महिला ट्रैफिक कांस्टेबल ने भगोड़ी Honda Activa राइडर को ऐसे रोका [वीडियो]

भारत में प्रतिदिन अनगिनत उल्लंघनकर्ताओं को कई कारणों से पकड़ा जाता है. इनमें से कई मौका-ए-वारदात से भाग निकलने की कोशिश करते हैं. यहाँ एक ऐसी ही वीडियो है जो गुजरात से है जिसमें Honda Activa पर सवार एक महिला मौका-ए-वारदात से भागने की कोशिश कर रही है.

यहाँ हो क्या रहा है?

इस वीडियो में एक महिला राइडर को भीड़ में से निकलने के साथ तेज़ी से मेन रोड पर भागने की कोशिश करती है. महिला ट्रैफिक कांस्टेबल को जल्द ही एहसास होता है कि वो महिला वहाँ से भाग निकलने की फिराक में है और वो उस महिला की Activa की ग्रैब रेल पकड़ लेती है. महिला ट्रैफिक कांस्टेबल स्कूटर पर सवार महिला को रोकने की कोशिश करती है लेकिन वो महिला बेफिक्र होकर और ज़्यादा एक्सेलरेशन देती रहती है. आख़िरकार ये महिला राइडर, ट्रैफिक कांस्टेबल के हार ना मानने के कारण रुक जाती है.

ये घटना Rajkot की भीड़-भाड़ वाली सड़कों पर हुई थी जिसे मोबाइल फ़ोन में कैद कर लिया गया. स्कूटर को रोकने के बाद, महिला ट्रैफिक कांस्टेबल तुरंत Activa की चाबी निकाल लेती है ताकि महिला राइडर दोबारा भागने कोशिश नहीं कर सके.

पूरे देश में पुलिस नाकों पर रोके जाने पर पुलिस बल द्वारा 2-व्हीलर्स की चाबियाँ निकलने पर निन्दा की गई है. कई मामलों में, बाइक्स में अचानक पॉवर कट हो जाने से राइडर्स का एक्सीडेंट भी हुआ है. ज़्यादातर पुलिस बल बदमाशों से निपटने के लिए लगातार ऐसा करते हैं.

ऐसे वाहन, जो मौके से भाग निकलते हैं, का पता लगाने के लिए कोई तरीका होना चाहिए और उनपर सख्त जुर्माना लगाना चाहिए. फिलहाल ज़्यादातर पुलिस अधिकारी मौके पर चालान काटते हैं और कई राज्यों में चालान अपराधियों के रजिस्टर्ड पते पर भेजे जाते हैं. लेकिन कुछ ऐसे चालान भी हैं जिन्हें सिर्फ मौका-ए-वारदात पर काटा जा सकता है और इनके लिए पुलिस को वाहनों को रोकना पड़ता है.

यह आश्चर्य की बात है कि उसे रोकने की कोशिश करते समय महिला कांस्टेबल का संतुलन नहीं खोया. यदि ऐसा हो जाता तो महिला को गंभीर चोटें आ सकती थीं. ये अज्ञात है कि इस स्कूटर को क्यों रोका गया था. वीडियो में महिला राइडर हेलमेट नहीं पहने हुए है, जो भारत में पुरुषों और महिलाओं के लिए अनिवार्य है.