Law Enforcing Cars of India Used by Police, Starsky and Hutch Anyone? Maruti Ertiga से Mahindra Scorpio तक, पुलिस इस्तेमाल करती है इन गाड़ियों को

Maruti Ertiga से Mahindra Scorpio तक, पुलिस इस्तेमाल करती है इन गाड़ियों को

इंडियन पुलिस के पास शायद दुनिया में सबसे ज्यादा ग्लैमर वाली नौकरी न हो, लेकिन कुछ साल पहले के मुकाबले पुलिस के कार्स में बदलाव ज़रूर आया है. एक नज़र डालते हैं इंडियन पुलिस की पुरानी और नयी गाड़ियों पर.

Delhi:

Toyota Innova

जहां काफी मशहूर MPV को और भी प्रीमियम Innova Crysta से रीप्लेस कर दिया गया है, Innova अब भी पुलिस के गाड़ी के लिए एक मजबूत पसंद है. इसे कई शहरों में इस्तेमाल किया जाता है, इसके अन्दर काफी जगह है, और अपने ब्रांड के जैसे ही ये हमारे और आपके सोच से भी ज्यादा दीं तक बिना किसी मुश्किल के चलेगा. ये Qualis से एक कदम ऊपर है लेकिन ये बतलाता है की पुलिस क्या सोच रही है जब वो शहर में Innova जैसी ज्यादा तेज़ और रोड-परस्त गाड़ियाँ इस्तेमाल कर रही है.

Maruti Gypsy

इस सेगमेंट का इकलौता पेट्रोल ऑफ-रोडर आज भी कई राज्यों के लिए PCR गाड़ी का काम कर रहा है. बढ़िया मैकेनिकल्स का मतलब है की Gypsy भरोसेमंद है और इसकी सर्विसिंग में भी कोई परेशानी नहीं होती. पुलिस को ज्यादा ऑफ-रोडिंग करने की ज़रुरत नहीं होती, लेकिन अगर ऐसा होता भी है तो Gypsy को इसमें कोई दिक्कत नहीं आयेगी. लेकिन ये रोड पर थोड़ा निराश करती है जिसके चलते ये पुलिस के लिए सबसे उपयुक्त गाड़ी का खिताब नहीं ले पाती.

Chevrolet Tavera

Tavera को Bolero जैसी बाकी UVs के तुलना में एक प्रीमियम औफ़रिंग के जैसे मार्केट किया गया था और उनके लो एंड वर्शन को पुलिस की गाड़ियों के रूप में इस्तेमाल किया जाता था. इसके पहले की पुलिस को पेट्रोलिंग के लिए MPVs मिलीं, अन्दर में काफी जगह और बढ़िया औं-रोड डायनामिक्स Tavera को एक बढ़िया पसंद बनाते थे.

Chandigarh

Maruti Suzuki Ertiga

Innova के नीचे प्लेसड Ertiga इंडिया के मार्केट की इकलौती पॉपुलर MPV है. इसके अन्दर काफी जगह है लेकिन ये कार से ज्यादा मिलती जुलती है और intra-city chases और पेट्रोलिंग में ये काफी काम आती है. इसमें 7 लोग भी बैठ सकते हैं और इसके पेट्रोल और डीजल दोनों ही इंजन अच्छी रफ़्तार पकड़ सकते हैं.

Reva

फर्स्ट जनरेशन Reva, या Reva-I इंडिया में बेचीं जाने वाली पहली इलेक्ट्रिक कार थी. और छोटा मार्केट होने के बावजूद, इस देश की सबसे अच्छे से प्लांड सिटी के लिए ये बेहतरीन गाड़ी थी. इसे Chandigarh पुलिस द्वारा इस्तेमाल किया जाता था लेकिन अब जब इलेक्ट्रिक Verito (e-Verito के नाम से जाने जानी वाली) और Reva e2O उपलब्ध हैं, वो ज्यादा बेहतर और पॉवरफुल ऑप्शन अपना सकते हैं.

