसी ही छोटी दूरी की-वेव्स की प्रतिलिपि बनाने के लिए उपकरणों का उपयोग करते हैं और फिर कार को अनलॉक करने के लिए इसका उपयोग करते हैं. अधिकांश कार चाबियाँ घर के मुख्य दरवाजे के प्रवेश द्वार पर रखी जाती हैं. कार चोर इन चाबियों के नज़दीक होने के कारण आसानी से इनके कोड्स कॉपी करते हैं.

ये YouTubers, Hyundai Creta और Volkswagen Cross Polo समेत कई कार्स के लॉक इस इंटरसेप्टर यंत्र के इस्तेमाल से खोल कर दिखाते हैं. इसके बाद वो कार मालिकों के पास जाते हैं और उन्हें बताते हैं कि बाजार में ऐसा डिवाइस मौजूद है और आधुनिक चोरों द्वारा इसका उपयोग किया जाता है. उन्होंने उन्हें रिमोट लॉकिंग का उपयोग न करने की भी सलाह दी. हालांकि, कई आधुनिक कारों को मैन्युअल रूप से लॉक खोलना संभव नहीं है और सुरक्षा प्रणाली इसे उल्लंघन के रूप में देखती है. यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि कार को अनलॉक करने का मतलब यह नहीं है कि अगर कार में इममोबिलाईज़र है तो इसे स्टार्ट भी किया जा सकता है.

क्या आप इससे अपनी कार को बचा सकते हैं ?

जब तक आप पुराने तरीके के लॉक्स और चाबी का उपयोग शुरू नहीं करते हैं, तब तक आप इससे बच नहीं सकते. हालांकि, आप आधुनिक GPS डिवाइस कार में लगा सकते हैं जो चोरी होने पर कार के लोकेशन को ट्रैक कर सकता है. इसके अलावा, हमेशा सुनिश्चित करें कि वाहन में कोई भी क़ीमती सामान और बहुमूल्य दस्तावेज न छोड़ें.

Source