TVS Apache RR310 के LED हेडलैंप को गैरकानूनी बता कर पुलिसवाले ने काटा चालान

भारत में अक्सर यह पाया जाता है की पुलिसवाले अपने हिसाब से ट्रैफिक नियम बना कर बाइक चालकों और मालिकों से रूपए ऐंठने के चक्कर में रहते हैं. यहाँ पेश है एक ऐसा ही किस्सा जिसमें कलकत्ता के एक पुलिसवाले ने एक मनगढ़ंत नियम का हवाला देकर TVS Apache RR310 मालिक पर जुर्माना लगा दिया. और क्या था यह नियम? पुलिसवाले की मानें तो TVS Apache RR310 में कम्पनी द्वारा लगायी गयीं LED हेडलैंप गैरकानूनी हैं. उसने कहा की यह सामने से आ रहे किसी भी शख्स को कुछ देर के लिए अंधा कर सकती हैं जिससे हादसे होने का खतरा है. है न बेतुकी बात! मगर हमारे पुलिसवाले ने कुछ ऐसा ही कहा और किसी की एक ना सुनी. देखिये यह पूरा विडियो जो इस Apache के मालिक ने खुद बनाया है. हम देख सकते हैं की बाइक मालिक पुलिसवालों को समझाने की बहुत कोशिश कर रहा है पर वह किसी की एक सुनने को तैयार नहीं हैं.

नोट: TVS Apache RR 310 की हेडलैंप भारतीय कानूनों का पालन करते हुए बनाये गयी है

https://www.facebook.com/priyam.bose.77/videos/1862706960484555/?t=0

क्या हो रहा है यहाँ?

हम देख सकते हैं की पश्चिम बंगाल की राजधानी कलकत्ता के सोदपुर पुलिस स्टेशन के पुलिसवाले एक TVS Apache RR310 चालक को रोकते हैं. जब चालक पूछता है की उसे क्यों रोका गया है तो पुलिसवाले कहते हैं की बाइक में लगे LED हेडलैंप सामने से आ रहे लोगों के लिए परेशानी पैदा कर रहे हैं और यह गैर-क़ानूनी हैं.

इसके बाद वह इस बाइक चालक पर 100 रूपए का जुर्माना लगा देते हैं. बाइक चालक कहता है की यह LED हेडलैंप खुद TVS ने लगाये हैं और इसे परिवहन निगम ने भी मंजूरी दे दी हैं. मगर पुलिसवाले एक नहीं सुनते और Apache मालिक से जुर्माना भरने को कहते हैं.

हमें लगता है की अब वक़्त आ गया है की भारत के पुलिस कर्मचारी देश में स्पोर्ट्स बाइक्स के बढ़ते चलन के कारण नियमावली दोबारा पढ़ें और बिना किसी वजह किसी बाइक या कार मालिक को परेशान ना करें. TVS Apache RR310 भारत में स्टाइलिश हेडलैंप के साथ आने वाली कोई पहली बाइक नहीं है. देश में अन्य भी कई ऐसी बाइक्स हैं जैसे KTM Duke 390, Bajaj Dominar, और Yamaha FZ25.

इतना ही नहीं, अब अधिकतर कार कंपनियां भी LED हेडलैंप अपनी गाड़ियों के साथ ग्राहकों को देती हैं. Honda City हो या Maruti Swift या फिर Toyota Innova Crysta, काफी सारी कंपनियां LED हेडलैंप कार के साथ ही देती हैं. याद रहे की इन सभी हेडलैंप की सरकारी मानकों के हिसाब से जांच होती है और इसके बाद ही इन्हें बाइक या कार में इस्तेमाल करने की इजाज़त कंपनी को दी जाती है. इसलिए कलकत्ता पुलिस चाहें कुछ भी कहे, TVS Apache RR310 की हेडलैंप पूर्ण रूप से क़ानूनी है.

और क्या वजह हो सकती है इस बेतुके जुर्माने की?

मासिक लक्ष्य. जी हाँ, ऐसा कहा जाता है की भारत में पुलिसवालों को जुर्माना जमा करने का एक लक्ष्य दिया जाता है. महीने के अंत में अक्सर ऐसा देखा जाता है की पुलिसवाले किसी भी बहाने बाइक और कार चालकों पर जुर्माना लगा पैसा वसूलने की फ़िराक में रहते हैं. ऐसा करने के लिए वह खुद से अपने नियम-कानून भी बना लेते हैं.

Priyam.Bose on Facebook