Mahindra XUV500 चली 3 फीट पानी के अन्दर: क्या हो सकता है गलत? [विडियो] – Cartoq Hindi: Car news in Hindi, कार ख़बरें हिंदी में

Mahindra XUV500 चली 3 फीट पानी के अन्दर: क्या हो सकता है गलत? [विडियो]

हमारे देश में सड़कों की जैसी हालत है उसे देखते हुए केवल एक घंटे की बारिश में भी बाड़ जैसे हालत पैदा हो सकते हैं. ऐसी सड़कों पर लगभग हम सभी ने अपनी-अपनी क्रस के साथ जंगे लड़ी हैं. तो हमारी बात मानिये और जान लीजिये की पानी और आपकी कार कभी डॉट नहीं हो सकते. दरअसल पानी तो आपकी गाड़ी का सबसे बड़ा दुश्मन है. यह आपकी गाड़ी को आपकी कल्पना के परे नुक्सान पहुंचा सकता है. हमने आपको कई ऐसे विडियो दिखाए हैं जिसमें पानी से कार को होने वाले नुकसान के बारे में अच्छी तरह बताया गया है. आज हम आपके लिए लाये हैं दो विडियो जो गहरे पानी में कार को होने वाले नुकसान के बारे में आपको और जानकारी देते हैं.

दोनों ही विडियो एक ही कार के हैं (Mahindra XUV500) पर अलग अलग समय पर बनाये गए हैं. दोनों ही विडियो में हम देखते हैं कैसे यह गाड़ी एक पानी से भरी सड़क पार करने का प्रयास कर रही है. गाड़ी चलने के तरीके से लगता है की इस Mahindra XUV500 का ड्राईवर एक एक्सपर्ट है. वह पानी से मौजूद चुनौतियों के बावजूद बहुत सावधानी से गहरे पानी से अपनी कार आराम से निकाल लेता है. गाड़ी और लोगों की मौजूदगी से यह साफ़ है की कार कम से कम 3 से 4 फीट गहरे पानी में है.

कार के अन्दर आप इंफोटेनमेंट स्क्रीन पर कई सारे चेतावनी वाले सन्देश देख सकते हैं. ऐसा गाड़ी के इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम में पानी घुस जाने के कारण हुआ है. आगे चल के इस विडियो में हम देखते हैं की एक ट्रेक्टर और ट्रक कार के पास से निकलते हैं.

दोनों ही पानी की एक ऊँची लहर बनाते हुए जाते हैं और यह अस्सानी से गाड़ी के बोनट तक पहुँचती हैं और पानी विंड-शील्ड तक पहुँच जाता है. वह तो अच्छा हुआ की ड्राईवर ने कार नहीं रुका वर्ना परिणाम बुरा हो सकता था.

अगर आपको लगता है की एक बड़ी SUV खरीदने के बाद आप गहरे से गहरे पानी से भी आसानी से निकाल सकते हैं तो आप बहुत गलत हैं. जहाँ यह सच है की Mahindra XUV500 जैसी SUVs पानी से थोड़ा अच्छी तरह निपट सकती हैं, याद रहे की यह कोई सबमरीन नहीं हैं.

Xuv Flood 4 Water

हमारी सलाह तो यही है की अपनी कार की सेहत के वास्ते ऐसी परिस्थितयों में आप अपनी गाड़ी ना ही चलायें. ऐसे रास्तों पर गाड़ी चलाने के कई सरे नुकसान हैं और कई अनुभवी चालक इस बात को मानेंगे की उनकी कार कभी भी पहली जैसी नहीं रही.

इधर पेश हैं कुछ नुकसान गहरे पानी में गाड़ी चलाने के.

खतरे गहरे पानी में कार चलने के

इलेक्ट्रिक कॉम्पोनेन्ट में खराबी

पानी में कार ले जाने के बाद यह सबसे पहली खराबी है जो सभी गाड़ियों में आती है. जैसा की आप विडियो में देख सकते, कार की इंफोटेनमेंट स्क्रीन पर अजीबोगरीब सन्देश आना शुरू हो जाते हैं. गाड़ी के सेंसर और अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरण में खराबी के कारण शोर्ट-सर्किट हो सकता है और कार को आग भी सकती है.

हाइड्रोस्टैटिक लॉक

हाइड्रोस्टैटिक लॉक या हाइड्रो लॉक एक ऐसी स्थिति होती है जिसमें इंजन चलना बंद कर देता है. ऐसा तब होता है जब पानी कार के सिलिंडर में घुस जाता है. हाइड्रो-लॉकिंग से कार का इंजन हमेशा के लिए ख़राब हो सकता है. ऐसी परिस्थिति से बचने के लिए ध्यान रखें की पानी का स्तर एयर-इन्टेक सेक्शन  से नीचे रहे.

एग्जॉस्ट ब्लॉक

आपकी कार में पानी एग्जॉस्ट के जरिये भी आ सकता है. अगर इंजन लगातार पानी के अन्दर चलता रहा तो पानी गाड़ी के एग्जॉस्ट में भी पहुँच सकता है जिससे आपकी गाड़ी को काफी नुकसान हो सकता है.

पानी में गाड़ी चलने की तरकीबें

बहुत धीरे चलायें कार

अगर आप पानी से भरे रास्तों पर कार चला रहे हैं तो ध्यान रखें की गाड़ी की गति ज्यादा न हो. पानी में उतारते वक़्त कार की गति 5 किलोमीटर प्रति घंटे से ज्यादा न हो और इसे धीरे-धीरे 10 से 15 किलोमीटर प्रति घंटे तक ले जायें. धीरे गाड़ी चलने से आपकी गाड़ी के सामने पानी में एक डिप्रेशन बनता है और पानी इंजन में नहीं आता. चाहें कुछ भी हो जाये कार का इंजन बंद न होने दे. अगर आपकी कार रुक गयी तो फिर आप भगवन भरोसे ही हैं.

भारी-भरकम गाड़ियों से रहे दूर

इसके पीछे भी कारण वही है जो ऊपर बताया गया (डिप्रेशन). हमारी मानें तो भारी-भरकम गाड़ियों जैसे बस और ट्रैक से डोर रहें. इनसे पैदा होने वाली ऊँची लहरें यदि आपकी कार के बोनट पर पड़ी तो आपकी कार का इंजन हमेशा हमेशा के लिए ख़राब हो सकता है. इसलिए पानी से भरी सड़क पर इन वाहनों से दूर रहे. सबसे अच्छा तो यह होगा की अगर ऐसी सड़कों पर गाड़ी चलाने की नौबत आये तो जिम्मा किसी एक्सपर्ट ड्राईवर को दें.

×

Subscibe our Newsletter