Advertisement

Mahindra Scorpio से Toyota Innova: इंडियन पुलिस इन कार्स को इस्तेमाल करती हैं

इंडिया की पुलिस फ़ोर्स को अपने पुराने jeeps में चलने के लिए जाना जाता है. लेकिन आज की पुलिस फ़ोर्स नए गाड़ियों में चलती है जो सड़क पर मौजूद बाकी गाड़ियों जितने ही आधुनिक हैं. इस पोस्ट में हम इंडिया में पुलिस फ़ोर्स द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली ऐसी ही गाड़ियों पर एक नज़र डालेंगे.

Toyota Innova

इस्तेमालकर्ता: दिल्ली पुलिस, यूपी पुलिस, आंध्र प्रदेश पुलिस, तमिलनाडु पुलिस

Mahindra Scorpio से Toyota Innova: इंडियन पुलिस इन कार्स को इस्तेमाल करती हैं

जहां काफी मशहूर MPV को और भी प्रीमियम Innova Crysta से रीप्लेस कर दिया गया है, Innova अब भी पुलिस के गाड़ी के लिए एक मजबूत पसंद है. इसे कई शहरों में इस्तेमाल किया जाता है, इसके अन्दर काफी जगह है, और अपने ब्रांड के जैसे ही ये हमारे और आपके सोच से भी ज्यादा दीं तक बिना किसी मुश्किल के चलेगा. ये Qualis से एक कदम ऊपर है लेकिन ये बतलाता है की पुलिस क्या सोच रही है जब वो शहर में Innova जैसी ज्यादा तेज़ और रोड-परस्त गाड़ियाँ इस्तेमाल कर रही है.

Mahindra Scorpio से Toyota Innova: इंडियन पुलिस इन कार्स को इस्तेमाल करती हैं

Maruti Gypsy

इस्तेमालकर्ता: दिल्ली पुलिस, हरियाणा पुलिस

Mahindra Scorpio से Toyota Innova: इंडियन पुलिस इन कार्स को इस्तेमाल करती हैं

इस सेगमेंट का इकलौता पेट्रोल ऑफ-रोडर आज भी कई राज्यों के लिए PCR गाड़ी का काम कर रहा है. बढ़िया मैकेनिकल्स का मतलब है की Gypsy भरोसेमंद है और इसकी सर्विसिंग में भी कोई परेशानी नहीं होती. पुलिस को ज्यादा ऑफ-रोडिंग करने की ज़रुरत नहीं होती, लेकिन अगर ऐसा होता भी है तो Gypsy को इसमें कोई दिक्कत नहीं आयेगी. लेकिन ये रोड पर थोड़ा निराश करती है जिसके चलते ये पुलिस के लिए सबसे उपयुक्त गाड़ी का खिताब नहीं ले पाती.

Maruti Ertiga

इस्तेमालकर्ता: चंडीगढ़ पुलिस, हरियाणा पुलिस, मुंबई पुलिस

Mahindra Scorpio से Toyota Innova: इंडियन पुलिस इन कार्स को इस्तेमाल करती हैं

Innova के नीचे प्लेसड Ertiga इंडिया के मार्केट की इकलौती पॉपुलर MPV है. इसके अन्दर काफी जगह है लेकिन ये कार से ज्यादा मिलती जुलती है और intra-city chases और पेट्रोलिंग में ये काफी काम आती है. इसमें 7 लोग भी बैठ सकते हैं और इसके पेट्रोल और डीजल दोनों ही इंजन अच्छी रफ़्तार पकड़ सकते हैं.

Mahindra Reva

इस्तेमालकर्ता: चंडीगढ़ पुलिस

Mahindra Scorpio से Toyota Innova: इंडियन पुलिस इन कार्स को इस्तेमाल करती हैं

फर्स्ट जनरेशन Reva, या Reva-I इंडिया में बेचीं जाने वाली पहली इलेक्ट्रिक कार थी. और छोटा मार्केट होने के बावजूद, इस देश की सबसे अच्छे से प्लांड सिटी के लिए ये बेहतरीन गाड़ी थी. इसे चंडीगढ़ पुलिस द्वारा इस्तेमाल किया जाता था लेकिन अब जब इलेक्ट्रिक Verito (e-Verito के नाम से जाने जानी वाली) और Reva e2O उपलब्ध हैं, वो ज्यादा बेहतर और पॉवरफुल ऑप्शन अपना सकते हैं.

Mahindra Scorpio

इस्तेमालकर्ता: तेलंगाना पुलिस, आंध्र प्रदेश पुलिस, पंजाब पुलिस

Mahindra Scorpio से Toyota Innova: इंडियन पुलिस इन कार्स को इस्तेमाल करती हैं

उपयोगी UVs से इतर, Scorpio में ज्यादा स्पीड और कम्फर्ट है. ये ऑफ़-रोड भी जा सकती है. लेकिन सबसे ज़रूरी बात ये है की ये चलाने में आसान है और कानून तोड़ने वालों का पीछा करते वक़्त हार नहीं मानेगी.

Tata Safari Storme

इस्तेमालकर्ता: मध्य प्रदेश पुलिस

Mahindra Scorpio से Toyota Innova: इंडियन पुलिस इन कार्स को इस्तेमाल करती हैं

Scorpio की प्रतिद्वंदी और इंडिया के सबसे पहले SUVs में से एक Safari को काफी लोग पसंद करते हैं. इसकी राइड भी काफी आरामदायक है. और ये लम्बी दूरी के सफ़र को काफी अच्छे से संभालती है. बोनट के नीचे एक ताकतवर इंजन के साथ, Safari Storme धीरे चलने वालों में से नहीं है, और अगर आप कानून तोड़ते हैं तो आप इससे बच निकलने की उम्मीद नहीं रख सकते.

