Advertisement

केरल विधायक P C George ने की टोल पर, पूरा वाक्या हुआ CCTV में कैद!

Kerala के विधानसभा के सदस्य (विधायक) P C George अपने मुंहफट व्यवहार के लिए जाने जाते हैं. मंगलवार की रात को, विधायक ने Thrissur के पास एक टोल टैक्स प्लाजा पर बवाल कर दिया. CCTV कैमरे ने पूरी घटना रिकॉर्ड कर ली गई.

यहाँ क्या हो रहा है?

सीसीटीवी फुटेज में 11:30 बजे टोल प्लाजा पर वाहन को देखा गया. फुटेज से पता चलता है कि विधायक अपने सफेद Audi A4 से उतरे और टोल बैरियर को हटाने की कोशिश करते हैं. उन्होंने अपने सहयोगियों के साथ मिलकर टोल बैरियर को हटाया. टोल बूथ कर्मचारी अपने केबिन से बाहर आता है लेकिन विधायक को कुछ भी नहीं कह पता. P C George बाद में वापिस अपनी कार में बैठकर चले जाते हैं.

यह घटना तब हुई जब टोल अधिकारियों ने विधायक से टोल टैक्स का भुगतान करने की गुज़ारिश की. हालांकि, विधायक टोल चुकाने के लिए अनिच्छुक थे और टोल बूथ अधिकारियों से गाली-गलौज करने लगे. झड़प के बाद, विधायक वाहन से उतरे और ऑटोमैटिक बूम बैरियर को एक तरफ धकेल दिया. CCTV फुटेज हालांकि इसके पहले की घटना को नहीं दिखाता है. बूथ अधिकारियों द्वारा टोल का भुगतान करने के बार-बार अनुरोध के बाद विधायक गुस्सा हो गए.

ऐसी कई घटनाएं हुई हैं जब सत्ता में लोग या राजनेताओं से जुड़े लोगों ने टोल टैक्स का भुगतान करने से इंकार कर दिया है. कई घटनाओं में तो शूटआउट और हाता-पाई भी देखी गई हैं. हालांकि, यहाँ ऐसा कुछ भी नहीं हुआ और विधायक लेन खोलते ही वहां से चले गए.

हाईवेज़ पर टोल टैक्स बाधाएं के कारण भारी जाम लग जाता है और यात्रा के समय में काफी वृद्धि हो जाती है. जबकि सभी आम जनता को टोल टैक्स का भुगतान करना पड़ता है, कुछ लोगों को ये टैक्स चुकाने से छूट दी जाती है. ऐसे लोगों में भारत के राष्ट्रपति, भारत के प्रधानमंत्री, भारत के मुख्य न्यायाधीश और वरिष्ठ आधिकारिक पदों पर कुछ लोगों को बिना किसी रुकावट के टोल को पार करने की अनुमति है.

ठेकेदारों द्वारा हाईवेज़ की सड़क की स्थिति को मेन्टेन रखने जैसे विभिन्न कार्यों को करने के लिए टोल टैक्स एकत्र किया जाता है जिससे रास्ते में शौचालय जैसे सुविधाएं प्रदान करते हैं और आपातकालीन सेवाएं प्रदान करते हैं. दिलचस्प बात यह है कि हाल ही में Nitin Gadkari ने कहा कि टोल टैक्स भारतीय सड़कों से कभी नहीं हटेंगे. हालांकि, सरकार ने भारत में बेची गई सभी नई कारों के लिए फास्ट टैग अनिवार्य कर दिया है. इससे टोल पर प्रतीक्षा का समय घटता है.

सोर्स