Maruti Suzuki का खुलासा, क्यों नहीं भारतीय लोग पहनते सीटबेल्ट

Maruti Suzuki ने 17 शहरों में एक सर्वे करवाया जिसमें ये चेक किया गया की कितने कार चालक सीटबेल्ट पहनते हैं. हैरानी की बात ये है, की इस अध्ययन में पता चला की भारत में सिर्फ़ 25% लोग ही सीटबेल्ट पहनते हैं. इसे ध्यान में रखते हुए Maruti ने शुरू की है एक मुहिम सीटबेल्ट पहनने के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए. यहाँ देखें वीडियो:

सर्वे में ज़्यादातर कार में चलने वाले लोगों के सीटबेल्ट ना पहनने के 5 मुख्य कारण भी पता चले हैं:

  1. सीटबेल्ट के नियम का सख्ती से पालन अनिवार्य ना होना. भारत के लगभग सभी हिस्सों में सिर्फ़ ड्राइवर के लिए सीटबेल्ट पहनना अनिवार्य है. कार में बैठे दूसरे लोगों का सोचना है की चूँकि उन्हें सीटबेल्ट ऩहीँ पहनने के लिए पुलिस द्वारा फाइन नहीं किया जाएगा इसलिए उनके सीटबेल्ट पहनने की कोई वजह नहीं है. 32% लोगों का ये मानना है.
  2. छवि को लेकर चिंता. कई लोगों (सर्वे के 23% भागीदार), ख़ासकर कार ड्राइव करने वालों को लगता है की सीटबेल्ट पहनने से वो नौसिखिए लगते हैं. सीटबेल्ट ना पहनना ‘माचो’ होने की निशानी है और ये एक और बड़ी वजह है की भारत में ड्राइवर सीट पे भी कई लोग सीटबेल्ट नहीं पहनते.
  3. सीटबेल्ट पहनने से शर्ट खराब हो जाती है. आश्चर्यजनक रूप से सर्वे में भाग ले रहे 22% लोगों ने सीटबेल्ट पहनने की ये वजह दी. सुनने में हास्यास्पद लग सकता है लेकिन ये एक वजह है जिसके कारण भारत में कई लोग सीटबेल्ट पहनने से बचते हैं.
  4. एयरबैग्स पर भरोसा. सर्वे के 19% भागीदारों ने कहा की सीटबेल्ट ना पहनना कोई बड़ी बात नहीं है क्योंकि एयरबैग्स फिर भी उनकी सुरक्षा करेंगे. असल में ये एक ग़लत धारणा है क्योंकि सीटबेल्ट ना पहनने वालों को एयरबैग्स से चोट लग सकती है. और फिर, कई कारों में सीटबेल्ट ना पहनने पर एयरबैग्स डिप्लाय नहीं होते.
  5. पियर प्रेशर. चूँकि भारत में इतने ज़्यादा लोग (ज़्यादार लोग) सीटबेल्ट नहीं पहनते, जो लोग सीटबेल्ट पहनना चाहते हैं वो भी इनके बहकावे में आकर ये ज़रूरी सुरक्षा कवच पहनना भूल जाते हैं. सर्वे के 18% भागीदारों ने अपने सीटबेल्ट ना पहनने की ये वजह बतलाई है.