Tata Indigo

इस्तेमालकर्ता: कोलकाता पुलिस, आगरा पुलिस

Mahindra Scorpio से Toyota Innova: इंडियन पुलिस इन कार्स को इस्तेमाल करती हैं

Indigo और 4 मीटर से छोटी Indigo eCS को पुलिस की गाड़ी के रूप में इस्तेमाल किया जा चुका है. आज के पैसेंजर कार के मानकों के हिसाब से ये भले ही पुरानी हो गयी हों, इन कार्स में काफी जगह है और इनकी राइड काफी आरामदायक हो सकती है. Tata के पहले hatchback Tata Indica पर आधारित गाड़ी की चौंकाने वाली बात थी इसका बैलेंस. मुश्किल में पड़े लोगों के मदद के लिए ये गाड़ी बेहतरीन थी लेकिन कानून तोड़ने वालों के लिए नहीं क्योंकि वो ऐसे कम्फर्ट के हकदार नहीं.

Mahindra Bolero

इस्तेमालकर्ता: महाराष्ट्र पुलिस, आंध्र प्रदेश पुलिस, केरल पुलिस, कर्नाटक पुलिस

Mahindra Scorpio से Toyota Innova: इंडियन पुलिस इन कार्स को इस्तेमाल करती हैं

इंडिया मार्केट की सबसे सफलतम UVs में से एक, Bolero पुलिस के लिए एक काफी पॉपुलर पसंद है. ये खराब रास्तों पर आसानी से चल सकती है, इसमें कानून तोड़ने वालों को बिठाने के लिए काफी जगह भी है, और रोड पर इसे चलाने में कोई दिक्कत भी नहीं आती. Sumo के जैसे ही Bolero की ओल्ड-स्कूल स्टाइलिंग इसे बेहतर लुक देती है.

Ford EcoSport

इस्तेमालकर्ता: आंध्र प्रदेश पुलिस

Mahindra Scorpio से Toyota Innova: इंडियन पुलिस इन कार्स को इस्तेमाल करती हैं

इस कॉम्पैक्ट SUV को हाईवे पेट्रोलिंग गाड़ी के रूप में इस्तेमाल किया जाता है. पर्याप्त पॉवर रखने वाली और एक SUV के हिसाब से चलाने में आसान, EcoSport खड्डों भरी सड़क, लम्बे हाईवे, और तीखे मोड़ पर आसानी से चल सकती है. फिलहाल पुलिस द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली ये इकलौती कॉम्पैक्ट SUV है और Ford को इस बात पर ज़रूर गर्व होगा.

Mahindra TUV300

इस्तेमालकर्ता: महाराष्ट्र पुलिस

Mahindra Scorpio से Toyota Innova: इंडियन पुलिस इन कार्स को इस्तेमाल करती हैं

महाराष्ट्र पुलिस ने हाल ही में पेट्रोलिंग के लिए Mahindra TUV 300 कॉम्पैक्ट SUV खरीदी है. TUV 300 अपने रफ एंड टफ लुक्स और भयानक डिजाईन के लिए फेमस है. ये सब 4 मीटर SUV बेहद पॉवरफुल भी है और ये इतनी कॉम्पैक्ट है की शहर के सड़कों पर बिना किसी दिक्कत के चल सकती है.

Mahindra Marksman

इस्तेमालकर्ता: पश्चिम बंगाल पुलिस, कर्नाटक पुलिस, मुंबई पुलिस

Mahindra Scorpio से Toyota Innova: इंडियन पुलिस इन कार्स को इस्तेमाल करती हैं

UVs के सूची में सबसे ऊपर है Mahindra Marksman जो मुंबई पुलिस द्वारा इस्तेमाल की जाती है. इस बुलेट-प्रूफ गाड़ी में 6 लोग बैठ सकते हैं, इसमें 360-डिग्री विसिबिलिटी है, और इसमें कई फायरिंग पॉइंट एवं एक मशीन गन पॉइंट भी है. इसमें एक 2.5-लीटर CRDe इंजन है जो अधिकतम 105 बीएचपी और 228 एनएम उत्पन्न करता है.

Polaris ATV

इस्तेमालकर्ता: केरल पुलिस, गुजरात पुलिस

Mahindra Scorpio से Toyota Innova: इंडियन पुलिस इन कार्स को इस्तेमाल करती हैं

Marksman भी थोड़ी बहुत आम गाड़ी है लेकिन RZR चीज़ों को एक दूसरे लेवल पर ले जाती है. Polaris RZR S 800 एक ऑफ-रोड मशीन है जो खराब रोड या बिना रोड वाली जगह पर आसानी से चल सकती है. 53 पीएस उत्पन्न करने वाले 760 सीसी इंजन के साथ ये ATV 0-100 किमी/घंटे मात्र 4.5 सेकेण्ड में पहुँच सकती है. इसमें दो लोग बैठ सकते हैं जो ठीक है क्योंकि ये गाड़ी मुख्यतः सर्विलांस के लिए है. और कानून तोड़ने वालों के लिए ये एक दुस्वप्न जैसी है.