नई Maruti Ertiga जल्द ही CNG विकल्प के साथ आएगी

नई Maruti Ertiga को कल दो इंजन विकल्पों के साथ लॉन्च कर दिया गया — एक पेट्रोल माइल्ड हाइब्रिड और दूसरा डीज़ल माइल्ड हाइब्रिड. इस नई गाड़ी में CNG विकल्प नदारद था जबकि पुरानी Ertiga में यह विकल्प मौजूद था. तो वे लोग जो नई Ertiga का CNG से लैस संस्करण ढूंढ रहे थे उनके लिए एक खुशखबरी है. Maruti ने इस नई MPV के CNG संस्करण पर काम करना शुरू कर दिया है और उम्मीद है कि इसका लॉन्च लगभग आने वाले 6 महीनों में कर दिया जाएगा.

Maruti Ertiga Red

इसकी गाड़ी के 1.5 लीटर K-Series पेट्रोल इंजन में कुछ बदलाव कर इसे CNG पर चलने के लायक बनाया जा रहा है. इस गाड़ी के पिछले मॉडल की ही तर्ज़ पर उम्मीद की जा रही है कि नई Maruti Ertiga CNG भी एक ड्यूल-फ्यूल कार होगी जो CNG और पेट्रोल दोनों ही इंधनों पर चलेगी. इस Ertiga CNG पर इसके पेट्रोल विकल्प जितनी ही वारंटी दी जाएगी लेकिन CNG किट पर होने वाले अतिरिक्त खर्च की वजह से इसकी कीमत इसके पेट्रोल संस्करण के तुलना में थोड़ी ज़्यादा रखे जाने की उम्मीद है. अभी यह साफ़ नहीं है कि क्या Maruti Suzuki इस कार के CNG संस्करण को भी माइल्ड हाइब्रिड ले-आउट से लैस करती है या नहीं या कार निर्माता इसमें केवल   एक 1.5 लीटर K-Series पेट्रोल इंजन लगा कर अपने काम की इतिश्री कर लेता है.

भारत में “इंटरनल कम्बस्शन इंजन” से चलने वाली कार्स के लिए उपलब्ध सबसे सस्ता विकल्प CNG ही है. इसका मतलब समझाने की ज़रूरत तो नहीं पर CNG पर चलने वाली कार्स पेट्रोल/डीज़ल पर चलने वाली कार्स से किफायती होती हैं. इस इंधन का एक और फायदा यह है कि यह पेट्रोल और डीज़ल की तुलना में कम प्रदूषण फैलाता है. यह भी एक कारण है कि CNG से चलने वाले वाहनों को प्रदूषण-विरोधी अभियानों में छूट दी जाती है. इसलिए हम CNG कार्स के भारत के सबसे बड़े बाज़ार दिल्ली में समय-समय पर देख सकते हैं.

Maruti Ertiga Interiors

CNG से चलने वाली कार्स की तीन कमियां भी हैं. पहली भारत में CNG पंपों की सभी जगह पर समान उपलब्धता की कमी. अगर आप दिल्ली, मुंबई जैसे बड़े शहरों को छोड़ दें तो देश के बाकी सभी छोटे-बड़े शहरों में आपको CNG पंप देखने को नहीं मिलेंगे जिसका मतलब ऐसे शहरों में CNG गाड़ी लेना बेवकूफाना है. दूसरी बात ये कि आपको अधिकतर हाईवे पर कोई CNG पंप देखने को नहीं मिलेंगे अर्थात CNG गाड़ी को आप केवल शहरों की सीमाओं में ही चला सकते हैं. हाईवे पर आपको इन कार्स को पेट्रोल पर ही चलाना पड़ता है.

और जो आखिरी कमी है वो है इंजन के शक्ति पैदा करने की क्षमता में गिरावट. एक CNG कार अपने जैसी ही एक पेट्रोल कार से कम पॉवर उत्पन्न करती है. वैसे पॉवर में इस कमी का कोई बड़ा प्रभाव ज्यादा पॉवर पैदा करने वाली Ertiga जैसी गाड़ी पर नहीं पड़ेगा जो कि CNG पर चलते हुए भी कम से कम 80 बीएचपी पॉवर पैदा करेगी. लेकिन निचली क्षमता वाली Alto जैसी कार जो 40 बीएचपी से कम पॉवर पैदा कर पाती हैं वो CNG पर चलते हुए खुद को काफी निशक्त महसूस कर सकती है खासकर ओवरटेकिंग के दौरान. इन सभी कमियों के बावजूद अपने किफायतीपन और निचले स्तर का प्रदूषण फैलाने जैसे पहलुओं के चलते CNG भारत में कार्स के लिए एक बहुत ही अनुकूल और आकर्षक इन्धन है. टैक्सी कंपनियों समेत अनेकों लोग CNG चलित नई Maruti Ertiga का बेसब्री से इंतज़ार कर रहे होंगे.

सोर्स – ACI