आखिकार भारत-निर्मित Tork T6X इलेक्ट्रिक मोटरसाइकिल टेस्टिंग के दौरान आई नजर

ऑटोमोबाइल्स का भविष्य इलेक्ट्रिक वाहनों की ओर बढ़ रहा है. इसलिए वर्तमान ऑटो निर्माताओं के साथ ही स्टार्ट-अप कंपनियां भी इस सेगमेंट में प्रवेश करने की कोशिश कर रही हैं. भारत की एक ऐसी स्टार्ट-अप कंपनी Tork Motorcycles देश में पहली “भारत निर्मित” सार्वजानिक इलेक्ट्रिक मोटरसाइकिल पर काम कर रही है और हाल ही में इस बाइक को सड़कों पर परीक्षण के दौरान देखा गया.

Tork 1

Tork Motorcycles ने पहली बार 2017 में अपने उत्पादों की घोषणा थी लेकिन बाइक की प्रगति के बारे में कोई पर्याप्त अपडेट जारी नहीं किया था. इस बाइक के बारे में अभी कोई स्पष्ट जानकारी नहीं है लेकिन हम यहाँ पेश ख़ुफ़िया तस्वीरों में इसकी पहली झलक अब देख सकते हैं. इस नई इलेक्ट्रिक बाइक — जिसे T6X नाम दिया गया है — को ट्रेलिस फ्रेम दिया है और इसे  पुणे-स्थित इस कंपनी की फैक्ट्री में विकसित किया गया है.

इस मोटरसाइकिल को इस हिसाब से डिज़ाइन किया गया है कि इसका गुरुत्वाकर्षण केंद्र नीचे रहे. इस बाइक में एक सब-फ़्रेम दिया गया है जो चालक की सीट के नीचे बाइक के मुख्य चेसिस से जुड़ा हुआ है और इलेक्ट्रिक मोटर को ठीक उसके नीचे रखा गया है. गुरुत्वाकर्षण का निम्न-केंद्र बाइक में एक अच्छे संतुलन को सुनिश्चित करता है जो इसे एक मजेदार टू-राइड दो-पहिया वाहन बनता है.

Tork 3

बाइक के फ्रंट में टेलिस्कोपिक फॉर्क्स और रियर में मोनोशॉक प्रदान किए गये हैं. यह Tork बाइक एक 6 किलोवाट इलेक्ट्रिक मोटर का उपयोग करेगी लेकिन हम अभी यह निश्चित तौर पर नहीं कह सकते कि इस परीक्षण संस्करण में किस इलेक्ट्रिक मोटर का उपयोग किया गया है. इसके फ्रंट और रियर दोनों पहियों पर डिस्क ब्रेक प्रदान किया गया है. नए सुरक्षा नियमों के अनुसार 11 किलोवाट मोटर वाली बाइक में कॉम्बी-ब्रेकिंग सिस्टम (CBS) अनिवार्य है. इसलिए Tork T6X में एक CBS ब्रेकिंग सिस्टम मिलेगा जो राइडर को कुशलता से ब्रेक का उपयोग करने की सुविधा देगा. CBS से लैस दो-पहिया वाहन में जब केवल रियर ब्रेक लगाया जाये तो आगे और पीछे दोनों ब्रेक एक साथ काम करने लगते हैं जिससे दु-पहिया वाहन समय से रुक जाता है. Tork ने पहले खुलासा किया था कि इंजन अधिकतम 27 एनएम टॉर्क विकसित करता है जो लगभग 100 किलोमीटर प्रति घंटा की गति से बाइक को आसानी से दौड़ने की इजाज़त देगा. इस मोटरसाइकिल की बैटरी को केवल एक घंटे में 80 प्रतिशत तक चार्ज किया जा सकता है. Tork ने यह भी बताया कि बैटरी वाटर-प्रूफ होगी. हालाँकि इसकी पुष्टि ख़ुफ़िया तस्वीरों से नहीं की जा सकती है.

Tork 2

Rushlane के एक साक्षात्कार के अनुसार Tork अभी इस बाइक का निर्माण पूरा नहीं कर सकी है और इसे तैयार होने में अभी कुछ और समय लगेगा. बाइक को कथित तौर पर एक ऐसी बैटरी मिलेगी जो इसके जीवनकाल तक चलेगी और उसे कभी भी बदलने की आवश्यकता नहीं होगी. इस बाइक के 1.5 लाख रुपये में उपलब्ध होने की उम्मीद है.

Spy Image source