Maruti Suzuki अपने Swift, Dzire, Brezza और अन्य कार्स के डीजल इंजन का उत्पादन बंद करने वाली है, जानिये क्यों!

ऐसी खबरें आ रहीं हैं की Maruti Suzuki अपने गुड़गाँव फैक्ट्री में Multijet डीजल इंजन बनाना बंद करने वाली है. ये खबर ऐसे वक़्त पर आ रही है जब ऐसी अफवाहें हैं की बढ़ते कीमत के चलते छोटे कार्स में डीजल इंजन आना बंद होने वाले हैं. LiveMint के मुताबिक़, ये डीजल इंजन फैक्ट्री पेट्रोल इंजन बनाने के लिए इस्तेमाल की जा सकती है लेकिन Maruti Suzuki ने अभी तक इस बात की पुष्टि नहीं की है.

Maruti Baleno

ये इतनी बड़ी खबर क्यों है?

भारत में कई कार्स हैं जो 1.3 लीटर Fiat Multijet इंजन इस्तेमाल करती हैं की इसे मज़ाक में भारत का ‘राष्ट्रीय इंजन’ भी कहा जाता है. गौर कीजिये, Maruti Swift, Dzire, Baleno, Vitara Brezza, Ertiga, Ciaz और S-Cross सभी कार्स में ये 1.3 लीटर Fiat Multijet टर्बोचार्ज्ड डीजल इंजन मिलता है. ये कार्स भारत में बिकने वाली डीजल कार्स का 50% हिस्सा रखती हैं. अगर हम Tata Motors और Fiat जैसे निर्माताओं की Multijet इंजन वाली कार्स को शामिल कर लें तो ये संख्या और भी बड़ी हो जाती है.

2018 Maruti Swift Hatchback

तो विकल्प क्या है?

आने वाले 3-5 सालों में Maruti Suzuki का प्लान है को वो खुद के नए डीजल इंजन इस्तेमाल करे. Suzuki द्वारा बनाया गया ये नया इंजन 1.5 लीटर डिस्प्लेसमेंट वाला होगा और ये Maruti की सभी कार्स में 1.3 लीटर Fiat Multijet डीजल इंजन की जगह लेगा. इसका मतलब ये है की Maruti Swift, Dzire, Baleno, Vitara Brezza, Ertiga, Ciaz और S-Cross जैसी कार्स में 1.5 लीटर टर्बोचार्ज्ड डीजल इंजन मिलना शुरू होगा. 5 सालों के बाद आगे चलकर Maruti डीजल इंजन से अलग हटने लगेगी. क्या इसका मतलब ये है की ये डीजल का अंत होगा? इसकी प्रबल संभावना नज़र तो आ रही है.

इसके पहले ही Maruti Suzuki के टॉप मैनेजमेंट से संकेत मिले हैं की Bharat Stage 6 उत्सर्जन नियमों के लागू होने के बाद डीजल इंजन वाली कार्स ज़्यादा महंगी हो जायेंगी. दरअसल, Maruti Suzuki के इंजीनियरिंग प्रमुख CV Raman ने हाल में ही बताया था की BS6 का पालन करने वाले डीजल इंजन और पेट्रोल इंजन कार्स के बीच का अंतर 2.5 लाख रूपए तक का हो सकता है. इससे इस बात की संभावना है की प्राइवेट कस्टमर्स के लिए डीजल इंजन वाली कार्स काफी महंगी हो जायेंगी जिससे डीजल इंजन को केवल कैब ऑपरेटर ही खरीद पायेंगे.

उम्मीद है की प्राइवेट कार कस्टमर्स पेट्रोल इंजन और पेट्रोल-LPG और पेट्रोल-CNG जैसे ड्यूल फ्यूल ऑप्शन्स को तरजीह देंगे. अभी के लिए, फुल-हाइब्रिड पेट्रोल कार्स जिनका माइलेज BS6 डीजल इंजन कार्स जितना ही होगा आम जनता के लिए काफी महंगी हैं. Maruti Suzuki के चेयरमैन RC Bhargava के अनुसार पेट्रोल हाइब्रिड कार्स आम पेट्रोल कार्स से 2.5 लाख रूपए ज़्यादा होंगी और इसका मतलब ये है की इनकी कीमत BS6 डीजल जितनी ही होनी चाहिए.

Maruti Suzuki इलेक्ट्रिक कार्स पर भी काम कर रही है. ऑटो निर्माता की पहली इलेक्ट्रिक कार नयी WagonR Electric का लॉन्च 2020 में होना है. इस कार की ऑन-रोड टेस्टिंग पहले ही शुरू हो चुकी है और Maruti Suzuki इस कार को 10 लाख से नीचे के किफायती सेगमेंट में लॉन्च कर सकती है. लेकिन, चूंकि भारत में किफायती इलेक्ट्रिक कार्स और उनके लिए आधारभूत ढांचा उपलब्ध नहीं है, इसे आम जनता बड़ी संख्या में इतनी जल्दी नहीं अपनाएगी.