अब पटाखा साइलेंसर पर RC ज़ब्त करने की तैयारी!

Kerala RTO मॉडिफाइड एग्जॉस्ट वाली मोटरसाइकिल्स के खिलाफ एक बेहद कड़ी मुहीम चलाने जा रही है. इस बार उल्लंघनकर्ता सिर्फ जुर्माने या एग्जॉस्ट जब्ती के बाद नहीं छोड़े जायेंगे. बल्कि RTO का प्लान है की मॉडिफाइड एग्जॉस्ट वाले मोटरसाइकिल्स की RC या Registration Certificate (पंजीकरण पत्र) रद्द कर दिया जाएगा ताकि ऐसे लोगों तक एक कड़ा संदेश पहुंचे.

इसका मतलब ये है की ऐसी मोटरसाइकिल्स जिनका RC रद्द कर दिया जाएगा वो रोड पर नहीं चल पाएंगी. इससे गाड़ी का बीमा भी समाप्त हो जाएगा जिससे ये मोटरसाइकिल्स सार्वजनिक रोड पर चलने को अयोग्य हो जाएँगी. एक बार जब मॉडिफाइड एग्जॉस्ट हटा दिए जायेंगे तब RC रीस्टोर कर दी जाएगी.
डिप्टी ट्रांसपोर्ट कमिश्नर M P Ajithkumar ने कहा,

Ernakulam में 1,000 से ज्यादा बाइक्स मॉडिफाइड साइलेंर्सस के साथ घूम रही हैं. हम इस साल ध्वनि प्रदूषण कम करने का लक्ष्य के साथ काम कर रही MVD के ख़ास मुहीम के तहत उनपर केवल जुर्माना कर रहे थे लेकिन Motor Vehicles Act के धारा 53 के तहत अब हम उनकी RC भी रद्द करेंगे. इस अवधी के दौरान ओनर को वो गाड़ी चलाने की अनुमति नहीं होगी. कई ऐसे मामले आये हैं जहां ओनर से बिना फाइन लिए हुए उनका साइलेंसर बदलवाया गया है. 2015 में ऐसे मामले थे जहां बाइक शॉप्स ये मॉडिफिकेशन का काम कर रही थीं, लेकिन अब Ernakulam में ये बंद हो गया है. लेकिन अभी भी ये साइलेंसर Alappuzha और Kollam जैसी जगहों में उपलब्ध हैं. ये साइलेंसर्स बेच रहीं कोई भी कंपनी Motor Vehicles Act के तहत किसी भी नोडल एजेंसी से अधिकृत नहीं है.

जहां Kerala के कई हिस्सों में ढेर सारे डीलर्स अभी भी आफ्टरमार्केट एग्जॉस्ट स्टॉक कर रहे हैं, ये ऑन-रोड इस्तेमाल के लिए नहीं हैं. इन एग्जॉस्ट के डीलर्स या निर्माता पर RTO कार्यवाही नहीं कर सकता क्योंकि वो साफ़तौर पर कहते हैं की इन एग्जॉस्ट को ऑफ-रोड या प्रतियोगिता में इस्तेमाल करने के लिए बनाया गया है. इसलिए अब ये मोटरसाइकिल इस्तेमाल करने वालों की ये सुनिश्चित करने की ज़िम्मेदारी है की उनकी बाइक्स क़ानून का पालन करें.

वाया — ETAuto