बाढ़ में फंसे लोगों को बचाने के लिए केरल पुलिस अपने Mahindra Bolero के साथ नदी में उतरी

हम में से कई लोग पुलिसवालों को अपना काम सही ढंग से ना करने तथा अपने से पहले लोगों की सहायता ना करने पर उनकी आलोचना करते हैं. पर आजकल सोशल मीडिया पर काफी चर्चित इस वीडियो को देखकर आपका नज़रिया बदल जाएगा. इस वीडियो में केरल पुलिस की Mahindra Bolero तेज़ बहती नदी में फंसे लोगों को बचाते दिखाई देती है.

ख़बरों के मुताबिक, Purapuzha में पुलिस की एक टीम बाढ़ में फंसे एक परिवार को बचा रही है. कहा जा रहा है कि इस परिवार को एक शादी में पहुँचने के लिए इस डूबे हुए पुल को पार करना पड़ा था. पर इस गाँव को शहर से जोड़ने वाला ये पुल पूरी तरह पानी में डूबा हुआ था. हालात को और ख़राब करने के लिए नदी का तेज़ बहाव इस पुल पर ड्राइविंग और मुश्किल बना रहा था. इसके बावजूद पुलिस ने इस ख़तरे की परवाह ना करते हुए सफलतापूर्वक इस पुल पर फंसे परिवार को बचाया.

इस वीडियो में सरकारी Mahindra Bolero को डूबे हुए पुल को पार करते देखा जा सकता है. जहाँ एक ओर हम किसी को ऐसा करने की सलाह नहीं देंगे वहीं दूसरी ओर पुलिस को ऐसा करते देखना वाकई अद्भुत है. बेशक ये Bolero के ऊँचे ग्राउंड क्लीयरेंस और पॉवरफुल इंजन की बदौलत संभव हो पाया है. Bolero के भारी वज़न और अन्दर बैठे सवारियों के वज़न की वजह से ये SUV इस तेज़ बहाव को सफलतापूर्वक पार कर पाई है.

Mahindra Bolero में 2,523 सीसी, 4-सिलिंडर, टर्बोचार्ज्ड डीजल इंजन है जो 63 एचपी और 180 एनएम उत्पन्न करता है. इसमें 5-स्पीड मैन्युअल ट्रांसमिशन है. इस फौलादी वाहन का ग्राउंड क्लीयरेंस 180 एमएम है. यह उल्लेखनीय है कि पुलिस और अन्य सरकारी विभागों को Mahindra Bolero का 4×4 संस्करण दिया जाता है. ऐसी परिस्तिथियों में 4×4 सिस्टम बहुत काम आता है क्योंकि यहाँ वाहन के हर चक्के को पूरा ट्रैक्शन और पॉवर चाहिए होता है. ऐसे में लो-एन्ड टार्क के लिए 4-लो गियर का इस्तेमाल करना चाहिए. अपनी विशेषताओं के बलबूते Bolero के इस पुल को पार कर पाने के बावजूद हम इन वीर पुलिसकर्मियों को सलाम करते हैं जिन्होंने अपनी जान जोखिम में डालकर फंसे हुए नागरिकों को बचाया.

जैसा की इस वीडियो को देख कर आप अनुमान लगा सकते हैं कि इस बचाव कार्य में कुछ भी ग़लत हो सकता था. नदी का तेज़ बहाव Bolero को पुल से नदी में ढकेल सकता था. इसके अलावा पानी का बहाव और बढ़ जाने से Bolero खुद पुल के बीच फंस सकती थी जिससे ये स्थिति और बिगड़ सकती थी. सौभाग्य से ऐसा कुछ हुआ नहीं हुआ और पुलिसकर्मी फंसे हुए लोगों को बचाने में कामयाब हो सके.

वीडियो सोर्स – കോതമംഗലംവാർത്ത on Facebook

×

Subscibe our Newsletter