बीच पर लगभग डूब गयी Mahindra TUV300, कैसे बरतें ऐसे जगहों पर सावधानी

अगर ध्यान से किया जाए तो बीच ड्राइविंग काफी मज़ेदार हो सकती है. लेकिन अगर सही से नहीं किया गया तो ये आपको विपत्ति में डाल सकता है. पेश है ऐसा ही एक विडियो जिसमें एक Mahindra TUV300 एक गील बीच पर बुरी तरह से फँस गयी है और उसे बचाने के लिए एक, दो नहीं बल्कि तीन ट्रैक्टर्स की ज़रुरत पड़ी.

यहाँ क्या हो रहा है?

इस विडियो में गुजरात में सूरत के डुमास बीच पर एक Mahindra TUV300 है. इस फेमस बीच पर कई स्थानीय लोग और टूरिस्ट आते हैं और कई लोग बीच पर ड्राइविंग का मज़ा लेने भी आते हैं. ये विडियो दिखाता है की अगर आप सावधानी नहीं बरतें तो चीज़ें कितनी गलत हो सकती हैं.

Mahindra TUV300 को इन फ़ोटोज़ के स्लाइड-शो में बुरी तरीके से फंसे हुए देखा जा सकता है. यहाँ TUV300 अपने विंडो लाइन (4-4.5 फीट) तक अन्दर जा चुकी है. दो ट्रैक्टर्स इस फंसे हुए TUV300 को बचाने आते हैं. पहले, एक अकेले ट्रैक्टर ने इसे बचाने की कोशिश की लेकिन फिर मदद के लिए दूसरे ट्रैक्टर को बुलाया गया. बाद में हम मदद के लिए एक तीसरे ट्रैक्टर को आते हुए देख सकते हैं.

पहले, दो ट्रैक्टर साथ में काम करते हैं और गाड़ी को गड्ढे से बाहर निकालने की कोशिश करते हैं. इसमें बहुत मेहनत की ज़रुरत पड़ी क्योंकि गीली रेत उसमें फँसी किसी भी चीज़ को जकड़ लेती है. बचाव कार्य के दौरान इसका बम्पर डैमेज हो जाता है और हमें इंटरनल या मैकेनिकल डैमेज के बारे में पता नहीं है लेकिन इंटरनल डैमेज नहीं होना चाहिए क्योंकि पानी गाड़ी के इंजन कम्पार्टमेंट के अन्दर नहीं घुसा होगा.

ट्रैक्टर्स क्यों नहीं फँस रहे?

ट्रैक्टर्स भले ही TUV300 से भारी हों, लेकिन उनके टायर्स ज़्यादा चौड़े हैं. चौड़ा टायर गाड़ी के वज़न को बराबर एरिया पर फैलाता है जिससे ज़मीन पर कम प्रेशर पड़ता है. यही कारण है की ट्रैक्टर्स कीचड़ और दल-दल में आसानी से चल पाते हैं. यही तकनीक बैटल टैंक और भारी क्रेन में इस्तेमाल होने वाले Caterpillar Tracks में इस्तेमाल की जाती है.

इस बात को नोट किया जाना चाहिए की TUV300 एक रियर व्हील ड्राइव वाली गाड़ी है और काफी भारी भी है. इस कार में 4X4 ऑप्शनल फीचर के रूप में भी उपलब्ध नहीं है. इस गाड़ी को दलदली या फिसलन भरी जगहों पर ले जाते वक़्त एहतियात बरतना चाहिए.

बीच पर ड्राइविंग?

बीच ड्राइविंग सही से की जाने पर बेहद खुशनुमा होती है. आपको बीच पर किसी भी कार को चलाते हुए इन बातों को ध्यान में रखना चाहिए.

  • हमेशा चिन्हित बीच ड्राइविंग एरिया जाइए. दक्षिणी भारत में कुछ बीच हैं जहां कार्स की आने की अनुमति है. ऐसे बीच में सतह कड़ी है जिससे गाड़ी आसानी से नहीं धंसती.
  • अगर आप फिर भी उलझन नहीं हैं, तो ऐसे जगहों का ध्यान रखिये जहां आपकी गाड़ी फँस सकती है. अगर आप अपने पैरों के पास पानी देख पा रहे हैं तो आपकी गाड़ी आसानी से फँस सकती है.
  • अगर आप फँस जाएँ तो हमेशा एक बचाव गाड़ी का इंतजाम रखें. बचाव गाड़ी के आने में देर आपकी कार को डैमेज कर सकती है.
  • ऐसे जगहों पर आगे बढ़ने से पहले 4X4 ऑन कर लें.
  • ऐसे बीच पर धीरे चलें, ज़मीन के अचानक धंसने से फ्रंट व्हील फँस सकता है और तेज़ रफ़्तार पर कार पलट सकती है.

सोर्स