Madhya Pradesh

Tata Safari Storme

Scorpio की प्रतिद्वंदी और इंडिया के सबसे पहले SUVs में से एक Safari को काफी लोग पसंद करते हैं. इसकी राइड भी काफी आरामदायक है. और ये लम्बी दूरी के सफ़र को काफी अच्छे से संभालती है. बोनट के नीचे एक ताकतवर इंजन के साथ, Safari Storme धीरे चलने वालों में से नहीं है, और अगर आप कानून तोड़ते हैं तो आप इससे बच निकलने की उम्मीद नहीं रख सकते.

West Bengal

Tata Indigo

Indigo और 4 मीटर से छोटी Indigo eCS को पुलिस की गाड़ी के रूप में इस्तेमाल किया जा चुका है. आज के पैसेंजर कार के मानकों के हिसाब से ये भले ही पुरानी हो गयी हों, इन कार्स में काफी जगह है और इनकी राइड काफी आरामदायक हो सकती है. Tata के पहले hatchback Tata Indica पर आधारित गाड़ी की चौंकाने वाली बात थी इसका बैलेंस. मुश्किल में पड़े लोगों के मदद के लिए ये गाड़ी बेहतरीन थी लेकिन कानून तोड़ने वालों के लिए नहीं क्योंकि वो ऐसे कम्फर्ट के हकदार नहीं.

Marksman

Maharashtra

Tata Sumo Gold

अभी भी इस्तेमाल की जाने वाली Sumo Gold में एक ताकतवर इंजन है (3-लीटर यूनिट जो लगभग 85 पीएस और 250 एनएम उत्पन्न करती है), इसका इंटीरियर बेहतर है लेकिन इसमें वही हेवी ड्यूटी और लम्बे समय तक इस्तेमाल की जा सकने वाली क्षमता है. इसका पुराना डिजाईन इसे पुलिस की गाड़ी का लुक देती है.

Mahindra Bolero

इंडिया मार्केट की सबसे सफलतम UVs में से एक, Bolero पुलिस के लिए एक काफी पॉपुलर पसंद है. ये खराब रास्तों पर आसानी से चल सकती है, इसमें कानून तोड़ने वालों को बिठाने के लिए काफी जगह भी है, और रोड पर इसे चलाने में कोई दिक्कत भी नहीं आती. Sumo के जैसे ही Bolero की ओल्ड-स्कूल स्टाइलिंग इसे बेहतर लुक देती है.

Maruti Suzuki Ertiga

Mahindra Marksman

UVs के सूची में सबसे ऊपर है Mahindra Marksman जो Mumbai पुलिस द्वारा इस्तेमाल की जाती है. इस बुलेट-प्रूफ गाड़ी में 6 लोग बैठ सकते हैं, इसमें 360-डिग्री विसिबिलिटी है, और इसमें कई फायरिंग पॉइंट एवं एक मशीन गन पॉइंट भी है.

Gujarat

Polaris RZR

Marksman भी थोड़ी बहुत आम गाड़ी है लेकिन RZR चीज़ों को एक दूसरे लेवल पर ले जाती है. Polaris RZR S 800 एक ऑफ-रोड मशीन है जो खराब रोड या बिना रोड वाली जगह पर आसानी से चल सकती है. 53 पीएस उत्पन्न करने वाले 760 सीसी इंजन के साथ ये ATV 0-100 किमी/घंटे मात्र 4.5 सेकेण्ड में पहुँच सकती है. इसमें दो लोग बैठ सकते हैं जो ठीक है क्योंकि ये गाड़ी मुख्यतः सर्विलांस के लिए है. और कानून तोड़ने वालों के लिए ये एक दुस्वप्न जैसी है.

Andhra Pradesh and Telangana

Ford EcoSport

इस कॉम्पैक्ट SUV को हाईवे पेट्रोलिंग गाड़ी के रूप में इस्तेमाल किया जाता है. पर्याप्त पॉवर रखने वाली और एक SUV के हिसाब से चलाने में आसान, EcoSport खड्डों भरी सड़क, लम्बे हाईवे, और तीखे मोड़ पर आसानी से चल सकती है. फिलहाल पुलिस द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली ये इकलौती कॉम्पैक्ट SUV है और Ford को इस बात पर ज़रूर गर्व होगा.

