Kolkata पुलिस ने Kawasaki Ninja सुपरबाइक्स समेत 40 बाइक्स ज़ब्त कीं: जानिए क्यों

पूरे भारत में बाइकर्स सप्ताहांत पर नियमित रूप से शहर की भीड़भाड़ से दूर अपने “बाइक-टाइम” का आनंद लेने के लिए झुंड में हाइवेज पर निकलते हैं. पश्चिम बंगाल पुलिस ने ऐसे बाइक समूहों पर एक क्रैकडाउन शुरू कर दिया है और एक ही दिन में 40 बाइक जब्त कर ली हैं. पेश हैं डिटेल्स.

ज़ब्त बाइक्स

01.07.18

Posted by Channel Ninetynine on Sunday, 1 July 2018

पुलिस ने एक विशेष कदम में ऐसे समूहों पर क्रैकडाउन शुरू कर दिया है. पुलिस ने पश्चिम बंगाल के Bardhaman के पास NH2 हाईवे पर बाइक्स को टारगेट किया. पुलिस का कहना है कि उन्होंने हाईवे पर अवैध रेसिंग और रैलियों पर कार्रवाई शुरू कर दी है, जो सप्ताहांत पर बाइकर्स के लिए नियमित जगह है.

वीडियो Kawasaki Z250, Kawasaki Ninja 650, KTM RC390 और Honda CBR 250R सहित विभिन्न बाइक्स दिखाती है. वीडियो में देखी जाने वाली अधिकांश बाइक्स बाजार में उप्लब्ध परफॉर्मन्स बाइक्स हैं. हाईवे पर तैनात पुलिस बल ने बाइक्स को चेकिंग के लिए रोका और लक्षित गति जाल भी सेट अप करे. बाद में वीडियो में, कुछ पुलिस को जब्त Kawasaki Z250 और Ninja 650 चलाते देखा जा सकता है.

वरिष्ठ पुलिस अधिकारी का कहना है कि वर्तमान में क्रैकडाउन केवल एक ही स्थान पर हुआ है और आने वाले हफ्तों में, पुलिस राज्य भर में इस तरह की आश्चर्यजनक जांचें करेगी. उन्होंने ये भी बताया कि बाइक्स को तब रोका गया जब वे हाईवे पर रेस कर रहे थे, और इस तरह की रेसिंग पूरे राज्य में होती हैं. वरिष्ठ पुलिस अधिकारी आगे कहते हैं कि वे उल्लंघन करने वालों पर जांच रखने के लिए विभिन्न कैमरों से CCTV फुटेज की निगरानी कर रहे हैं.

आगे की जानकारी देते हुए, पुलिस का कहना है कि पुलिस अब इन रेस लगाने वालों को पकड़ने के लिए सुबह 6 बजे से जांच शुरू कर रही है. पुलिस ने कहा कि हाईवेज़ पर कार रेसिंग के बारे में भी जानकारी हैं लेकिन अब तक वे किसी भी कार को जब्त नहीं कर पाए हैं.

ग्रुप राइडिंग या बाइक रेसिंग?

हालांकि हम निश्चित रूप से टिप्पणी नहीं कर सकते हैं कि पुलिस ने इन बाइक्स को रेसिंग या तेज चलाने के लिए पकड़ा, पर भारत में ऐसे कई उदाहरण हुए हैं जहां पुलिस ने सड़क पर हाई परफॉर्मन्स वाली बाइक्स को रोका है. पुलिस रेसिंग और ग्रुप बाइक राइडिंग को एक ही समझती है और आरोप लगाती है कि राइडिंग जैकेट की तरह सुरक्षा किट पहने जाने का मतलब है कि राइडर तेज़ स्पीड रन और स्टंटिंग करेंगे. भारत में बाइकिंग की जागरूकता अभी भी सीमित है, इसलिए देश भर के हाईवेज़ पर बाइकर्स को इतनी आश्चर्यजनक जांचें सहनी पड़ती हैं.