भारत में नई Maruti Swift और Dzire को इस कारण से रिकॉल किया गया है

Maruti Suzuki India, भारत में सबसे बड़ी कार निर्माता और विक्रेता ने भारतीय बाजार में नई Swift और Dzire को रिकॉल किया है. निर्माता ने 7 मई 2018 से 5 जुलाई के बीच निर्मित 1,279 वाहनों को भारत में रिकॉल किया है.

ये रिकॉल Airbag Controller Unit (ACU) में संभावित ख़राबी को संबोधित करेगा. Maruti का कहना है कि संभावित ख़राबी से 566 नई Swift और 713 नई Dzires प्रभावित हुई हैं. इस सर्विस मुहीम में डीलरशिप प्रभावित वाहनों का निरीक्षण करने के लिए और यदि आवश्यक हो तो दोषपूर्ण हिस्से को प्रतिस्थापित करेगा. ये प्रतिस्थापन प्रक्रिया मुफ्त है. प्रभावित वाहनों के मालिकों से उनके संबंधित डीलरशिप द्वारा संपर्क किया जाएगा.

नई Swift और Dzire के ग्राहक भी आधिकारिक Maruti Suzuki India Ltd वेबसाइट पर जा सकते हैं और यह पता लगाने के लिए अपने चेसिस नंबर भर सकते हैं कि उनके वाहनों को रिकॉल किया गया है या नहीं. नई Swift के लिए, चेसिस नंबर MBH से शुरू होगा जबकि Dzire में MA3 के साथ चिह्नित चेसिस नंबर होता है जिसके बाद 14 अंकों के अल्फा-न्यूमेरिक नंबर होते हैं. वाहन की चेसिस संख्या वाहन ID प्लेट या इनवॉइस और रजिस्ट्रेशन कागज़ों में होती है.

दोनों नए वाहन ब्रांड के बेस्ट सेलिंग उत्पाद हैं. जून के महीने में, कंपनी ने Dzire के 24,465 यूनिट्स और Swift के 18,171 यूनिट्स बेचे थे. Swift और Dzire में  ABS+EBD और ड्यूल फ्रंट एयरबैग जैसी स्टैण्डर्ड  सुरक्षा फीचर्स मिलते हैं.

नया HEARTECT प्लेटफार्म इन दोनों वाहनों का आधार बनता है और वे इंजन भी साझा करते हैं. वाहनों के पेट्रोल वर्शन 1.2 लीटर 4-सिलेंडर इंजन द्वारा संचालित है जो अधिकतम 82 बीएचपी और 113 एनएम उत्पन्न करता है. डीजल वेरिएंट 1.3-लीटर इंजन द्वारा संचालित हैं जो अधिकतम 74 बीएचपी और 190 एनएम उत्पन्न करते हैं. AMT ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन दोनों इंजन ऑप्शंस के साथ उपलब्ध है.

स्वेच्छापूर्वक रिकॉल अंतरराष्ट्रीय बाजारों में बहुत आम है और वाहन में किसी भी विनिर्माण गलती या कमी को सुधारने के लिए किया जाता है. यह सुनिश्चित करने के लिए किया जाता है कि सभी उपकरण सही तरीके से काम करें.