Mahindra Scorpio

उपयोगी UVs से इतर, Scorpio में ज्यादा स्पीड और कम्फर्ट है. ये ऑफ़-रोड भी जा सकती है. लेकिन सबसे ज़रूरी बात ये है की ये चलाने में आसान है और कानून तोड़ने वालों का पीछा करते वक़्त हार नहीं मानेगी.

Toyota Innova

Bolero

Scorpio

Punjab

Mahindra Scorpio Getaway

यूँ तो ये एक कमर्शियल पिक-अप ट्रक नहीं थी, Scorpio Getaway में Scorpio की खूबियों के साथ पीछे में एक लोडिंग बे था और पीछे के सीट्स नहीं थे. मज़बूत और वांछित Getaway बाकी आम गाड़ियों के बीच अजीब सी नहीं दिखती लेकिन ये तेज़ भागने वालों को पकड़ ज़रूर सकती है. और इसमें माल ढोने की अतिरिक्त क्षमता भी है.

Kerala

Chevrolet Enjoy

इंटरसेप्टर गाड़ी के रूप में इस्तेमाल की जाने वाली Enjoy बढ़िया काम करती है क्योंकि इसके अन्दर काफी जगह है (अन्दर स्पीड-सेंसिंग इक्विपमेंट होने के बावजूद), हवादार केबिन है, और इसकी कीमत भी ज्यादा नहीं है. Innova के जैसे इसका RWD लेआउट के मतलब है की स्टीयरिंग पॉवर डिलीवरी के विघ्न से आज़ाद रहती है लेकिन इसमें तेज़ रहने के लिए काफी पॉवर है.

Invader

दोनों मॉडल के प्रोडक्शन से बाहर होने के कुछ साल बाद Mahindra Invader को इस्तेमाल किया गया था. Bolero के छोटे संस्करण पर आधारित Invader ज्यादा मॉडर्न थी, थोड़ा बेहतर दिखती थी, और इसमें रोड पर चलने की थोड़ी बेहतर क्षमता थी.

Mahindra Bolero

Polaris

Tamil Nadu

Toyota Innova

Hyundai Accent

विकसित देश — जहां अधिकतर पुलिस कार सेडान होती हैं — के उलट, हम उनसे अलग हट गए हैं. Accent सबसे पॉपुलर चॉइस में से एक थी और इसे Tamil Nadu के Chennai में हर जगह देखा जाता था. तेज़ एवं अच्छे रोड पर बेहतरीन Accent बस एक जगह मार खाती थी और वो थी इसकी सीटिंग और साथ ही खराब सड़कों पर ये उतनी कारगर नहीं थी.

Chevrolet Tavera

Karnataka

Ertiga

Marksman

Bolero

Rajasthan

Mahindra Thar

जब Mahindra ने Thar लॉन्च की थी, तो इसके कम प्रसिद्ध वर्शन जैसे मेजरगंज भी पुराने गाड़ियों के लिए सबसे अच्छी रिप्लेसमेंट थे. और जैसा आप जानते है कई राज्य के पुलिस ऑफिसर आज Mahindra Thars को उसके DI अवतार में इस्तेमाल कर रहे हैं. ये अभी भी MM540 जैसी दिखती है और इसके चारों ओर लीफ-स्प्रिंग हैं, ये CRDe वर्शन के मुकाबले खराब सड़कों पर ज्यादा अच्छे से चल सकती है.

Goa

Sumo

Uttar Pradesh

Innova

Jeep

कहीं भी जाने की क्षमता के साथ Jeep पुलिस फ़ोर्स के लिए सबसे बेहतरीन गाड़ियों में से एक साबित हुई. आसानी से चढ़ने और उतरने की सहूलियत का मतलब था की आर्म्स और रायट शील्ड ले जाना कोई दिक्कत की बात नहीं थी. इसमें एसी या रोड पर चलने वाले सस्पेंशन की लक्ज़री तो नहीं थी लेकिन ये काम के लिए बनी थी और कम ही निराश करती थी. CJ3B और MM540s दोनों को ही इस्तेमाल किया गया था. वहीँ दूसरी ओर इसकी रफ़्तार और डायनामिक क्षमताएं सीमित थीं.

Indigo

Source: 12789,  1112131415 (a), 161719212223242526

×

Subscibe our Newsletter