Maruti Kizashi से नयी Ford Fiesta; 10 कार्स जो समय से पहले बंद हो गयीं…

ऐसे कई नए कार्स जो इंडिया में पिछले दशक में नए कार्स को लॉन्च किया गया है. लेकिन, सभी कार्स ने कस्टमर्स को इम्प्रेस नहीं किया है. जहां इनमें से अधिकांश कार्स औसत थीं, कुछ काफी स्पोर्टी और चलाने में मजेदार थीं जिनमें अच्छा परफॉरमेंस मिलता था. लेकिन, ये गाड़ियाँ भी मार्केट में ज़्यादा नहीं टिकीं क्योंकि इनकी डिमांड कम थी. पेश है ऐसे 10 कार्स की लिस्ट जो मार्केट से बहुत जल्दी चली गयीं.

Chevrolet Trailblazer

2015 – 2017

Trailblazer इंडिया में Chevrolet India की फ्लैगशिप गाड़ी थी. कंपनी के इंडियन मार्केट से बाहर जाने के कारण ये मॉडल जल्दी बंद हो गया. Trailblazer एक बेहतरीन परफॉरमेंस वाली कार थी जो 197 बीएचपी उत्पन्न किया करती थी. और इसका 500 एनएम का टॉर्क इसे एक दैत्य बनाता था. इस कार में जगहदार केबिन भी थी लेकिन दुःख की बात है की ये मार्केट में ज़्यादा नहीं चल पायी.

Honda Mobilio

2014-2017

Honda Mobilio असल में Brio पर आधारित MPV थी जिसे कस्टमर्स की कमी के चलते बंद कर दिया गया. Mobilio में वही इंजन था जो City सेडान में हुआ करता था. इसका मतलब था इसमें एक 1.5-लीटर iVTEC पेट्रोल इंजन था जो अधिकतम 117 बीएचपी का पॉवर उत्पन्न करता था. ये Mobilio a को बेहद तेज़ बनाता था. इसके डीजल इंजन में भी पर्याप्त पॉवर था और इसकी माइलेज भी अच्छी थी. इसका स्पोर्टी RS वैरिएंट भी मिला करता था. लेकिन दुःख की बात है की Mobilio मार्केट में Maruti Ertiga के सेल्स पर कोई प्रभाव नहीं डाल पायी.

Maruti S-Cross 1.6

2015-2017

Maruti S-Cross को पिछले साल फेसलिफ्ट किया गया था. जहां अपडेट इस कार को और स्मार्ट लुक देता है और इसे अपमार्केट बनाता है फेसलिफ्ट के आने के बाद से इसके 1.6-लीटर डीजल इंजन वैरिएंट को बंद कर दिया गया. S-Cross 1.6 डीजल एक और टॉर्क दैत्य था जो बहुत जल्दी बंद हो गया. Fiat से लिएय गए इंजन में 320 एनएम तक का टॉर्क उत्पन्न होता था, जो इस क्रॉसओवर को बेहद रोचक बनाता था.

Maruti Ignis Diesel

2017-2018

Maruti Suzuki India Ltd ने हाल ही में Ignis का डीजल वैरिएंट बंद कर दिया है. Ignis एक फंकी लुक्स वाली कार है जिसमें जगहदार केबिन के साथ SUV जैसा स्टांस है. जहां पेट्रोल वैरिएंट में अब बंद हो चुके डीजल वैरिएंट वाले ही फ़ीचर्स और कस्टमाईज़ेशन ऑप्शन्स है, हम अभी भी डीजल इंजन का 200 एनएम टॉर्क और उसकी बेहतरीन माइलेज को मिस करते हैं.

Ford Fiesta

2014-2015

Ford Fiesta फेसलिफ्ट काफी स्पोर्टी लगती थी और इसमें एक बड़ा कारण था उसके फ्रंट एंड का Aston Martin जैसा लुक. लेकिन, ये मार्केट में जयदा दिन नहीं टिकी. Fiesta को मार्केट से कम डिमांड के चलते हटा लिया गया था. इस कार की हैंडलिंग बेहतरीन थी और इसमें पावरफुल 1.5-लीटर डीजल इंजन मिलता था. Fiesta अपने सेगमेंट में सबसे स्पोर्टी ऑप्शन हुआ करती थी. बेहद दुःख की बात है की कार मार्केट से जल्द ही बाहर हो गयी.

Volkswagen GTI

2016-2018

GTI एक बेहद हॉट हैचबैक थी जिसे दो साल पहले ही लॉन्च किया गया था. इसमें एक 1.8-लीटर, 4-सिलिंडर TSI पेट्रोल इंजन था जो 189 बीएचपी और 250 एनएम का आउटपुट देता था. इसके इंजन का साथ एक 7-स्पीड DSG बॉक्स निभाता था जो पॉवर को पीछे के चक्कों तक भेजता था.

Maruti Kizashi

2011-2014

Maruti Suzuki Kizashi कंपनी की फ्लैगशिप प्रोडक्ट हुआ करती थी जिसे चलाना बेहद मजेदार था. इसमें एक 2.4-लीटर पेट्रोल इंजन था जो अधिकतम 176 बीएचपी का पॉवर उत्पन्न करता था. इसके इंजन का साथ एक 6-स्पीड मैन्युअल ट्रांसमिशन निभाता था. इसमें पैडल शिफ्टर्स के साथ ऑप्शनल CVT मिलता था.

Skoda Fabia 1.6

2008-2010

Skoda Fabia 1.6 एक प्रीमियम, मजेदार हैचबैक थी जो मार्केट में ज़्यादा समय तक नहीं रही. इसका 1.6-लीटर इंजन अधिकतम 106 बीएचपी का पॉवर उत्पन्न करता है. Fabia के डायनामिक्स भी बेहतरीन थे. लेकिन दुःख की बात है की डिमांड की कमी के चलते ये गाड़ी मार्केट से बाहर चली गयी.

Mahindra Bolero Storm

2008-2011

जहां Mahindra Bolero कभी भी तेज़ी के लिए नहीं जानी जाती थी, थोड़े समय के लिए बाज़ार में आये Storm वैरिएंट में पॉवरफुल 2.49-लीटर, 4-सिलिंडर, टर्बोचार्ज्ड इंजन था जो अधिकतम 97 बीएचपी का पॉवर उत्पन्न करता था. Bolero का पावरफुल इंजन इसे बेहतरीन परफॉरमेंस भी देता था, कम से कम सीधे लाइन में. अभी वाले Bolero में 63 बीएचपी का मोटर हुआ करता था.

Maruti Zen Carbon & Steel

2003

Zen Carbon और Steel इस पॉपुलर हैचबैक के बेहद फंकी, 3-डोर वर्शन थे. लेकिन दुःख की बात है की ये इंडिया में बेहद कम समय के लिए बिका करती थी क्योंकि इसके सिर्फ 600 यूनिट्स उपलब्ध थे. इस हल्के कार में G10, 1.0-लीटर, 3-सिलिंडर इंजन था. इसका एनिगने अधिकतम 60 बीएचपी और 78 एनएम का आउटपुट देता था.