अब इंडिया के हर कार में होगा ऑटोमैटिक ब्रेकिंग और एडवांस्ड सुरक्षा फ़ीचर्स, सरकार बनाएगी नियम

केंद्रीय परिवहन मंत्री Nitin Gadkari के मुताबिक़ इंडिया में बेचीं जाने वाली सभी कार्स पर जल्द ही हाई-एंड सेफ्टी टेक्नोलॉजी स्टैण्डर्ड बन जायेगी. वार्षिक SIAM कांफ्रेंस में बोलते हुए परिवहन मंत्री ने कहा की एडाप्टिव क्रूज़ कण्ट्रोल, लेन कीपिंग असिस्टेंस, और ऑटोमैटिक ब्रेकिंग जैसे स्टैण्डर्ड सेफ्टी फ़ीचर्स, जो फिलहाल Volvo और Mercedes Benz जैसी कार्स में ही मिलती हैं, जल्द ही सभी कार्स में स्टैण्डर्ड बन जायेंगी.

Cars With Adas New

पेश है उनका बयान,

2022 तक हम एक ऐसे अधिदेश पर काम करेंगे जो सभी कार्स में Advanced Driver Assist Systems (ADAS) लाएगा.

राडार पर आधारित सेफ्टी सिस्टम जैसे एडाप्टिव क्रूज कण्ट्रोल, लेन कीपिंग असिस्टेंस, और ऑटोमैटिक ब्रेकिंग अब यूरोप में बेचे जाने वाले मास-मार्केट कार्स में मिलते हैं. Advanced Driver Assist Systems (ADAS) के तहत आने वाले सेफ्टी सिस्टम्स आमतौर पर मिलने वाले एयरबैग्स और सीटबेल्ट्स जैसे सेफ्टी फ़ीचर्स से एक कदम आगे जाकर टक्कर को होने से ही रोकते हैं.

उदाहरण के लिए, एडाप्टिव क्रूज़ कण्ट्रोल आगे की कार के स्पीड के मॉनिटर करता है और कार के सप्पेद को ऑटोमैटिक रूप से एडजस्ट कर देता है. लेन कीपिंग असिस्टेंस इस बात को सुनिश्चित करता है की कार ऑटोमैटिक रूप से स्टीयरिंग कण्ट्रोल कर एक ही लेन में बने रहे. ऑटोमैटिक ब्रेकिंग जब इस बात को डिटेक्ट करती है की कार बेहद तेज़ जा रही है, या सामने वाली कार के बेहद करीब है तो वो अपने आप ब्रेक लगा देता है.

दूसरे शब्दों में ADAS कार्स को काफी हद तक सेल्फ ड्राइविंग के करीब लाता है और ये ऑटोमोटिव इंडस्ट्री में अगला बड़ा कदम है. जहां इंडिया अभी भी सेल्फ ड्राइव कार्स से कई साल दूर है, ADAS तकनीक का स्टैण्डर्ड होने का मतलब होगा की धीरे ही सही ड्राइविंग सेफ्टी सही दिशा में बढ़ेगी. इन फ़ीचर्स के जुड़ने से मास मार्केट कार्स और महंगी बन जायेंगी. अब ये देखना है की ऑटो निर्माता और कस्टमर इस संभावित सरकारी आदेश पर क्या प्रतिक्रिया करते हैं.

2019 से इंडिया में बेचीं जाने वाली कार्स में ट्विन एयरबैग्स, ABS, रिवर्स पार्किंग सेंसर्स, सीट बेल्ट वार्निंग सिस्टम, और स्पीड वार्निंग सिस्टम स्टैण्डर्ड होंगे. ऐसे इसलिए होगा क्योंकि अगले साल से Bharat New Vehicle Safety Assessment Program (BNVSAP) नाम के नए सुरक्षा नियम लागू हो जायेंगे, इसके तहत सभी कार्स को नए क्रेश टेस्ट नियम का पालन करना होगा जो. जो कार्स BNVSAP नियम का पालन नहीं करेंगे तो वो इंडिया में नहीं बिकेंगी.

वाया TOI